National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

स्कूल में योग करते हुए 9 साल की लड़की की मौत, मां से कहा था नहीं करना योग

रोहतक। रोहतक के आईबी स्कूल में बुधवार को योग करते हुए नौ साल की एक लड़की की मौत हो गई। इस हादसे के दो दिन पहले ही उसने अपनी मां से कहा था कि उसे योग नहीं करना है और यह बात वह उसके टीचर को भी बता दे।

बुधवार को सुबह स्कूल में जब वह योग कर रही थी, तो बेहोश होकर गिर गई। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। उसी स्कूल में जूनियर क्लास में पढ़ने वाली लड़की की चचेरी बहन ने यह जानकारी स्कूल के शिक्षक को दी। उसे मेडिकल रूम में ले जाया गया, जहां उसकी हालत बदतर हो गई।

लभ्या को सिविल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। पीजीआई अस्पताल में उसका पोस्टमार्टम किया गया था। उसकी बहन का जन्म सिर्फ 9 दिन पहले हुआ था। लभ्या की मां कविता चोपड़ा ने कहा कि सुबह 6:45 बजे स्कूल जाने के लिए उन्होंने बेटी को जगाया। वह खुद ही तैयार हो गई और चाय के साथ दो पराठे खाकर निकली थी।

सुबह 7:45 बजे मैंने उसे स्कूल बस में बिठा दिया था और दो घंटे बाद स्कूल से फोन से फोन आया कि लभ्या की हालत ठीक नहीं है। मैंने अपने पति और भाई को बुलाया और सिविल अस्पताल में पहुंचे, जहां बताया गया कि लभ्या अब इस दुनिया में नहीं है।

सिविल सर्जन डॉ. दीपा ने बताया कि लड़की को जब अस्पताल में लाया गया, तो उसकी मौत हो चुकी थी। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट और पतंजलि योग समिति के जिला प्रमुख जगबीर आर्य ने बताया कि बच्चे स्कूल जाने से पहले नाश्ता करते हैं। खाने के बाद ही हल्के योगासन जैसे अनुलोम-विलोम और कंधे व हाथों के व्यायाम का अभ्यास करना चाहिए। खाने के बाद हलासन, सर्वगंजना, मत्स्यनान और मंडुकसन जैसे योगासनों से बचना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar