न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

हनीप्रीत मोहाली से हुई गिरफ्तार, हरियाणा पुलिस जल्द कोर्ट में करेगी पेश

पंचकूला। 39 दिनों बाद डेरा प्रमुख गुरमीत की गोद ली बेटी हनीप्रीत उर्फ प्रियंका तनेजा को मंगलवार को पंजाब के जीरकपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। मंगलवार को उसकी गिरफ्तारी हरियाणा पुलिस ने पंजाब पुलिस के सहयोग से की। वह एक महिला के साथ कार में पटियाला की तरफ जा रही थी। पुलिस हनीप्रीत को बुधवार को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेगी। हनीप्रीत पर पंचकूला में 25 अगस्त को दंगे भड़काने की साजिश रचने एवं देशद्रोह का केस दर्ज है। वह पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में सरेंडर करना चाहती थी, लेकिन सरेंडर करने से पहले ही पुलिस को उसकी लोकेशन मिल गई और उसे दोपहर ढाई बजे गिरफ्तार कर लिया गया। उसने भागने की भी कोशिश की, लेकिन असफल रही। जिस कार में वह जा रही थी, वह पंजाब के एक पूर्व मंत्री के सिक्योरिटी काफिले में चलती है, हालांकि हरियाणा पुलिस ने इससे इन्कार किया है।

इंटरव्यू के बाद एक्टिव हुई पुलिस
दरअसल, हनीप्रीत ने जीरकपुर में कार में एक निजी चैनल को इंटरव्यू दिया और वहां से निकल गई। इंटरव्यू जब ऑन एयर हुआ तो पुलिस एक्टिव हुई। सूत्रों के अनुसार वह जीरकपुर से पंचकूला के लिए निकली थी, लेकिन उसके पंचकूला पहुंचने से पहले ही पुलिस ने जीरकपुर में पटियाला रोड पर उसे गिरफ्त कर लिया।
वहीं पंचकूला के पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि मंगलवार दोपहर पुलिस को जानकारी मिली कि हनीप्रीत चंडीगढ़ से पटियाला की ओर जा रही है, जिसके बाद एसीपी मुकेश मल्होत्रा टीम के साथ जीरकपुर पहुंच गए। पुलिस ने एक इनोवा कार का पीछा किया। पुलिस की गाड़ियां देख कार चला रही महिला ने स्पीड बढ़ा दी। घेरेबंदी कर महिला पुलिस अधिकारियों ने दोनों महिलाओं को हिरासत में ले लिया, जिनमें एक हनीप्रीत थी।

खुद को बताया बेकसूर
पुलिस से घिरी हनीप्रीत सड़क पर ही पुलिस से कहने लगी कि वह बेकसूर है। वह अपने पिताजी के साथ केवल मामले की सुनवाई में आदेश सुनने आई थी। पुलिस उसे हिरासत में लेकर पंचकूला आई। हनीप्रीत के साथ जो महिला थी, उसके बारे में फिलहाल पंचकूला पुलिस कुछ बताने को तैयार नहीं है।

हनीप्रीत के जरिये खुलेंगे कई राज
हनीप्रीत की गिरफ्तारी के बाद पुलिस उससे डेरे से जुड़े कई सवालों का जवाब तलाशने की कोशिश में जुट गई है। हनीप्रीत ने माना है कि वह 39 दिनों में चंडीगढ़ के अलावा दिल्ली, राजस्थान और आसपास के एरिया में भी रुकी थी। चंडीगढ़ में वह सोमवार को ही आई थी।

हनीप्रीत के मददगार भी होंगे गिरफ्तार
एएस चावला के अनुसार हनीप्रीत जहां पर भी रुकी और जिन लोगों ने उसकी मदद की, उन सभी की तलाश होगी तथा उन्हें भी जांच में शामिल किया जाएगा। ऐसे लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है।

पंजाब के एक पूर्व मंत्री का संरक्षण
सूत्र बताते हैं कि हनीप्रीत को पंजाब के एक पूर्व मंत्री ने संरक्षण दिया था। पूर्व मंत्री और हरियाणा के एक पुलिस अधिकारी के माध्यम से हनीप्रीत का एक निजी न्यूज चैनल में इंटरव्यू हुआ। इसके बाद हनीप्रीत चंडीगढ़ भी गई और वह फिर पटियाला की ओर इन्हीं मंत्री के पास जा रही थी।
वहीं यह भी चर्चा है कि पिछले एक सप्ताह से हनीप्रीत पंजाब के एक पूर्व विधायक हरबंस जलाल व जीरकपुर में डेरा समर्थकों के संपर्क में भी थी। वहीं हरबंस ने दैनिक जागरण को बताया कि उनका हनीप्रीत से कोई लेना-देना नहीं है। हां, सलाबतपुर डेरे में जो ईंटें लगी हैं, वह मेरे भट्ठे की हैं।
बता दें जलाल दो बार विधायक रह चुके हैं। उधर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि हनीप्रीत जीरकपुर में पूर्व विधायक के घर पर रह रही थी या नहीं, यह जांच का विषय है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar