न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: एक्सपर्ट की सलाह

Total 141 Posts

कोरोना होने के बाद कितने महीने रहती है एंटीबॉडी, वैज्ञानिकों ने बतायाकोरोना होने के बाद कितने महीने रहती है एंटीबॉडी, वैज्ञानिकों ने बताया

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे देश में लोगों को वैक्सीनेट किया जा रहा है ताकि भविष्य में बीमारी के खतरे को कम किया जा सके. इसी

WHO की साइंटिस्ट ने बताया, भारत का कोरोना वेरिएंट क्यों है इतना खतरनाक?

नई दिल्ली। भारत में तेजी से फैल रहा कोविड-19 का एक वेरिएंट बेहद संक्रामक है. ये वेरिएंट शरीर में वैक्सीन को चकमा देकर देश में महामारी के विस्फोट का कारण

ब्रेन ट्यूमर की समय रहते पहचान से आसान हो जाता है इलाज: डा. सतनाम सिंह छाबड़ा

आजकल ब्रेन ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारियां भी मुंह खोलकर अधिकतर लोगों को अपनी चपेट में लेती जा रही हैं। अत सिरदर्द, चक्कर आना, आंखों के आगे अंधेरा छा जाना, जैसी

रेटिनोब्लास्टोमा बचपन में ही दिख जाते है लक्षण

बच्चों की आंखों पर दें विशेष ध्यान आंखें हमारे मन का आइना होती हैं। शरीर की स्वस्थता व अस्वस्थता तो कोई भी हमारी आखों में झांककर ही देख सकता है।

फलों का सेवन करते वक्त बरतें ये सावधानियां

अच्छी सेहत के लिए फलों का सेवन बहुत जरुरी है. हम सभी फलों का सेहत के लिए महत्व  जानते हैं लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि फलों के

नवजात बच्चे में मिर्गी के दौरे (सीजर्स) का इलाज न करने से मस्तिष्क को पहुंच सकता है नुकसान और विकास हो सकता है बाधित

गुरुग्राम.  हाई-रिस्क प्रेग्नेंसी में नवजात कॉम्प्लिकेशन होना सबसे आम है। जन्म के बाद और प्रारंभिक हफ़्तों में ये कॉम्प्लिकेशन हो सकती है। जिसमे बच्चे में मिर्गी का आना शामिल हो

पीठ और कमर दर्द का कारण हैं रोजाना की ये गलत आदतें

नई दिल्ली। आपने खुद में भी यह बात जरूर महसूस की होगी और अपने आसपास मौजूद दोस्तों और रिश्तेदारों को भी देखा होगा कि ज्यादातर लोगों को आजकल गर्दन में,

कालामोतिया: धीरे-धीरे चली जाती है रोशनी

ग्लूकोमा दृष्टि संबंधी एक शांत हत्यारे कि तरह होता है और जो अंधेपन का सबसे बड़ा मुख्य कारण है। इसके कभी भी किसी प्रकार के लक्षण नजर नहीं आते विशेषकर

आर्थोस्कोपी: जोड़ों के चोट के लिए काफी कारगर

मुबंई। सर्दियों में जोड़ों का दर्द अधिक सताता हैं. क्योंकि इन दिनों लोग आराम अधिक करते हैं और शारीरिक सक्रियता कम हो जाती है। दिन छोटे और रातें बड़ी होने

पेट के निचले भाग में दर्द कहीं पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम तो नहीं?

हर तीन में से एक महिला अपने जीवन के किसी स्तर पर पेल्विक पेन से पीडि़त होती है नई दिल्ली। पेट के निचले भाग में दर्द होने के कईं कारण

तुलसी का इस्तेमाल करना है खतरनाक, जानिए इसके नुकसान

Health Tips: भारतीय संस्कृति में तुलसी के पौधे का बहुत महत्व है. हिंदू धर्म में जहां इसे पूजनीय माना जाता है वहीं आयुर्वेद में इसका औषधि के रूप में इस्तेमाल

Research: Processed Food का गलती से भी न करें सेवन, हो सकती है मौत

नई दिल्ली। आज-कल हर किसी का शेड्यूल काफी बिजी हो गया है. इसकी वजह से शरीर को स्वस्थ (Healthy) रखना एक बड़ी चुनौती बन गया है. शरीर को स्वस्थ (Healthy)

आपको सर्दी में कम नमक का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए?

सर्दी का मौसम पसंदीदा पकवान से आनंदित होने का बिना किसी विचार के सही समय है. अक्सर हम सर्दी के दौरान थोड़ा ज्यादा खा लेते हैं. लेकिन ये उस वक्त

एक्टोपिक प्रेगनेंसी के खतरे को बढ़ाती है सिजेरियन डिलीवरी

एक्टोपिक प्रेगनेंसी के खतरे को बढ़ाती है सिजेरियन डिलीवरी फरीदाबाद। कुछ अज्ञात कारणों से प्रेगनेंसी गर्भाशय से बाहर विकसित हो सकती है, जिसकी संभावना लगभग 6% है। ऐसे मामलों में

Coronavirus: अल्कोहल से बने प्रोडक्ट की तरह अल्कोहल फ्री हैंड सैनेटाइजर भी वायरस को मारने में कारगर

कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत से ही विशेषज्ञ लोगों को हैंड सैनेटाइजर इस्तेमाल करने पर जोर दे रहे हैं. उनका कहना है कि वायरस को मारने के लिए हैंड सैनेटाइजर

आखिरी चरण के फेफड़ों के कैंसर से ग्रस्त मरीज को मिला नया जीवन

नई दिल्ली। विश्वस्तर पर सबसे अधिक मृत्युदर के साथ, फेफड़ों का कैंसर सबसे घातक कैंसरों में से एक माना जाता है। जागरुकता में कमी के कारण लोग इसके लक्षणों को

96 प्रतिशत मृत्युदर के साथ हेपेटाइटिस बी और सी दूसरी सबसे घातक बीमारी

नई दिल्ली: टीबी यानी ट्युबरक्युलोसिस की बीमारी के बाद हेपेटाइटिस दूसरी सबसे घातक बीमारी मानी जाती है। 96 प्रतिशत मृत्युदर के साथ, हेपेटाइटिस बी और सी की बीमारी दुनिया के

हरियाली तीज के दौरान महिलाओं को सौंदर्य टिप्स: शहनाज हुसैन

रियाली तीज 23 जुलाई गुरुबार को मनायी जा रही है साबन के महीने में धरती जब चारों ओर हरी चादर ओढ़ लेती है उस समय आस्था ,सौन्दर्य और प्रेम का

स्वास्थ्य जीवन के लिए गेंहू के ज्वार को अपनाए

स्वास्थ्य जीवन के लिए आप गेंहू के ज्वार को अपनी डाइट का हिस्सा बनाये।गेंहू का ज्वार पोषक तत्व का खजाना है।इसमे विटामीन ए, बी,सी,ई व आयरन,कैल्शियम, मैग्निशियम, पोटेशियम, प्रोटीन, क्लोरोफिल,

शहनाज़ हुसैन का विशेष इंटरव्यू

सवाल 1 : हमारे समाज में खासकर भारतीय समाज की बात करे तो गोरा ही सुंदरता का पैमाना रहा है। मेट्रोमैनियल एड में भी कहा जाता है – गौरवर्ण लड़की/लड़का

परम्परागत बाइपास तकनीक से बेहतर हुआ दिल की बीमारियों का इलाज

विजय न्यूज़ नेटवर्क नई दिल्ली। बदलती जीवनशैली के साथ लोग अक्सर अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाते हैं। परिणाम स्वरूप पिछले एक दशक में मध्यम आयु वर्ग की आबादी

Skip to toolbar