National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हनीप्रीत की बेल पिटीशन दिल्ली HC ने खारिज की, 32 दिन से है फरार

चंडीगढ़/ नई दिल्‍ली। डेरा प्रमुख राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका दिल्‍ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्‍ली हाईकोर्ट इस मामले की सुनवाई के लिए क्षेत्राधिकार से बाहर है।

अखपनी अग्रिम जमानत अर्जी में हनीप्रीत ने कहा है कि उसे हरियाणा और पंजाब के ड्रग माफिया से जान का खतरा है। इसी केे कारण वह अभी सामने नहीं आ सकती। हनीप्रीत ने याचिका में कहा है कि वह अकेली महिला है औ उसका अतीत साफ सुथरा है। उसका कानून-व्‍यवस्‍था में पूरा विश्‍वास है और उसका सदैव पालन करती रही है। वह जांच में शामिल होने को पूरी तरह तैयार है।

हनीप्रीत साेमवार को दिल्ली में अपने वकील से मिली थी। वकील के अनुसार, हनीप्रीत की आेर से दिल्ली हाइकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी दायर की गई है। इस पर आज सुनवाई होगी। हनीप्रीत के खिलाफ हरियाणा पुलिस ने देशद्रोह का मामला दर्ज किया हुआ है अौर उसकी तलाश कर रही है। पुलिस के लाख कोशिशों के बाद भी वह हाथ नहीं आ रही है।

हनीप्रीत के वकील प्रदीप आर्य ने दावा किया है कि वह दोपहर उनके दफ्तर आई थी। उसकी ओर से दिल्ली हाइकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की गई है। बता दें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम ने सोमवार को साध्वी यौन शोषण मामले में सीबीआइ की विशेष अदालत द्वारा सुनाई 20 साल कैद की सजा को हाइकोर्ट में चुनौती दी है। राम रहीम रोहतक की सुनरिया जेल में सजा काट रहा है। इसके बाद खबर आई की हनीप्रीत दिल्ली के लाजपतनगर में वकील प्रदीप आर्य के दफ्तर में साेमवार को दोपहर बाद आई। इससे सनसनी फैल गई और हरियाणा पुलिस में हड़कंप मच गया।

हनीप्रीत की पिटीशन में क्या?
– हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के दिल्ली हाईकोर्ट में पिटीशन लगाए जाने को गलत बताया।
– दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत के वकील से पूछा कि वे पंजाब-हरियाणा कोर्ट क्यों नहीं गईं?
– पिटीशन में हनीप्रीत ने कहा है कि हरियाणा में उसकी जान को खतरा है। वहां नशे के कारोबारियों से उसे धमकी मिल रही है।
– सुनवाई के दौरान हनीप्रीत के वकील ने यह भी कहा हनीप्रीत का घर दिल्ली में ही है। उसको गिरफ्तारी का खतरा है। अगर कोर्ट इजाजत दे तो वे उसे 2 घंटे में पेश कर सकते हैं।

क्या है ट्रांजिट इंटरिम बेल?
– ट्रांजिट इंटरिम बेल पिटीशन कुछ वक्त के लिए गिरफ्तारी से बचने के लिए किसी दूसरे जिले व राज्य की अदालत में लगाई जाती है।
– इस दौरान पिटीशन को संबंधित अदालत में परमानेंट बेल के लिए अलग से पिटीशन लगानी होती है।

25 अगस्त को फरार हो गई थी हनीप्रीत
– गुरमीत राम रहीम को रेप केस में दोषी करार दिए जाने के बाद हनीप्रीत बाबा के साथ पुलिस के हेलिकॉप्टर से रोहतक की सुनारियां जेल पहुंची थी।
– उसने बाबा के साथ अंदर जाने की जिद की थी, लेकिन पुलिस ने उसे वहां से बाहर भेज दिया था। इसके बाद से हनीप्रीत गायब है। अभी तक पुलिस उसे ढूंढ नहीं पाई है।
– वहीं डेरे की चेयरपर्सन विपासना इंसां का कहना है कि हनीप्रीत 25 अगस्त की रात को उसके साथ डेरा सच्चा सौदा सिरसा आई थी। इसके बाद अगले दिन वह वहां से निकल गई। इसके बाद उसका कोई अता-पता नहीं है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar