न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

सीआईए पुलिस ने दबोचा अंतर्राष्ट्रीय चोर गिरोह, कई मामलों का किया खुलासा

फरीदाबाद। बल्लभगढ़ के अंबेडकर चौक स्थित अनुव्रत कम्युनिकेशन शोरूम से ताला तोडक़र लाखों मोबाइल चुराने वाली घटना के चार आरोपियों को सीआईए सेक्टर-65 एवं सेक्टर-30 ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस के अनुसार यह सभी आरोपी अंतर्राष्ट्रीय स्तर के चोर है और इन्हें गांव घोडासन जिला मोतिहार बिहार में नेपाल बॉर्डर से पकडऩे में कामयाबी हासिल की है और उसके पकड़े जाने से कई चोरी की वारदातों का खुलासा होना संभव है। गौरतलब है कि पिछले दिनों बल्लभगढड़ के अंबेडकर चौक स्थित अनुव्रत कम्युनिकेशन का ताला तोडकर चोर करीब 25 लाख रुपए के मोबाइल चुराकर ले गए। इस घटना को लेकर शहर के दुकानदारों में खासा रोष था। पुलिस कमिश्रर डा. हनीफ कुरैशी ने इस मामले को सुलझाने की जिम्मेदारी सेक्टर-65 व सेक्टर-30 को दी और उन्होंने संयुक्त रुप से इस आप्रेशन को अंजाम देते हुए आरोपियों को दबोचा। पकड़े गए आरोपियों की पहचान सुनील कुमार पुत्र शिव शंकर निवासी गांव घोडासन जिला मोतिहार बिहार, भुनेश कुमार पुत्र दरोगा प्रशाद निवासी गॉव घोडासन जिला मोतिहारी बिहार, धीरज पुत्र रामअयोध्या निवासी गॉव घोडासन जिला मोतिहारी बिहार व रमेश कुमार पुत्र रामबाबू निवासी गॉव घोडासन जिला मोतिहारी बिहार के रुप में हुई है।

नेपाल के बॉर्डर से पकड़े गए आरोपी, बल्लभगढ़ के शोरूम की चोरी की वारदात सुलझी

पुलिस ने बताया कि  घोडासहन गांव जिला मोतिहारी बिहार नेपाल बॉर्डर के पास का एक गांव है यहां पर मोबाइल की दुकानों में चोरी करने वाले कई गैंग सक्रिय है जो ट्रैन व बस से देश के विभिन्न हिस्सों में जाकर दिन में रैकी करने के बाद रात में 3/4 बजे के आसपास शटर के सामने चद्दर लगा कर शटर को बीच में उठाकर एक आदमी उसके निचे से दूकान के अन्दर घुस जाता है और महंगे मोबाइलों को डिब्बों से निकाल कर बैगो में भरकर ले जाते है। ये लोग लम्बे शटर वाली दुकानों को ज्यादातर निशाना बनाते है जिसके शटर को बिच में से उठाकर दुकान में आसानी से घुसा जा सके। इन लोगो के सम्पर्क व रिश्तेदारी नेपाल में है। जहां पर ये लोग सभी मोबाइल ले जाकर बेच देते है जिस कारण मोबाइल फोनों को ट्रेस करना मुमकिन नहीं हो पाता है इस गैंग में करीब 6/7 लोग है जो इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते है। पकडे गए गैंग के सदस्यों ने वारदात से करीब तीन दिन पहले ही बिहार से आकर गाजियाबाद में किराये पर कमरा लिया था। वारदात से दो दिन पहले दिन के समय आकर दुकान की रेकी की थी। अरोपियों का 7 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है। इस दौरान इंटरपोल व नेपाल पुलिस की मदद लेकर चोरीशुद्वा मोबाईल फोनों को बरामद किया जायेगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar