National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हिमाचल में बारिश- बर्फबारी का दौर फिर शुरू, लाहौल घाटी में फंसे बीजेपी सांसद

शिमला । बार-बार बदल रहे मौसम ने हिमाचल प्रदेश में एक बार फिर करवट ली है। बदलते मौसम की इस कड़ी में जहां ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिर रही है, वहीं मैदानी इलाकों में एक बार फिर बारिश शुरू हो गई है। कुल्लू में एक बार फिर शुरू हुई तेज बारिश से लोग दहशत में है। वहीं, मनाली के आसपास गुलाबा, रोहतांग और अन्य इलाकों में हो रहे स्नोफॉल के चलते लाहौल घाटी में एक बार फिर बर्फ की सफेद चादर बिछ रही हैं। शिमला केंद्र के मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में अगले 3 दिन यानी 11 से 13 अक्टूबर तक मौसम खराब रहेगा। गुरुवार को प्रदेश के मैदानी क्षेत्र एवं मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में 3 घंटे तक झमाझम बारिश की आशंका जताई जा रहे हैं। इसी बीच खबर मिली है कि, मंडी जिले से भाजपा सांसद रामस्वरूप शर्मा बर्फबारी के चलते लाहौल घाटी में फंस गए हैं। दरअसल वह 2 दिन के दौरे के लिए लाहौल गए थे। जहां बुधवार को उदयपुर में रुकने के बाद में गुरुवार को छतरु के लिए रवाना हुए। गुरुवार को 10:30 बजे के करीब हुई बातचीत के बाद उन्होंने कहा कि वह फिलहाल पर बर्फ में फंस गए हैं। उनका फोन अब बंद हो गया है। पहाड़ी क्षेत्रों में मौसम विभाग द्वारा हिमपात की संभावना जताई गई है। वहीं राजधानी शिमला में गुरुवार सुबह बारिश होने के वजह से यहां का पारा लुढ़कने से यहां शीतलहर चल रही है। पारे में आई इस गिरावट के बाद शिमला का न्यूनतम तापमान 10 डिग्री पहुंच गया है। समय बदलाव के कारण बिलासपुर में हुई तेज बारिश के बाद विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी की पहाड़ियों को धुंध ने छतरी के समान ढक लिया है, जिससे विजिबिलिटी कम हो गई है। सीएम जयराम ठाकुर गुरुवार को जैजहली दौरे पर हैं, जिस में बारिश के चलते खलल पड़ सकता है। साथ ही प्रदेश के कांगड़ा, धर्मशाला, कुल्लू सहित तमाम जिलों में बारिश हो रही है।
बर्फबारी के चलते उदयपुर- दिल्ली, केलांग- दिल्ली, केलांग- धर्मशाला, केलांग- शिमला, उदयपुर- जम्मू- कटरा बस रूट प्रभावित हुए हैं। हिमाचल पथ परिवहन निगम के केलांग आएम मंगल चंद मनेपा ने जानकारी देते हुए बताया कि केलांग में 3 इंच ताजा बर्फबारी, कोखसर में डेढ़ इंच और रोहतांग करीब आधा फीट बर्फ गिरी है। प्रदेश को इस पूरे मानसून सीजन में 1562 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। उल्लेखनीय है कि 1 अक्टूबर को हिमाचल से मॉनसून की विदाई हो चुकी है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar