National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

स्वर्ण जयंती के अवसर पर बतुकम्मा उत्सव-2017 का हुआ समापन

फरीदाबाद। हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश में स्वर्ण जयन्ती समारोहों की कड़ी में एक भारत-श्रेष्ठ भारत आयोजन के अन्तर्गत इस बार चालू नवरात्रों के दौरान तेलंगाना राज्य की संस्कृति का हरियाणा के साथ समन्वय करके प्रदर्शित किए जा रहे बतुकम्मा उत्सव 2017 का चतुर्थ व समापन सांस्कृतिक कार्यक्रम जिला-फरीदाबाद में स्थानीय-सैक्टर-12 स्थित हुडा कन्वेंशन सैन्टर के सभागार में सातवें नवरात्रे के मौके पर गत सायं आयोजित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन हरियाणा के कला एवं सांस्कृतिक विभाग द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग से सम्पन्न हुआ। उपायुक्त समीरपाल सरो ने बतौर मुख्य अतिथि दीपशिखा प्रज्जवलित करके और विधिवत नारियल फोड़ कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति तेलंगाना राज्य के कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की 18 और हरियाणा के भी इसी विभाग की 10 महिला कलाकारों ने मिल कर बेहद खूबसूरत पारम्परिक व अनूठे अन्दाज में पेश की। कार्यक्रम की शुरूआत शुभ स्वागत हरियाणा वासी-शुभ स्वागत गीत व नृत्य से हुई। इसके बाद तेलंगाना की पारम्परिक वेशभूषा में सजी-धजी इन सभी महिला नृत्य कलाकारों ने एक भारत-श्रेष्ठ भारत, उत्तर में हरियाणा और दक्षिण में तेलंगाना-उत्तर दक्षिण भारत संगम बना हरियाणा तथा जय अम्मा-बतुकम्मा जैसे मनमोहक गीतों के बोलों पर तेलंगाना की नवरात्र सांस्कृतिक अराधना प्रथा को मंच पर आकर्षक अन्दाज में पेश किया। नगराधीश कु0 बलीना ने उपायुक्त एवं मुख्य अतिथि श्री सरो का स्वागत व्यक्त करते हुए दोनों प्रदेशों से आए कलाकारों का भी स्वागत एवं आभार प्रकट किया। तेलंगाना के टीम लीडर डा. कुमार स्वामी ने उपायुक्त एवं मुख्य अतिथि श्री सरो का स्वागत व्यक्त करते हुए बतुकम्मा संस्कृति के बारे में जानकारी दी। हरियाणा के कला एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की तरफ से चण्डीगढ़ से इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए आई सांस्कृतिक अधिकारी गीत एवं नृत्य डा. दीपिका व सुमन डांगी ने मुख्य अतिथि श्री सरो सहित जिला के कुल नौ वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को श्रीफल स्वरूप नवरात्र रूपी नारियल भेंट करके उनका स्वागत व आभार प्रकट किया।

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar