National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: विचार

Total 1517 Posts

सब याद रखा जाएगा, याद रखिए!!!

कोई भी समस्या जब भी आती है तो हमें कुछ न कुछ समझाकर ही जाती है।कोरोना रूपी महामारी भी कुछ इसी तरह की है।इसी बीच कुछ बेहद डरावनी खबरें भी

कोरोना से घायल होता वैश्विक अर्थव्यवस्था

मानव के साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था को बीमार करने में कोरोना का महत्वपूर्ण योगदान है। कोरोना वायरस महामारी इस सदी का सबसे बड़ा वैश्विक संकट है। इसका विस्तार और गहराई बहुत

तुसी ग्रेट हो लेखक जी…!

लॉकडाउन के बीच घर में अच्छा समय बीत रहा है।सरकार के निर्देशों का हर भारतवासी पालन कर रहा है।कल रात खाना खाने के बाद घर की छत पर आकर प्रकृति

करोना संकट : खौफ का पैदल मार्च

प्रधानमंत्री द्वारा 24मार्च,2020 की रात्रि को अचानक सम्पूर्ण “लॉक डाउन”घोषित होते ही साधन संपन्न वर्ग एकदम बाजार की तरफ भागा और अपनी सामर्थ्य के हिसाब से आवश्यक वस्तुओं को लाकर

कोरोना: नियम समान व जनहितकारी हों

कोरोना अर्थात कोविड-19 वायरस की भयावहता ने पूरे विश्व को न केवल दहशत में डाल दिया है बल्कि इसने पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था की कमर भी तोड़ कर रख दी

इंसानियत का आईना बन रहे हैं सेवा भावी लोग

समाज के मानवीय गुणों से भरे लोगों को और उनके प्रणम्य कार्यो को इस संकट की घड़ी में हम सकारात्मकता पूर्वक ले जिससे हम निराश न हो। कोरोना महामारी ने

छात्रों के लिए खास है ये समय

समय का सदुपयोग करना ही समझदारी कहा जाता है और समझदार ही इंसान की श्रेणी में शुमार किया जाता है।वर्तमान वक्त थोड़ा बेरहम चल रहा है लेकिन फिर भी घबराने

मन की बात… आप भी जऱा सुनें, पढ़ें….!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश में इक्कीस दिनों का लॉकडाउन किया है। फिलहाल लॉकडाउन ही कोरोना को रोकने का एकमात्र हथियार है,

खुला पत्र अदृश्य कोरोना के नाम…!

हे कोरोना जी नमस्ते ! हम आपको डिटॉल से अपने हाथ साफ करने के बाद अपने सेनेटाइज हाथ जोड़कर दूर से ही विशालकाय नमस्ते फेंकते हैं जी। हमारी सनातन संस्कृति

कोरोना से लड़ाई में आत्मानुशासन और हर घर स्वास्थ्य सुविधा की जरूरत

दुनिया आज कोरोना वायरस के संकट से उपजे प्रतिकूल परिस्थिति में जीवन यापन करने को विवश हो चुकी है।पूरी दुनिया के वैज्ञानिक दिन रात इसके निदान खोजने में एक किए

ये कदम भी उठाने जरुरी हैं जनाब!!

हमारे यहाँ एक कहावत है कि–इलाज से परहेज बेहतर है।सही है लेकिन परहेज ऐसा भी ना हो कि परहेज ही बीमार के लिए मुसीबत बन जाए। एक कोरोना वायरस क्या

चाह मिटी, चिंता मिटी मनवा बेपरवाह

दुनिया के सबसे पावरफुल कहलाने वाले अमरीका ने हाल ही में लॉकडाउन(बंद) से इनकार किया है और अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि लॉकडाउन से मुल्क बर्बाद

अप्रत्याशित संकटों के अनुभवों से भावी सीख

अभावग्रस्त और संकटकालीन जीवन का अनुभव मानव जाति को भावी आपदाओं और उनसे उत्पन आनुषंगिक परिस्थितियों के कारण और निवारण हेतु लड़ाई लड़ने का हौसला अवश्य पैदा करता है। करोना

राजस्थान का प्रमुख लोकोत्सव गणगौर

27 मार्च गणगौर पर्व पर विशेष राजस्थान में गणगौर का पर्व लोकोत्सव के रूप में सदियों से मनाया जाता रहा है। विवाहित व अविवाहित सभी आयु वर्ग की सुहागिन महिलायें

कोरोना से भारत की दोहरी चुनौती

हम सदी के सबसे बड़े संकट में हैं पूरी मानवता सहमी हुयी हैं, खुद को पृथ्वी की सबसे शक्तिशाली जीव समझने वाली प्रजाति आज एक वायरस के सामने बेबस और

कोरोना ने विज्ञान को कटघरे में खड़ा किया

कभी कभी दुनिया कुछ ऐसी बीमारियां जन्म ले लेती है जिनका जवाब डॉक्टर तो दूर विज्ञान के पास भी नही होता । कुछ ऐसा ही वर्तमान में नजर आ रहा

हास्य-व्यंग्य : कोरोना भगाओ यज्ञ का आयोजन

फिलहाल हम लोग कोरोना को भगाने के लिए अपनी कालोनी में आध्यात्मिक प्रयास बहुत तेज कर दिए हैं। पूजा-पाठ निरन्तर सबके घरों में दिन-रात हो रहा है। घर-घर से चंदा

व्यंग्य लेख  : श्री श्री श्री कोरोना महाराज!

यशवंत फिल्म का एक डायलॉग है- एक मच्छर साला आदमी को हिजड़ा बना देता है। गनीमत मनाइए कि कम-से-कम यहाँ एक मच्छर तो है, जो हमें नंगी आँखों से दिखायी

फांसी पर मानवाधिकार संगठनों के विलाप का औचित्य ?

जब भी हमारे देश भारतवर्ष में अथवा मृत्यु दंड देने वाले किसी भी देश में किसी व्यक्तिअपराधी को मृत्यु दंड दिए जाने की ख़बर सुनाई देती है उसी ख़बर के