National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हनीप्रीत को पंचकूला कोर्ट ने 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा

पंचकूला। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की गोद ली बेटी व राजदार हनीप्रीत को पंचकूला की कोर्ट ने 10 दिनों यानी 23 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। हरियाणा पुलिस ने शुक्रवार को हनीप्रीत की रिमांड खत्म होने के बाद उसे एक बार फिर से कोर्ट के सामने पेश किया।

इससे पहले दिन में पुलिस ने हनीप्रीत को डेरे की चेयरपर्सन विपासना को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की थी। विपासना के पुलिस स्टेशन पहुंचते ही हनीप्रीत ने उसे देखा और फूट-फूटकर रोने लगी। हनीप्रीत पुलिस को लगातार गुमराह करती आ रही है और इसी के चलते विपासना को बुलाया गया था ताकि दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की जा सके। 3 अक्टूबर को हनीप्रीत और सुखदीप की गिरफ्तारी के बाद विपासना के साथ ये उनकी पहली मुलाकात है।

एसआईटी के सामने हनीप्रीत ने उगले राज –

इससे पहले एसआईटी पूछताछ के दौरान हनीप्रीत ने यह बात कबूली है कि डेरा प्रमुख राम रहीम इंसा पर फैसला आने से पहले जो बैठक की गई थी और उसमें पंचकूला हिंसा की साजिश रची गई थी उसका वह भी हिस्सा थी। गौरतलब है कि राम रहीम को पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत की तरफ से दोषी करा दिए जाने के हरियाणा के पंचकूला में सबसे ज्यादा हिंसा भड़की की और कई लोग घायल हुए थे।

हनी-विपासना पर एसआईटी के तीखे सवाल –

खबरों के मुताबिक, विपासना पंचकूला की सेक्टर 23 पुलिस स्टेशन में सुबह ग्यारह बजे पहुंची। एसआईटी ने हनीप्रीत और सुखदीप कौर की मौजूदगी में उससे पूछताछ शुरु की। ऐसा कहा जा रहा है कि पंचकूला में 25 अगस्त को भड़की हिंसा को लेकर पूछताछ के लिए एसआईटी की तरफ से 30 सवाल तैयार किए गए थे। इसके अलावा, अभियुक्त के बयान और पूरे राज्य में डेरा की तलाशी के दौरान इकट्ठी हुई जानकारी को आधार बनाकर भी एसआईटी की तरफ से कुछ सवाल तैयार किए गए थे। नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि आईजीपी ममता सिंह, पुलिस आयुक्त एएस चावला और अन्य एसआईटी अधिकारियों की मौजूदगी में तीन अन्य महिलाओं से भी पूछताछ की जाएगी।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar