National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

सोनी सब ने लाॅन्च की नई आॅफिस काॅमेडी, ‘आदत से मजबूर’ सोनी सब ने लाॅन्च की नई आॅफिस काॅमेडी, ‘आदत से मजबूर’ 

पांच फ्रेनीमिज पहुंचे काम पर, ये कहानी है आॅफिस यारी, मारा मारी की !

मुंबई: जब एक-दूसरे से बिलकुल अलग व्यक्तित्व वाले पांच लोग एक ही छत के नीचे काम करते हैं तो ऐसे में गड़बड़ी और मजाकिया स्थिति तो बनना तय है। जिस तरह पांच फ्रेनीमीज सन्नी, जगदीश उर्फ जेडी, रंजन, रिया और सैम के आॅफिस लाइफ में होता है। ये सभी एक पब्लिशिंग हाउस में एक साथ काम करते हैं। मुंबई की पृष्ठभूमि पर बने शो ‘आदत से मजबूर’ में दोस्ती, यारी, प्यार, खुशी के साथ है ढेर सारी काॅमेडी। यह शो मंगलवार, 3 अक्टूबर, 2017, शाम 7.30 बजे केवल सोनी सब पर प्रसारित होगा।
नये लोगों का यह ग्रुप अपनी पहली नौकरी के लिये पब्लिशिंग हाउस आता है, जो ‘सिटी चक्कर’ मैगजीन को सफल बनाने के लिये जी-तोड़ मेहनत करते हैं। ऐसा करने के दौरान आगे चलकर उन किरदारों के बीच कड़ा मुकाबला होता है, जिससे उनके रोजमर्रा की जिंदगियों में बड़ी ही मजाकिया स्थितियां बनती हैं।
मुंबई की पृष्ठभूमि पर बने इस शो में फ्रेनीमीज सन्नी, जेडी, रंजन, रिया और सैम की जिंदगी की कहानी है। सन्नी (अनुज पंडित) का एकमात्र लक्ष्य एक सुंदर-सी कन्या से शादी करना है, जो उसके परिवार के सामने खुलकर अपनी बात रख सके। वापी, गुजरात के रहने वाले जिग्नेश (ऋषभी चड्डा) के दिमाग में हमेशा पैसों का फितूर सवार रहता है और हर काम में वो अपना फायदा देखता है। रंजन (हरेश राउत) लातूर, महाराष्ट्र से है और वो गरीब परिवार से ताल्लुक रखता है और उसका परिवार संस्कारों को मानने वाला है। होशियार होने के साथ-साथ, वो काफी मेहनती और पढ़ाकू भी है। ये तीनों लड़के एड-सेल्स टीम में काम करते हैं और हमेशा ही आपस में भिड़ते रहते हैं। 
रिया (सना मकबूल खान) मैगजीन में फीचर राइटर है और अपने बचपन के दिनों में विदेश में रही है और खुद को साबित करने के लिये भारत लौटी है। वो अपनी मेहनत और आत्मविश्वास से अपनी पहचान बनाना चाहती है। हालांकि, उसकी एक सच्चाई है, जिसे वो अपने साथियों के सामने बताना नहीं चाहती है, कि वो जिस मैगजीन में काम कर रहे हैं उसके मालिक उसके पिता हैं। वहीं दूसरी तरफ समीक्षा उर्फ सैम (वंशिका शर्मा) फोटोजर्नलिस्ट है। सैम हरियाणा की रहने वाली है और वो विद्रोही किस्म की है और पूरी तरह फेमिनिस्ट। उसके अपने अलग विचार हैं और अपने विभाग में हमेशा ही पुरुषों से उसका विवाद होता रहता है। वो खुद ज्यादा जिम्मेदारियां उठाती है, इसलिये उसे लड़कों पर अपनी रौब झाड़ने का मौका मिल जाता है। 
सारे प्रोफेशनल झगड़ों के बावजूद, निजी जिंदगी में पांचों बहुत अच्छे दोस्त हैं और सुख-दुख में एक-दूसरे का साथ देते हैं। इस मुख्य टीम के अलावा, इसमें बाॅस (अनंत महादेवन), मेनका (प्रगति मेहरा), मि. पटेल(शेखर शुक्ला) और दो क्लर्क भी हैं। ये सभी संस्थान के साथ काफी समय से जुड़े हुए हैं। इस शो में कई नामचीन काॅमेडियन और कलाकार भी कैमियो भूमिका में शामिल होंगे, इसलिये हंसी होगी और भी ज्यादा। 

प्रतिक्रियायें: 
श्री नीरज व्यास, सोनी चैनल और मैक्स क्लस्टर आॅफ चैनल्स के सीनियर ईवीएपी और हेड, ‘‘सोनी सब के ताजातरीन अवतार और ब्रांड के प्रमोशन की नई पेशकश ‘हंसते रहो इंडिया’ के साथ हम अपने दर्शकों को पहले से अधिकं ताजगीभरे और नये काॅमेडी कंटेंट देने के लिये उत्साहित हैं। लोग अपना काफी समय अपने दफ्तरों में बिताते हैं और वहां काफी मजाक-मस्ती चलती रहती है। ऐसी स्थितियां वाकई बहुत मनोरंजक और काॅमेडी से भरपूर होती हैं। ‘आदत से मजबूर’ के साथ हम अपनी कहानी और ह्नयूमर को आॅफिस के सेट-अप में ले जा रहे हैं। इस शो में पांच युवा प्रोफेशनल्स की जिंदगी को दिखाया जायेगा। जिनकी जिंदगी में है ढेर सारा ड्रामा और मुकाबला। हमें उम्मीद है, इस शो के जरिये हम कहानी में जो ताजगी ला रहे हैं दर्शकों को पसंद आयेगी।’’

श्री पंकज सुधीर मिश्रा, क्रिएटिव प्रोड्यूसर, टीम प्रोडक्शन ‘‘

आदत से मजबूर’, हमारे दिल के काफी है, क्योंकि हम तीनों धरमपाल ठाकुर (निर्देशक), भरत कुकरेती (लीड राइटर) और मैं पहली बार एक साथ इस तरह की कोई चीज तैयार कर रहे हैं। इस शो में काॅमेडी और मस्ती के सही तालमेल के साथ कहानी तैयार की गई, जो आॅफिस में अपनी पहली नौकरी करने आये पांच युवाओं के बीच पकती है। हम इस शो में दर्शकों के लिये नई ताजगी और हास्य लेकर आये हैं। मुझे उम्मीद है दर्शकों को ये पसंद आयेगा।’’

देखिये, ‘आदत से मजबूर’, 3 अक्टूबर से, सोमवार-शुक्रवार, शाम 7.30 बजे केवल सोनी सब पर!

कलाकारों का परिचय:

  • जेडी : ऋषभ चड्ढा
  • सन्नी- : अनुज पंडित
  • रंजन : हरेश राउत
  • रिया : सना मकबूल खान
  • सैम : वंशिका शर्मा
  • बाॅस : अनंत महादेवन
  • मेनका : प्रगति मेहरामि.
  • पटेल : शेखर शुक्ला
  • सीनियर अधिकारी : बनवारी लाल और नरोत्तम दास
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar