National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

22 वॉ ’दिल्ली के राजा नें दिया “पानी बचाओ पेड़ लगाओ” का संदेश

गणेश चतुर्थी को बहुत ही सुंदर व विशाल शोभायात्रा के साथ विद्वान आचार्य के बीच एक शोभायात्रा निकली

नई दिल्ली :22वॉ ‘‘दिल्ली के राजा’’ श्री गणपति महाराज के नाम से विश्व विख्यात् श्री गणेश उत्सव के पावन पर्व पर भव्य आयोजन पिछले 21 साल से करते आ रहे हैं। गणेश चतुर्थी की पूजा एवं शोभायात्रा के जरिए आपसी भाईचारा बढ़ाने, पर्यावरण बचाओ पेड़ लगाओ तथा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया गया। इसके अलावा दिव्यांग बच्चों को प्रोत्साहित किया गया। यह आयोजन ‘दिल्ली के राजा” उत्सव समिति की ओर से राष्ट्रीय राजधानी के रमेश नगर, नई दिल्ली में 2 सितम्बर से 12 सितम्बर तक आयोजित किया जायेगा।

आज गणेश चतुर्थी को एक बहुत ही सुंदर विशाल शोभायात्रा के साथ विद्वान आचार्य के बीच एक शोभायात्रा निकली। जिसमें दिल्ली में चौथी बार मुंबई से संकल्प बैंड के द्वारा स्त्री एवं पुरुष कलाकारों के द्वारा शोभायात्रा में लावणी हिसार प्रस्तुत किया गया। विशाल शोभायात्रा में भांगड़ा, डांडिया, कथकली एवं हरि नाम कीर्तन का आयोजन हुआ। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में लोग दिल्ली व एनसीआर के अलावा अन्य राज्यों एवं विदेशी भक्त भी शामिल हुए।

शोभा यात्रा की विशेषताएं :

टाइगर डांस बंगलुरू से 71 कलाकारों की टीम ने प्रस्तुति दी, संकल्प बैंड मुम्बई से 150 कलाकारों की टीम, भांगड़ा पार्टी पंजाब से 40 कलाकारों की टीम, डांडिया टीम गुजरात से 20 कलाकारों की टीम, टीवी कलाकार, DJ, चावला बैंड की विशेष प्रस्तुति, इस्क़ॉन मंदिर के भक्तों की विशेष प्रस्तुति दी, रथ यात्रा को हाथों से लग-भग 100 भक्त खीचा। यह शोभा यात्रा में पूरे क्षेत्र में निकाली गई। जिसका जगह-जगह पर स्वागत किया गया। इस पावन मौके पर हजारों लोग मौजूद थे।

विशाल शोभायात्रा उत्सव स्थल से चार बजे निकलकर कीर्ति नगर बी ब्लॉक, ए ब्लॉक रमेश नगर मेट्रो स्टेशन, रमेश नगर बड़े मंदिर, चेक पोस्ट, गोल चक्कर, रमेश नगर, बालाजी मंदिर, दुर्गा मंदिर रमेश नगर, गुरुद्वारा सिंह सभा, 4 ब्लॉक रमेश नगर, 8 ब्लॉक रमेश नगर होते हुए रात्रि 8 बजे उत्सव स्थल पर पहुंची। फिर 8:30 बजे से विधिवत् आवाह्न एवं पूजन आरम्भ किया गया। तत्पश्चात भगवान श्री गणेश जी का भण्डारा एवं प्रसाद वितरण किया गया।

कार्यक्रम के दौरान अनेक धर्म गुरुओं एवं संतों का पदार्पण होगा जिनमें मुख्य तौर पर श्री कामाख्या शक्ति पीठ के महामंडलेश्वर श्री श्री 1008 अनंत विभूषित जगतगुरु पंचानंद गिरी जी महाराज, प्रयागराज पीठ के शंकराचार्य ओंकारानंद सरस्वती जी महाराज, विश्व विख्यात गुरुदेव जी डी वशिष्ठ जी एवं परम श्रद्धा श्री सच्चिदानंद जी महाराज के वचनों से कार्यक्रम का आयोजन आगे बढ़ाए गए इन सभी संतो व कर्मकांडी ब्राह्मण आचार्य मुरलीधर शर्मा जी एवं अन्य विद्वान आचार्य द्वारा पूजन यज्ञ सहस्त्रार्चन आरती एवं श्रृंगार, पूजा सम्पन्न हो गई।

कार्यक्रम में भजन संध्या के लिए विभिन्न शहरों से विश्व विख्यात भजन गायक प्रतिदिन भजन संध्या का कार्यक्रम करेंगे ।

आयोजन समिति के अध्यक्ष सरदार मनदीप सिंह ने बताया कि इस उत्सव से सभी वर्गों एवं धर्मो के लोगो में आपसी भाई चारा बढ़ता है। यह गणेश उत्सव श्री बाल गंगाधर तिलक के सन्देश को आगे बढ़ाने का एक प्रयास है।

आयोजन समिति के महामंत्री श्री राजन चड्ढा ने कहा, ’’धरती का श्रृंगार वृक्ष लगायें बार-बार, गौ सेवा एवं सुरक्षा ही हमारे जीवन को करेगी साकार।’’

उत्सव आयोजन समिति के सदस्य श्री हर्ष बंधू ने बताया कि 21 वर्षों से श्री गणेश उत्सव में गणेश जी की भक्ति से जुड़े सभी धर्म के लोग आपस में मिलजुल कर आपसी भाई-चारे एवं श्रद्धा के साथ बड़ी धूम धाम से इस उत्सव को मनाते है।

आयोजन समिति के कोषाध्यक्ष श्री दीपक भारद्वाज ने कहा कि इस उत्सव में बहुत सारे लोग दिल्ली एनसीआर के अलावा अन्य राज्यांे से भी आते हैं। जहा पिछले वर्ष दस दिवसीय इस उत्सव में पांच लाख लोग आये थे वही इस वर्ष पांच से साढ़े पांच लाख लोगो के आने की संभावना है।

इस साल 22वा ‘‘दिल्ली के राजा’’ गणेश चतुर्थी का मुख्य उद्देश्य’’ “पर्यावरण बचाओ पेड़ लगाओ औऱ बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ है। इस बार गणेश उत्सव के माध्यम से लोगों में ‘‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’’ का सन्देश देने का प्रयास किया गया है। बेटी नहीं बचाओगे तो बहू कहाँ से लाओगे अगर बेटी नहीं बचाओगे तो मेडल कहां से लाओगे। आज की बेटियां हर क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बना चुकी है। बेटियां समाज पर बोझ नहीं है – हमें ये कार्य आगे बढ़ाना है और घर-धर तक तक पहुचाना है। बेटियां को बचाना है, पढ़ाना है और आगे बढ़ाना है।

कार्यक्रम में भक्तों की सभी सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है। इस बार पंडाल में भंडारे की व्यवस्था भी की गयी है, कार्यक्रम की सुरक्षा को लेकर भी कई कदम उठाये गये हैं जैसे कि CCTV, कैमरे अलावा पुलिस भी मौजूद रहेगी। पंडाल में अंदर और बाहर बड़ी-बड़ी LED स्क्रीन भी लगाई जा रही हैं। पार्किग की भी उचित व्यवस्था है।

दिल्ली के राजा का पांडाल वाटर प्रूफ है और भक्तों सुरक्षा व्यवस्था के लिए वालिंटियर के साथ-साथ गैर सरकारी सिक्योर्टी गार्डस् की भी व्यवस्था की गई है।।वहीं इस बार उत्सव की शोभा बढाने के लिए बेहतरीन जगमगाती रोशनी का भी इंतजाम किया गया है।
कार्यक्रम के दौरान चिकित्सा शिविर भी आयोजित की जाएगा। जिसमें जरूरतमंद लोगों को निःशुल्क परामर्श, चश्मे, दवाइयां एवं प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध कराई जाएगी।

धार्मिक सामाजिक संस्था ‘‘दिल्ली का राजा उत्सव समिति” पिछले 21 वर्षों से ब्लॉक 8, रमेश नगर ,नई दिल्ली 15 में श्री गणेश चतुर्थी का आयोजन ‘‘दिल्ली के राजा’’ के नाम से करती आ रही है।

कार्यक्रम का संचालन: श्री शंकर अनुरागी ने बहुत सुन्दर ढंग से किया।

साल दर साल बढ़ते-बढ़ते यह कार्यक्रम एक विशाल आयोजन का रुप ले चुका है। इस कार्यक्रम के तहत गणेश चतुर्थी के दौरान प्रतिदिन पूजन, यज्ञ, अनुष्ठान श्रीमद् भागवत कथा, रुद्राभिषेक एवं विश्व विख्यात गायकों द्वारा भजन संध्या आयोजित की जाती है। इस कार्यक्रम में पूरे हिंदुस्तान से संत-महंतो का पदार्पण होता है।

गणपति जी की विशाल प्रतिमा हर वर्ष मुंबई से लाई जाती है और बड़े ही प्रेम भाव से 10 – 12 दिन तक उनका श्रृंगार किया जाता है एवं श्री गणेश चतुर्थी के दिन एक भव्य शोभा यात्रा नगर भ्रमण करते हुए गणेश जी महाराज को उत्सव स्थल पर लाकर उनका आवाहन किया जाता है एवं स्थापना की जाती है जो कि विद्वान आचार्यों द्वारा संपन्न कराई जाती है। बड़े ही हर्षोल्लास प्रेम और भाई चारे के बीच इस कार्यक्रम में हिंदू, सिख एवं मुसलमान भाइयों का भी सहयोग रहता है।

“दिल्ली का राजा” उत्सव समिति द्वारा आयोजित उत्सव को सफल बनाने में समिति के सभी सदस्यों – सर्वश्री राजन चड्ढा, दीपक भरद्वाज, सरबजीत सिंह, सुरेंद्र गाँधी, विधायक शिवचरण गोयल, निगम पार्षद वीना विरमानी, मुख्य संरक्षक रमेश आहूजा और अरूण सहगल, राजेश आहूजा, राकेश आंनद, नेशनल अकाली दल के सरदार परमजीत सिंह पम्मा, रमेश पापली, अचल विग, बर्थडे ग्रुप रमेश नगर, पिशोरी लाल जौली, राजीव सेठी, डॉ अजय शर्मा, गुलशन ढ़ीगरा, कृष्ण गोसाईं, सतीश लांबा, विरेन्द्र बब्बर, राज कुमार भुटानी, शेखर एवं कमल ग्रोवर, कमल पाहुजा, अशोक कुमार अरोड़ा, राकेश डंग, राजन शर्मा संदीप भारद्वाज, 8-9 ब्लॉक रमेश नगर रेसिडेंटल एसोसिएशन, मोतीनगर विकास मंच, श्री महावीर मंदिर सभा, 9 ब्लॉक, लाल साई मंदिर, रमेश नगर का भरपूर समर्थन एवं सहयोग मिला।

दिल्ली के राजा की मूर्ति की विशेषता:

इस मूर्ति में इको फ्रंडली रंग का इस्तेमाल किया गया है, मूर्ति की लंबाई 18 फीट है, मूर्ति का विशेष रूप से श्रंगार किया गया है, मूर्ति के श्रंगार में अमेरिकन डायमंडस् का भी इस्तेमाल किया गया है, इस बार दिल्ली के राजा को मुंबई से बुलाया गया है, विधिवत पूजन करके निमंत्रण देकर दिल्ली के राजा को बुलाया गया है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar