National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: विचार

Total 1773 Posts

झूठ सलीक़े से बोलोगे तो सच्चे कहलाओगे

केंद्र सरकार द्वारा जब से नये कृषि क़ानून बनाए गए हैं तभी से देश के अधिकांश किसान संगठन इन क़ानूनों का जमकर विरोध कर रहे हैं।  26-27-28 नवंबर को किसानों

अनियोजित शहरीकरण एवं गांवों की उपेक्षा के खतरे

कोरोना की उत्तरकालीन व्यवस्थाओं पर चिन्तन करते हुए बढ़ते पर्यावरण एवं प्रकृति विनाश को नियंत्रित करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए, इसके लिये बढ़ते शहरीकरण को रोकना एवं गांव आधारित जीवनशैली

सामयिक व्यंग्य: अर्णब की गिरफ्तारी

भला भारत में ऐसे भी पूछ सकता है कोई.. देशहित सर्वोपरि। राष्ट्रहित सर्वोपरि। मुल्क का भला। आपका भला। उंगली उठाने वाले खबरदार..क्योंकि पूछता है भारत। नमस्कार दोस्तों ! मैं हूं

जेब अगर हो ख़ाली, तो कैसा छठ कैसी दीवाली ?

 देश का सबसे बड़ा व सबसे पवित्र त्यौहार दीपावली आगामी 14 नवंबर को मनाया जा रहा है। दीपावली की गिनती उस सर्वप्रमुख त्यौहार में होती है जो देश की अर्थव्यवस्था

अब उदारवादी और राष्ट्रभक्त मुसलमान लड़ें इन कठमुल्लों से

फांस और इटली में जेहादी कठमुल्लों की करतूतों से सारी दुनिया स्तब्ध है। ये बेवजह कत्लेआम करने से बाज ही नहीं आ रहे है। ये बम विस्फोट और कत्लेआम किये

अर्थव्यवस्था के फिर से पटरी पर लौटने के संकेत

कोरोना वायरस के संक्रमण से जुड़ी खबरों ने फिलहाल थोड़ी राहत भले ही दी है, लेकिन खतरा टला नहीं है, इसके संकेत भी साफ है। जहां तक समाज एवं अर्थव्यवस्था

रात हलाला नेक है, उठते नहीं सवाल ! राम नाम की दक्षिणा,पर क्यों कटे बवाल !!

लव जिहाद और राणा जैसे बयान दो समुदायों के बीच नफरत पैदा करते है। यह किसी एक राज्य, देश या समुदायों तक सीमित नही बल्कि विश्व्यापी समस्या बनता जा रहा

रोजगार का सुनहरा स्वप्न कैसे साकार होगा?

बिहार के चुनाव का सबसे प्रभावी एवं चमत्कारी मुद्दा रोजगार बन रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने माहौल की नजाकत को समझते हुए अपने संकल्प पत्र में 19 लाख रोजगार

फ्रांस में निर्दोषों का गला काटने वालों का भारत में साथ देनेवाले कौन

अब यह तो सरासर ज्यादती ही कही जाएगी I कि भारत से हजारों मील दूर फ्रांस में सरकार और कठमुल्लों के बीच चल रही तनातनी के खिलाफ भारत के मुसलमानों का एक

सच उगलते पाकिस्तान का असली चेहरा

सच्चाई बाॅल की तरह होती है। उसे जितना दबाएंगे उतना ही उछलेगी। जिस पुलमावा विस्फोट की साजिश के सच को पाकिस्तान दुनिया से छिपाता रहा वह उसी के विज्ञान व

ये ‘चिराग़’ कोई चिराग़ है,न जला हुआ न बुझा हुआ ?

बिहार विधानसभा अत्यंत दिलचस्प दौर से गुज़र रहा है। भारतीय जनता पार्टी व जनता दल यूनाइटेड अर्थात राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का मुख्य रूप से जहाँ कांग्रेस + राष्ट्रीय जनता दल

लगातार महंगे होते चुनावों की त्रासदी!

चुनाव जनतंत्र की जीवनी शक्ति है। यह राष्ट्रीय चरित्र का प्रतिबिम्ब होता है। जनतंत्र के स्वस्थ मूल्यों को बनाए रखने के लिए चुनाव की स्वस्थता, पारदर्शिता और उसकी शुद्धि अनिवार्य

उदारता की बजाय पड़ोस में सजगता की जरूरत है।

पड़ोस में शांति हो, तो इन्सान चैन की नींद सोता है, लेकिन यह शांति तभी बनी रह सकती है, जब पड़ोसी के साथ-साथ हम भी शांति के पक्षधर हों और

 फिर प्रमाणित समाचार-पत्रों की विश्वनीयता

हमेशा ठगा तो दर्शक ही जाता है. चाहे वह टेलीविजन का हो या फिर क्रिकेट का. निश्चित रूप से याद आया होगा कुछ साल पहले बेहद चर्चाओं में रहा एक

बल्लभगढ़ से यूरोप तक फैले इस्लामिक जेहादी

किसी युवक-युवती में प्रेम होना या एकतरफा प्रेम होना सदियों का चली आ रही सामान्य बातें हैं। यह भी होता है कि अनेकों बार एक-दूसरे के चाहने वालों में कई

राष्ट्रीय एकता के महान शिल्पकार सरदार पटेल

भारतीय राष्ट्र की स्वतंत्रता के लिए सरदार बल्लभ भाई पटेल ने देशवासियों में जो प्रेम, स्वाभिमान व सेवा की भावना पैदा की, वह उनकी राष्ट्रभक्ति व समाजभक्ति की अटूट मिसाल

डोनाल्ड ट्रंप की भारत आलोचना के निहितार्थ

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव बहुत दिलचस्प मोड़ पर पहुंच चुका है। तीन नवम्बर को अमेरिका की आम जनता नए राष्ट्रपति का चुनाव करने के लिए मतदान करेंगी।

यूँ हीं नहीं कोई नीतीश कुमार बन जाता

बदलते हुए बिहार के लोकप्रिय चेहरा हैं नीतीश कुमार अपने दृढ़ विश्वास से लवरेज होकर वेदाग दमदार काम का वखान अपने शब्दों में करते हैं ।कौन भूल सकता है 1990

भारत के ब्रांड एंबेसेडर ही बने रहे भारतवंशी तो बेहतर

न्यूजीलैंड की संसद में भारतवंशी के पहुंचने का मतलब न्यूजीलैंड के आम चुनाव में जैसिंडा आर्डर्न की लेबर पार्टी विजय रही है। उसे 49.1% वोट मिले हैं, जो कि करीब 64

सनातन संस्कृति के प्रकाशपूंज हैं प्रभु श्रीराम

कौशल्यानंदन भगवान श्रीराम परब्रह्म और ईश्वर हैं। संसार के समस्त पदार्थों के बीज और जगत के सूत्रधार हैं। सनातन धर्म की आत्मा और परमात्मा हैं। शास्त्रों में उन्हें साक्षात ईश्वर

लघुकथा – अम्बे माँ का जगराता

 हमेशा की तरह हाथ में कपड़ो से भरा हुआ पुराना बैग लिए राजू के पड़ोस की सरोज अम्मा उसके पास से जा रही थी।सरोज रोज के मुकाबले आज बहुत ही

Skip to toolbar