National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

सौभाग्य योजना लॉन्च: PM मोदी बोले- घर आकर फ्री बिजली कनेक्शन देगी सरकार

नई दिल्ली। देश के बिजली क्षेत्र में अभी तक की सबसे महत्वाकांक्षी योजना केंद्र सरकार ने लांच की है जिसके तहत दिसंबर, 2018 तक हर घर को बिजली कनेक्शन से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को यहां एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना “सौभाग्य” को लांच किया। गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले हर परिवार को इसके तहत मुफ्त में बिजली कनेक्शन मिलेगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत चार करोड़ घरों को बिजली दी जाएगी। इस पर कुल 16,320 करोड़ रुपये की लागत आएगी जिसका बड़ा हिस्सा (12,320 करोड़ रुपये) केंद्रीय बजट से दिया जाएगा।
योजना के तहत ग्र्रामीण क्षेत्र पर खास ध्यान होगा क्योंकि 90 फीसद बिना बिजली वाले घर गांवों में ही हैं। उक्त आवंटन का 14,025 करोड़ रुपये ग्र्रामीण विद्युतीकरण के लिए दिया जाएगा।
सरकार के वर्ष 2011 के सामाजिक, आर्थिक और जातिगत जनगणना के आधार पर यह स्कीम लागू की जाएगी। इस जनगणना में आने वाले सभी परिवारों को मुफ्त बिजली दी जाएगी। लेकिन इसके अलावा जो अन्य परिवार बिजली कनेक्शन लेना चाहेंगे उन्हें महज 500 रुपये देने पर बिजली कनेक्शन मिल जाएगा।
इसका भुगतान भी उन्हें मासिक किस्त में देने की सुविधा मिलेगी। जहां सामान्य बिजली कनेक्शन नहीं होगी मसलन दूरदराज के गांवों के घरों को सौर बिजली का कनेक्शन दिया जाएगा।
इन घरों को पांच एलईडी बल्ब, एक डीसी फैन और एक पावर प्लग को चलाने वाला सौर बैट्री बैंक दिया जाएगा। सौभाग्य लांच करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “अभी तक किसी ने सोचा नहीं था कि एक सरकार ऐसी भी आएगी जो लोगों के घर-घर जा कर बिजली कनेक्शन देगी।”
दरअसल, इस योजना के तहत बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारी स्वयं सरकारी डाटा के हिसाब से उन घरों में जाएंगे जहां बिजली कनेक्शन नहीं है और घर के मुखिया के आधार कार्ड को देख कर बिजली कनेक्शन हाथों हाथ देंगे।
ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने इस अवसर पर बताया कि दिसंबर, 2017 तक हर गांव को बिजली मिल जाएगी और उसके एक वर्ष बाद यानी दिसंबर, 2018 तक हर घर को बिजली देने का लक्ष्य हासिल पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद हर घर को चौबीसों घंटे, स्थायी बिजली देने का काम बचेगा जिसे पूरा किया जाएगा।

बिजली का चूल्हा होगा अगला कदम
हर घर को बिजली देने की योजना लांच करने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पेट्रोलियम मंत्रालय की कंपनी ओएनजीसी को एक नई जिम्मेदारी सौंप दी है। उन्होंने ओएनजीसी से कहा है कि वह देश भर में बिजली से चलने वाले चूल्हे के निर्माण को लेकर एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन करे।
इसका मकसद यह होना चाहिए कि किस तरह से बिजली से चलने वाला ऐसा चूल्हा तैयार किया जा सके जिस पर हर तरह के पकवान बन सकें। उन्होंने कहा कि ओएनजीसी आसानी से 100 करोड़ रुपये इस पर खर्च कर सकती है।

आरके सिंह ने की योजना की जानकारी दी
दीनदयाल विद्युत योजना के लिए हुए कार्यक्रम में राज्य मंत्री आरके सिंह ने की योजना की संक्षिप्त रूपरेखा को बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमत्री के संकल्प के अनुसार हम हर घर को बिजली उपलब्ध करेंगे।
हम दिसंबर 2018 तक प्रत्येक घर को रोशन करेंगे। इसमें सौर उर्जा तथा जल विद्युत उर्जा को भी शामिल करेंगे। इसमें हम चौबीस घंटे बिजली प्रदान करने के लिए संकल्पित हैं। इसमें एक टोल फ्री नंबर होगा जिससे शिकायत कर सकेंगे तथा एक टीम होगी जो कि शिकायतों पर नजर रख उसे हल करेगी। इसमें स्मार्ट मीटर लगे होंगे जिससे लोग ऑनलाइन पेमेंट भी कर सकेंगे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar