National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हिमाचल में कांग्रेस ने किया घोषणापत्र जारी, छात्रों को फ्री लैपटॉप का वादा

शिमला। हिमाचल प्रदेश के शिमला में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने आज विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया। घोषणापत्र में सरकारी कर्मचारियों सहित समाज के सभी वर्गों को ध्यान में रखकर लोक लुभावने वादों की झड़ी लगा दी है।
यह घोषणापत्र हिमाचल प्रभारी सुशील कुमार शिंदे और मुख्यमंत्री वीरभद्र ने जारी किया। श्री सिंह ने पत्रकाराें से कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने चुनाव से पहले ही हार मानकर पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है। हमारी सरकार ने राज्य में इतना विकास कार्य किये हैं कि भाजपा इसकी कभी सोच भी नहीं सकता। प्रदेशवासी कांग्रेस के काम से संतुष्ट हैं और फिर से प्रदेशवासियों ने इसी सरकार को फिर से लाने का मन बना लिया है।
पार्टी ने 31 पन्नों के घोषणापत्र में सत्ता में आने के बाद अनुबंधित कर्मचारियों को दो साल में नियमित करने, सरकारी कर्मियों को चार सितंबर, 2014 के वेतनमान और पेंशनरों को पांच अक्टूबर, 2015 का लाभ देने, मजदूरों की दिहाड़ी 210 से बढ़ाकर 350 रुपये करने, 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन और 50 हजार मेधावी विद्यार्थियों को एक जीबी मुफ्त डाटा के साथ लैपटाॅप देने की घोषणाएं की हैं। इसके अलावा किसानों का एक लाख तक का ब्याज माफ करने का भी वादा किया है ।
प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में घोषणापत्र को जारी करते हुए पार्टी नेताओं ने कहा कि फिर से सत्ता में आने पर कांग्रेस सरकार इस घोषणा पत्र को नीतिगत दस्तावेज बनाएगी और इसे अक्षरसः लागू किया जाएगा तथा पारदर्शी शासन दिया जाएगा।
इस मौके श्री सिंह, घोषणापत्र समिति के संयोजक कौल सिंह ठाकुर, श्री शिंदे सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। अस्वस्थता के चलते प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू नहीं आ सके। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस को अपने घोषणापत्र में प्रमुखता दी है। हालांकि संसाधन जुटाने तथा वित्तीय प्रबंधन दुरुस्त करने का घोषणा पत्र में कोई जिक्र नहीं है।
श्री ठाकुर ने कहा कि सत्ता में आने पर स्वास्थ्य क्षेत्र में डाॅक्टरों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ तथा तकनीकी कर्मचारियों के कैडर में 25 फीसदी बढ़ोतरी की जाएगी। भू अधिग्रहण के मामलों में फैक्टर-2 लागू कर उचित मुआवजा दिया जाएगा। किसानों-बागवानों को बीज, उर्बरक, कीटनाशकों, कृषि उपकरणों, एंटीहेल नैट पर 90 फीसदी सब्सिडी प्रदान की जाएगी। छोटे एवं सीमांत किसानों को एक लाख तक के कर्ज माफ किए जाएंगे। विभिन्न विकास एवं कल्याण योजनाओं की पात्रता के लिए न्यूनतम आय सीमा को 35 हजार सालाना से बढ़ाकर 60 हजार सलाना किया जाएगा। विधवाओं को उनकी बेटियों की शादी के लिए दी जाने वाली अनुदान राशि को बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दिया जाएगा। बेरोजगारी भत्ते को 1000 से बढ़ाकर 1500 रुपये किया जाएगा। विकलांग के लिए यह भत्ता बढ़ाकर दो हजार रुपये प्रति माह किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा तथा सभी भ्रष्टाचार के मामलों की बारीकी से निगरानी होगी ताकि दोषी को सजा दिलाई जा सके।
ज्ञातव्य है कि भाजपा पिछले सप्ताह अपना घोषणापत्र जारी कर चुकी है ।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar