National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

2012 में 2015 वर्ल्ड कप टीम चुनना दुर्भाग्यपूर्ण था : गंभीर

अब एमएस धोनी पर साधा निशाना
नई दिल्ली । हाल ही में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से सन्यास लेने वाले भारत के पूर्व दिग्गज ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी पर सवाल उठाए हैं। अपने बेबाक टिप्पणियों के लिए पहचाने जाने वाले गौतम गंभीर ने अपने करियर के दौरान हुई घटनाओं पर खुलकर बोल रहे हैं। उन्होंने एक बयान में सीबी सीरीज-2012 के दौरान एमएस धोनी की सिलेक्शन पॉलिसी को गलत बताते हुए कहा था कि उस सीरीज के दौरान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा था कि वह 2015 वनडे वर्ल्ड कप में सचिन तेंडुलकर, वीरेंदर सहवाग और गौतम गंभीर को एक साथ टीम में नहीं खिला सकते। टूर्नमेंट ऑस्ट्रेलिया और न्यू जीलैंड की संयुक्त मेजबानी में हो रहा है। यहां बड़े मैदान होते हैं और भारत को अच्छे फील्डर की जरूरत होगी। गंभीर ने आगे कहा कि ‘यह हम तीनों के लिए बहुत ही चौंकाने वाला था। मैंने ही नहीं शायद किसी ने भी अपने करियर में नहीं सुना होगा कि आप सिर्फ 2012 में तय कर लेते हैं कि 2015 वर्ल्ड कप में आपको किन खिलाड़ियों को खिलाना है। क्योंकि, जब आप टीम सिलेक्ट करते हो तो उस दौर में खिलाड़ी किस फॉर्म में होता है यह सबसे जरूरी होता है। ‘2012 में अगर आप 2015 वर्ल्ड कप की टीम बनाने की बात कर रहे हो तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है। यह अन्यायपूर्ण है। इसके अलवा अगर आप बैटिंग अच्छी कर रहे हैं तो आपकी उम्र सिर्फ नंबर है। हां, अगर बैटिंग अच्छी नहीं है या फील्डिंग अच्छी नहीं है तो बात अलग है।’
आपको बता दें कि आगे चलकर सचिन तेंडुलकर, वीरेंदर सहवाग और गौतम गंभीर तीनों ही वर्ल्ड कप-2015 टीम से बाहर हो गए थे। सचिन ने उस वक्त संन्यास ले लिया था। दरअसल, जिस वक्त धोनी सचिन तेंडुलकर, वीरेंदर सहवाग और गौतम गंभीर को एक साथ टीम में नहीं खिलाने की बात कर रहे थे, उस दौर में ये तीनों टीम के टॉप-3 बल्लेबाज हुआ करते थे। वनडे वर्ल्ड कप-2011 की खिताब विजेता भारतीय टीम के लिए ये तीनों टॉप स्कोरर थे। सचिन टूर्नमेंट में ओवरऑल दूसरे, जबकि भारत के लिए टॉप स्कोरर थे। उन्होंने 9 मैचों में 53.55 की औसत से दो शतक और दो अर्धशतक की मदद से 482 रन बनाए थे। गंभीर 9 मैच में 393 रन के साथ दूसरे सर्वश्रेष्ठ भारतीय बल्लेबाज थे, जबकि सहवाग के नाम 8 मैच में 380 रन थे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar