National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Date: May 2, 2020

Total 11 Posts

ताकि न बढ़ें लोकडाउन के बाद मानसिक बीमारियां

विशेषज्ञ : डॉ. राजन जैन, मनोचिकित्सक एवं मनोरोग विभाग प्रमुख, जिंदल इनस्टीटूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च, हिसार  संकलनकर्त्ता: सुशील कुमार नवीन, वरिष्ठ पत्रकार और लेखक। ■ लोकडाउन मनोदशा पर

प्रधानमंत्री मोदी की अपील, सार्वजनिक स्थलों पर ना थूकें

प्रधानमंत्री मोदी की अपील, सार्वजनिक स्थलों पर ना थूकें , “Spitting Kills” मोबाइल ऐप से मिलेगी संदेश फैलाने में मदद   विजय न्यूज़ नेटवर्क नई दिल्ली। कोरोना वायरस से भारत

कविता : हम मूर्ख हैं, ये सबको बताने की जरूरत क्या है

 हम मूर्ख हैं, ये सबको बताने की जरूरत क्या है जब देश जलता हो तो दिया जलाने की जरूरत क्या है। हम मूर्ख हैं ……..ये सबको बताने की जरूरत क्या

कोरोना संकट में दिखाया देश ने दम

कोरोना महामारी के चलते जहां पूरी दुनिया डरी नजर आ रही है। वही भारत इसका मजबूती से मुकाबला कर रहा है। पूरे भारत में लॉक डाउन लगा हुआ है तथा

क्या तू सचमुच अंत:प्रेरित, अकुलाई है ?

अप्रैल का महीना समाप्ति की ओर है। मात्र तीन दिन बचे हैं, अप्रैल का महीना खत्म होने में। अप्रैल में बारिश होते हुए कम ही देखी है मैंने। आज फिर

यूरोप और चीन के बिगड़ते रिश्ते

चीन की चालबाज़ी से अब पूरी दुनिया वाकिफ हो रही है । कोरोना वायरस चीन के वुहान से निकला है यह बात भले ही चीन ना माने मगर पूरी दुनिया

सेंटर फॉर पर्सनल डेवलपमेंट संस्था की काव्य गोष्ठी सम्पन्न

विजय न्यूज़ नेटवर्क। डॉ शम्भू पंवार नई दिल्ली। ‘सेंटर फॉर पर्सनल डेवलपमेंट’ संस्था के तत्वावधान में डिजिटल काव्य गोष्ठी ‘रसतरंगिणी’ का आयोजन किया गया। गोष्ठी काआरंभ संस्था की संरक्षिका व

कविता : सांस के साथ धरती

 सांस के साथ धरती पेड़ सांस आपके साथ आप सांस लेते हैं पेड़ के साथ पृथ्वी है इतना ठीक है आप दोनों सांस के लिए ग्लोबल वार्मिंग … पृथ्वी ने

व्यंग्य : झाम बाबा के चश्मा

जब से गोरखपुर वाले झाम बाबा र्थी ट्रिलियन डॉलर इकोनामी की बात इडियट बॉक्सवा में देखे हैं,उनको मुल्क ए हिंद के प्रत्येक गांव सिंगापुर और कुआलालंपुर सरीखे दिखने लगे हैं।जहां

पत्रकारों और किसानों के लिए सुरक्षा कानून बनाया जाए

पत्रकारिता और खेती दोनों शुरू से ही अपने आप में एक जोखिम भरा काम रहा है दोस्तों जान माल के जोखिम के साथ-साथ आर्थिक संकट भी ताउम्र पत्रकार का पीछा

Skip to toolbar