National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हिन्दू महासभा के प्रत्याशी स्वामी ओम जी ने नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से नामांकन भरा

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली। हिन्दू महासभा और दारा सेना के संयुक्त प्रत्याशी ओर बिग बोस् के सुपर हीरों स्वामी ओम जी ने आज नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से जामनगर हाउस में अपना नामांकन पत्र भरा।
नामांकन पत्र भरते हुए पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए स्वामी ओम जी ने कहा कि सी आई ए के इशारे पर सर्वोच्च न्यायालय में भारत को अंग्रेजों का गुलाम बनाने में जुटे देशद्रोही अरविन्द केजरीवाल और उसके नक्सली ईसाई आतंकवादी गैंग को नंगा करने के लिये ही हिन्दू महासभा और दारा सेना सहित तमाम हिन्दू संगठनों ने उन्हें नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में उतारा है।

स्वामी ओम जी ने पत्रकारों को बताया कि जिस प्रकार से अरविन्द केजरीवाल के नक्सली ईसाई आतंकवादी गैंग के न्यूज पोर्टल दी वायर, करोल, कारवां और लीफलेट ने मुख्य न्यायाधीश को बिना साक्ष्य के निशाना बनाकर सर्वोच्च न्यायालय को बदनाम किया है। जिस प्रकार से इस मामले में अरविन्द केजरीवाल के देशद्रोही गैंग की न्यूज ऐजेन्सियों के बिकाउ पत्रकारों ने अन्ना आन्दोलन की तरह हिन्दुस्तान के हर अखबार की पहली खबर बनाकर बदनाम किया है, उससे साफ साबित होता है कि मुख्य न्यायाधीश का कहना सही है कि इस सब के पीछे बड़ी ताकतें है। न्यायपालिका की स्वतंत्रता गंभीर खतरे में है। वह अगले सप्ताह कुछ महत्वपूर्ण मामलों की सुनवाई करने वाले हैं इसलिए उनको निशाना बनाया गया है।

पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए दारा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुकेश जैन ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में देशद्रोही वकीलों जजों और रजिस्ट्रारों को एक बड़ा नक्सली ईसाई आतंकवादी गैंग सक्रिय है। जो जज या रजिस्ट्रार उसके अमरीकी डालरों की झलक में नहीं आते उन्हें हनी ट्रेप द्वारा फंसाकर बदनाम किया जाता ताकि वो जी एन साई बाबा, बिनायक सेन,नन्दिनी सुन्दर, तीस्ता शीतलवाड़ जैसे खूंखार नक्सली ईसाई आतंकवादियों कोे तत्काल रिहा कर दें। श्री मुकेश जैन ने खुलासा किया मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाने वाले सारे न्यूज पोर्टल के कर्ताधर्ता ईसाई होने के साथ साथ न केवल अमेरीकी नागरिक है बल्कि सी आई ए की फंडिंग से नक्सली ईसाई आतंकवादियों और देशद्रोहियों का साथ दे रहे हैं। दी वायर का सिद्धार्थ वरदराजन अमेरीकी ईसाई नागरिक है और इसकी औरत नन्दिनी सुन्दर छत्तीस गढ़ की कुख्यात नक्सली आतंकवादी है जिसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज है। न्यूज पोर्टल कारवां का मालिक परेश नाथ हिन्दू विरोधी ईसाई है और दिल्ली प्रेस का मालिक है। जिसे इस सबके लिये सी आई ए की फंडिंग मिलती है। न्यूज पोर्टल लीफलेट की मालकिन नक्सली वकील इन्दिरा जय सिंह को नक्सली ईसाई आतंकवादियों को जमानत दिलाने के लिये अमेरीकी फोर्ड फाउन्डेशन से करोड़ो डालर मिलते हैं। जिससे वह प्रशान्त भूषण , दुष्यन्त दवे , कामिनी जायसवाल ओर पूजाधर जैसे वकीलों के साथ मिलकर जजों को नक्सली ईसाई आतंकवादियों के पक्ष में मैनेज करती है। न्यूज पोर्टल करोल का मालिक नरेश फर्नांडिश भी ईसाई होने के साथ साथ इसी नक्सली ईसाई आतंकवादी अमेरीकी गैंग से जुड़ा है। स्वामी ओम जी ने बताया कि देशद्रोही अरविन्द केजरीवाल के इस गैंग को नंगा करने के लिये ही हम सब चुनाव मैदान में उतरे हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar