National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

15 फरवरी- तारापुर शहीद दिवस

उभरी है फिर से वेदना उस क्रूर नरसंहार की
था जालियांवाला बाग देखा माटी ने बिहार की
वो शूरवीर माटी की इज्जत बचाने निकले थे
सारी जिम्मेदारियां वो भूल के घर- बार की

होनी की मंशा से थे अंजान और बेखबर
बलिदानी तारापुर के वो सदा ही रहेंगे अमर

अपने – अपने घर से वो सारे दीवाने चल पडे़
देशभक्ति भाव की कीमत चुकाने चल पडे़
मन में था जूनून और जज्बा था उनके सीने में
अंग्रेजों के थाने पर तिरंगा लगाने चल पडे़

जयघोष से मां भारती के गूंज उठा था नगर
बलिदानी तारापुर के वो सदा ही रहेंगे अमर

बांध के कफन वो निकले देशभक्ति राह पर
ध्यान जरा भी नहीं था जान की परवाह पर
गोलियां खाते रहे थे खून भी बहता रहा
फिर भी फर्क न पड़ा था जोश और उत्साह पर

मौत का भी खौफ उनके सामने था बेअसर
बलिदानी तारापुर के वो सदा ही रहेंगे अमर

विक्रम कुमार
मनोरा , वैशाली

Print Friendly, PDF & Email
Translate »