National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

सीआईए डीएलएफ ने दोहरे हत्याकांड के आरोपी दबोचे

फरीदाबाद। करीब दस दिन पूर्व रॉयल हिल सोसायटी में हुए दोहरे हत्याकांड का सीआईए डीएलएफ पुलिस ने खुलासा करते हुए इस हत्याकांड में शामिल दोनों आरोपियों को दबोच लिया। गौरतलब है कि 30 अक्तूबर, 2017 की रात को रॉयल हिल सोसाईट सैक्टर-86 फरीदाबाद में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा दो व्यक्तियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। थाना भूपानी पुलिस ने हत्या का मामला अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज कर लिया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस कमिश्रर डा. हनीफ कुरैशी ने एसीपी राजेश चेची को मामले की जांच दी और सीआईए डीएलएफ पुलिस के निरीक्षक अशोक कुमार एक नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन करके दोनों आरोपियों मनीष चौधरी व सागर को बल्लभगढ़ स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। हत्यारोपी मनीष चौधरी व सागर ने सोची समझी साजिश के तहत मृतक प्रेम व नरेन्द्र उर्फ कल्लू दोनो की हत्या की थी। शक है कि इस  डबल मर्डर मिस्ट्री का मास्टर माईंड कोई और हो सकता है। क्योकि उस मास्टर मांईड ने सोची समझी साजिश के तहत आरोपी मनीश व सागर को एक महीने पहले मृतक प्रेम व नरेन्द्र उर्फ कल्लू की हत्या करने के लिए पैसों का लालच देकर उन दोनो आरोपीयों मनीष व सागर को मृतकों के पास बतौर गनमैंन लगा दिया था ताकि वह प्रेम व कल्लु की आसानी से हत्या कर सके। इस काम के लिए उनको यू.पी. से हथियार और 40 गोलियां भी दी गई। जिनमें से उन्होने अपने खेतों में अभ्यास के दौरान 20 गोली चलाई ताकि वह मृतक प्रेम व नरेन्द्र उर्फ कल्लू को आसानी से सूट कर सकें। करीब एक माह पहले से ही आरोपी सुरक्षाकर्मी बनकर मृतकों के पास नौकरी करने लगे और उनकी सारी गतिविधियों को जान लिया। 30 अक्तूबर को दोनो आरोपियों ने मृतकों के साथ शराब पी और मौका पाकर दोनों की कमरे के अन्दर ही गोली मारकर हत्या कर दरवाजे का ताला लगाकर फरार हो गये थे। दोनों आरोपियों ने बताया कि हमने योजना के तहत इन दोनों की हत्या कर दरवाजे का ताला लगा दिया था ताकि 5/6 दिन बाद जब बदबू आने लगेगी तो कोई दरवाजा खोलकर देखेगा और तब तक हम मास्टर माईंड से पैसे लेकर यहा से चले जायेेंगे। लेकिन इस घटना का उसी दिन पता लग गया और हम इधर-उधर पुलिस से छिपते रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar