न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करतीं हैं कला विधाएं

विजय न्यूज़ नेटवर्क। शाहिद नक़वी
प्रयागराज। इलाहाबाद संग्रहालय एवं डॉ जगदीश गुप्त गीतांजलि संस्थान की ओर से इलाहाबाद संग्रहालय कला दीर्घा में आयोजित आचार्य तूलिका 2020 अखिल भारतीय चित्रकला प्रदर्शनी के तीसरे दिन बनारस से आए कलाकार सुनील काली ने मिक्स मीडिया एवं कसीम फारुकी ने वाटर कलर पेंटिंग का डेमोंस्ट्रेशन देकर नवयुवक कलाकार एवं विद्यार्थियों को आकर्षित किया।डेमोंस्ट्रेशन के दौरान चित्रकला शैली एवं तकनीक पर चर्चा भी की गई। चर्चा में संयोजक डॉ अभिनव गुप्त सह संयोजक रविंद्र कुशवाहा एवंं तलत महमूद शामिल रहे। कला विद्यार्थियों द्वारा जिज्ञासा वश पूछे गए प्रश्नों के उत्तर भी दिया और बताया कि कला के नवीन प्रयोग कला की विभिन्न धाराएं निर्धारित करते हैं । कला विधाएं मौलिक चिंतन के साथ सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करतीं हैं । प्रदर्शनी में दिल्ली, आगरा, बनारस, गोरखपुर, लखनऊ एवं मध्य प्रदेश के 70 चित्रकारों की सौ से अधिक पेंटिंग प्रदर्शित की गईं । चित्रकारों ने पेंटिंग में वॉश शैली, एब्सट्रैक्ट, ऑयल, वॉटर और एक्रेलिक के रंगों के सुंदर संयोजन द्वारा विभिन्न पेंटिंग में प्रकृति, कला संस्कृति, पर्यावरण, नारी चित्रण और कला संयोजनों को बखूबी प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शनी के संयोजक डॉ अभिनव गुप्त ने बताया कि प्रदर्शनी का उद्देश्य नए चित्रकारों को प्रोत्साहित करना और नए प्रयोगों से रूबरू कराना है । 8 दिवसीय प्रदर्शनी 7 मार्च तक लगी रहेगी । 6 मार्च को प्रदर्शनी कैटलॉग का विमोचन किया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar