National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मेष (Aries) का मासिक राशिफल : मई 2020

मेष का मासिक राशिफल / Mesh Masik Rashifal in Hindi

सामान्य
मई के महीने की चिलचिलाती धूप आपके लिए कई मौके लेकर आने वाली है। इस दौरान सूर्य देव अपनी उच्च राशि में स्थित रहेंगे और आपके मान सम्मान में वृद्धि करेंगे तथा समाज में आपकी ख्याति को बढ़ाने में अपनी अहम भूमिका निभाएंगे। इस दौरान पिता का सहयोग भी आपके काम में आपको मिलेगा और आपका सितारा चमकने लगेगा। संतान की ओर से आपको अच्छे समाचार प्राप्त होंगे और वह हर काम में आपके साथ खड़ी नजर आएगी। इसके साथ ही साथ आपका मन थोड़ा खिला-खिला भी रहेगा, जिससे हर काम को बड़े ही खुले दिमाग से करेंगे और उसमें सफलता अर्जित करेंगे। देश की सेवा में तैनात लोगों को इस वक़्त कुछ आवश्यक यात्रा करनी पड़ सकती है । यह महीना आपको पारिवारिक और पेशेवर जीवन में सामंजस्य बनाए रखने में सफल बनाएगा और आप अच्छे जीवन का मजा लेंगे। इसी वजह से यह महीना आपके अच्छे दिनों की लेकर आएगा।

कार्यक्षेत्र
आपके करियर को लेकर मई का महीना काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है, क्योंकि जहां एक ओर कर्म भाव के स्वामी शनि देव कर्म भाव में ही मौजूद रहकर आपसे मेहनत करवाएंगे, वहीं दूसरी ओर देव गुरु बृहस्पति भी इस भाव में उपस्थित रह कर आपको अच्छे निर्णय लेने में सफल बनाएँगे और उन निर्णयों की बदौलत आप अपने कार्य क्षेत्र में एक अच्छा मुकाम प्राप्त कर पाएंगे। महीने की शुरुआत में मंगल भी इसी भाव में रहेगा, जिससे आपको किसी अच्छे पद की प्राप्ति हो सकती है, लेकिन आप किसी कंट्रोवर्सी में भी फँस सकते हैं। इसके प्रति आपको सावधान रहना होगा। उसके बाद जैसे ही मंगल का गोचर एकादश भाव में होगा, कार्य क्षेत्र में और भी अच्छे समय की प्राप्ति होगी। आपके संबंध अपने वरिष्ठ अधिकारियों से बेहतर बनेंगे और इस दौरान आप अपने उच्चाधिकारियों से भी मिलने में सफल होंगे, जो भविष्य में आपके लिए फायदे का सौदा साबित होगा। इसके अतिरिक्त आपके सहकर्मियों का भी व्यवहार आपके प्रति अच्छा रहेगा और वे हर काम में आपकी सहायता करेंगे, जिससे आपको अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। यदि आप व्यापार करते हैं तो, इस दौरान अच्छा मुनाफ़ा कमा पाएंगे और आपके बिज़नेस में प्रगति होगी। इन्वेस्टमेंट करने के मामले में थोड़ा सोच विचार करना बेहतर रहेगा, ताकि उसका विपरीत असर आपके बिज़नेस पर ना पड़े।

आर्थिक
यदि आपकी आर्थिक स्थिति पर नजर डाली जाए तो ऐसा प्रतीत होता है कि इस महीने के दौरान शुक्र आपके दूसरे भाव में स्थित रहेगा और सूर्य भी महीने के उत्तरार्ध में द्वितीय भाव में प्रवेश कर जाएगा, ये दोनों ही परिस्थितियां आपके आर्थिक जीवन को मजबूत बनाएंगी और आप धन संचित कर पाने में भी सफल होंगे। देव गुरू बृहस्पति की स्थिति के कारण आपको अपने कार्यों में कुछ इन्वेस्टमेंट करनी पड़ेगी, लेकिन उस इन्वेस्टमेंट से भी आपको अच्छा धन लाभ मिलेगा और आपकी आर्थिक स्थिति पहले के मुकाबले सुदृढ़ होगी। थोड़े बहुत खर्चे लगे रहेंगे, लेकिन वे व्यर्थ में नहीं होंगे, बल्कि किसी विशेष कारण से होंगे। इसलिए आपको इस महीने घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आप एक अच्छी आर्थिक स्थिति का आनंद लेंगे।

स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के मामले में मई का महीना आपके लिए अनुकूल रहने वाला है। आपकी राशि का स्वामी मंगल दशम स्थान से एकादश स्थान में गोचर करेगा, जिससे पुरानी चली आ रही बीमारियों से भी आपको मुक्ति मिलेगी और साथ ही साथ आप अपने अंदर गजब की चुस्ती और फुर्ती महसूस करेंगे। मानसिक रूप से भी आप काफी मजबूत रहेंगे और कार्यों में सफलता मिलने से भी आपके अंदर खुशी रहेगी। बुध का गोचर 25 मई को आप के तीसरे भाव में होगा जहां पहले से ही राहु विराजमान है। ऐसे में आपके साहस और पराक्रम में वृद्धि होगी, लेकिन साथ ही साथ आपको गले से संबंधित परेशानियां हो सकती हैं, इसलिए खान-पान पर ध्यान दें, अधिक ठंडा भोजन करने से बचें। दशम भाव में शनि मंगल और बृहस्पति की स्थिति है, जिसके कारण संभवतः आपको कमर में दर्द की शिकायत रह सकती है। इसके अतिरिक्त किसी बड़ी समस्या की संभावना दिखाई नहीं देती और ऐसा प्रतीत होता है कि मई का महीना आपके स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आपको नई ऊर्जा शक्ति प्रदान करने वाला साबित होगा।

प्रेम व वैवाहिक
यदि आप किसी प्रेम संबंध में हैं तो, महीने की शुरुआत में आपका प्रियतम आपके प्रति पूरी तरह समर्पित रहेगा और हर बात में आपका ध्यान रखेगा। इससे आपको बहुत खुशी होगी और आपके बीच अपनापन भी बढ़ेगा। महीने के उत्तरार्ध में स्थितियों में थोड़ा बदलाव आएगा और संभवतः आप आगे बढ़कर अपने प्रियतम को अपने परिवारजनों से मिलवा सकते हैं और उनसे अपने परिवार से संबंधित खास बातें भी साझा करेंगे। मंगल की पंचम भाव पर दृष्टि होने से कुछ गर्मा गर्मी होने की भी संभावना रहेगी हालांकि आप इतने समझदार हैं कि स्थिति को चुनौतीपूर्ण होने से रोक लेंगे। आपकी वाणी में मिठास रहेगी, जो आपके रिश्ते को बांधे रखेगी और इस प्रकार आप अच्छे प्रेम जीवन को इंजॉय करेंगे।
यदि आप शादीशुदा हैं तो इस महीने आप को विशेष रूप से महीने की शुरुआत में थोड़ा सावधान रहना होगा, क्योंकि सर्वप्रथम सप्तम भाव पर सूर्य और शनि का प्रभाव जीवन साथी के स्वास्थ्य और व्यवहार दोनों में बदलाव कर सकता है और वे थोड़ा चिड़चिड़ा व्यवहार दिखा सकते हैं, जिस वजह से आप के बीच तनाव बढ़ सकता है। हालांकि जैसे ही सूर्य का गोचर दूसरे भाव में होगा और मंगल का प्रवेश ग्यारहवें भाव में होगा। इस स्थिति में थोड़ा बदलाव आएगा और आपका जीवन साथी स्वयं को परिवार के अनुरूप ढालने का प्रयास करेगा और यह आपको पसंद भी आएगा। स्थितियां थोड़ी चुनौतीपूर्ण अवश्य रहेंगी, लेकिन आपका जीवनसाथी परिवार के प्रति अपनी सभी जिम्मेदारियों को समझते हुए हर काम को मन से करेगा, जिससे आपका पारिवारिक और दांपत्य जीवन बेहतर तरीके से चल पाएगा। जीवनसाथी के माध्यम से भी कोई लाभ होने की संभावना होगी।

पारिवारिक
अब बात करते हैं आपके पारिवारिक जीवन की। मई के महीने के दौरान चतुर्थ भाव पर शनि और बृहस्पति का मुख्य रूप से प्रभाव रहेगा। महीने की शुरुआत में मंगल ग्यारहवें भाव में चले जाएंगे, जिससे चतुर्थ भाव पर उनके प्रभाव में कमी आएगी और चतुर्थ भाव पर मुख्य रूप से शनि और बृहस्पति अपना असर दिखाएँगे। इस वजह से परिवार में उतार-चढ़ाव की स्थिति रहेगी और माता-पिता का स्वास्थ्य भी उतार-चढ़ाव से भरा रह सकता है। इसके साथ ही साथ द्वितीय भाव में शुक्र की उपस्थिति आपके कुटुंब में अच्छा समय बनाए रखेगी और परिवार में शुभ कार्य होंगे, जिससे सबका मन खिला-खिला रहेगा। उसके बाद सूर्य का गोचर महीने के उत्तरार्ध में जब द्वितीय भाव में होगा तो आपके कुटुंब में थोड़ी समस्याएं जन्म ले सकती हैं। लोगों के बीच आपसी गर्म मिज़ाज की वजह से समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। शनि और बृहस्पति का प्रभाव जहां एक ओर आपको परिवार के लोगों से जोड़े रखेगा, वहीं आपके बीच कुछ समस्याएं भी पैदा करेगा, लेकिन इस सबके बावजूद भी आप अपने पारिवारिक जीवन में अपनी ओर से पूरा योगदान करेंगे और घरेलू आवश्यकताओं के प्रति गंभीर रहेंगे। साथ ही साथ बड़े भाई बहनों का सपोर्ट आपको आपके काम में मिलेगा और छोटे भाई बहनों की समस्याओं पर ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी।

उपाय
इस महीने के दौरान उपाय के तौर पर आपको शनिवार के दिन तिल के तेल का दीपक जलाना चाहिए और शनि मंत्र का जाप करना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar