National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: डॉ अजय खेमरिया

Total 29 Posts

मिशनरी विद्वानों के परकोटे में कैद अंबेडकर का राष्ट्रीय दर्शन

डॉ. बी. आर. अम्बेडकर पुण्यतिथि 6 दिसम्बर पर विशेष क्या डॉ. बी.आर. अंबेडकर सिर्फ दलित नेता थे ? और थोड़ा सुने तो भारत के संविधान के निर्माता। सरकारी इश्तहारों और

धारा 151 और 323 506 बी के दिन अब गिनती के बचे है

गृहमंत्री अमित शाह ने भारत की मौजूदा आईपीसी और सीआरपीसी में आमूल चूल परिवर्तन के मसौदे पर काम करना शुरू कर दिया है।लख़नऊ में आयोजित47वी पुलिस साइंस कांग्रेस के समापन

डेढ़ सौ साल बाद अब बदलेगी हमारी पुलिस

अमित शाह अंग्रेजी राज के अवशेष को खत्म करने की तैयारी मेंं गृहमंत्री अमित शाह ने भारत की मौजूदा आईपीसी और सीआरपीसी में आमूल चूल परिवर्तन के मसौदे पर काम

यूपी,बिहार की तरह महाराष्ट्र में शरद राव के आगे सरेंडर करती दिखी कांग्रेस

महाराष्ट्र की सियासी महाभारत में कांग्रेस को क्या हांसिल हुआ है ?यह सवाल इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि शिवसेना को तो सीएम की कुर्सी चाहिये थी, जो उसे मिल गई। और

महाराष्ट्र के नैतिक सन्देश को समझने की ईमानदारी दिखाए बीजेपी

हर कीमत पर सरकार बनाना वैचारिकी के भी विरुद्ध है क्या महाराष्ट्र में मिली शिकस्त से बीजेपी का आला नेतृत्व आत्मचिंतन की ओर उन्मुख होगा?यह सवाल आज इस पार्टी के

दर्द देता निचला प्रशासन और सत्ता की बीन बजाती अफसरशाही

तथ्य एक: मप्र में पिछली बीजेपी सरकार द्वारा शुरू की गई “संबल योजना” में लगभग 80 फीसदी हितग्राहियों को हटाने की करवाई कमलनाथ सरकार कर रही है।अकेले शिवपुरी जिला मुख्यालय

ब्यूरोक्रेटिक एक्टिविज्म के विरुद्ध मप्र में डॉक्टरों का सत्याग्रह कितना तार्किक

लोकस्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा को आईएएस से मुक्त कराने का अभियान सामयिक औऱ तार्किक भी है। मप्र में सरकारी औऱ गैर सरकारी डॉक्टर्स इन दिनों ब्यूरोक्रेसी के विरुद्ध लामबंद हो

सूचना अधिकार: सुप्रीम कोर्ट ,जबाबदेह तंत्र और असली चुनौती की दुरभिसंधि

*अफसरशाही की शरणस्थली बनी सूचना अधिकार की सुविधाएं* *मुल्क की जनता के लिये आज भी औपनिवेशिक ही है प्रशासन तंत्र का ढांचा* भारत का सुप्रीम कोर्ट सूचना के अधिकार कानून

गौरी, ग़जनी की जगह कलाम, और हमीद क्यों नही मेरे मुल्क की पहचान!

*अयोध्या निर्णय :अवसर है एक भारत श्रेष्ठ भारत के उद्घोष का* अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक निर्णय भारत के हिन्दू और मुसलमानों के लिए एक ऐसा अवसर है जहां

अयोध्या निर्णय:सेक्यूलर चश्मे से भी समझने की आवश्यकता

इस निर्णय ने नकली सेक्युलरिज्म को बेनकाब कर दिया है अयोध्या पर भारत की सर्वोच्च अदालत के निर्णय को आज सेक्युलरिज्म के चश्मे से भी देखने की आवश्यकता है।यह वही

अयोध्या निर्णय:सेक्यूलर चश्मे से भी समझने की आवश्यकता

रामलला भी जीते है और इमामे हिन्द भी इस निर्णय ने नकली सेक्युलरिज्म को बेनकाब कर दिया है अयोध्या पर भारत की सर्वोच्च अदालत के निर्णय को आज सेक्युलरिज्म के

यौन आक्रमण से ख़ौफ़ज़दा भारत की बेटियां.. औऱ गांधी की उदात्त काम ऊर्जा

“मैं जिस यौन शिक्षा का समर्थन कर रहा हूं उसका ध्येय काम के आवेग को जीतना औऱ उसका उदात्तकरण करना है इस शिक्षा से बच्चों के मन मे अपने आप

 ईयू सांसदों के चरित्रहनन की दुर्भाग्यपूर्ण राजनीति

कश्मीर दौरे पर आए यूरोपियन यूनियन के संसदीय प्रतिनिधि मंडल को लेकर जो विवाद की स्थिति देश के राजनीतिक एवं मीडिया जगत में देखी गई वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।अपनी पत्रकारवार्ता

एक पड़ताल : आखिर क्यों थोक में हार जाते है मंत्री

सीएम औऱ सचिवालय से हारता मंत्री पद ? *तथ्य एक:हरियाणा के 11 में आठ मंत्री चुनाव हार गए।बीजेपी बहुमत से छः विधायक पीछे रह गई। *तथ्य दो:महाराष्ट्र में 7 मंत्री

मप्र की सियासत में फिर साबित हुई दिग्गिराजा की बादशाहत

झाबुआ उपचुनाव ने फिर साबित की मप्र में दिग्विजय की पकड़ मप्र में उपचुनाव की जीत से बढ़ी गई कांग्रेस सरकार का स्थायित्व मप्र में कमलनाथ सरकार के लिये संजीवनी

महाराष्ट्र चुनाव में कांग्रेस की दुर्गति के आधार बिंदु

क्या वामपंथ को आउटसोर्सिंग पर उठा दी गई है कांग्रेस पार्टी ? कांग्रेस की महाराष्ट्र में पराजय का एक कोण सावरकर भी है  कांग्रेस महाराष्ट्र में चुनाव हार गई। वह 

चिकित्सा शिक्षा में फैकल्टी की कमी पूरा कर सकते है 70 हजार डिप्लोमा डॉक्टर्स

हकीकत यह है कि आज सभी कॉलेजों में पढ़ाने के लिये फैकल्टी है ही नही देश की चिकित्सा शिक्षा से मेडीकल काउंसिल ऑफ इंडिया के विघटन के बाद भी तमाम

मप्र में फेल होते शिक्षक और अक्षर ज्ञान से दूर मिडिल के बच्चे

मप्र में लाखों बच्चे बुनियादी शिक्षा से वंचित है मप्र में हजारों  सरकारी शिक्षक दक्षता संवर्धन परीक्षा में फेल हो गए तब जबकि उन्हें किताब अपने साथ ले जाकर इस

संघ में छिपे हुए गांधी को समझे बिना मोदी से कैसे लड़ेगा विपक्ष?

महात्मा गांधी 150 वी जयंती पर आरएसएस के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत ने बकायदा लेख लिखकर गांधी के प्रति अपनी वैचारिक और कार्यशील प्रतिबद्धता को सार्वजनिक किया।इस बीच हैश टेग

गांधी औऱ संघ एक विवेचन

महात्मा गांधी 150 वी जयंती पर आरएसएस के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत ने बकायदा लेख लिखकर गांधी के प्रति अपनी वैचारिक और कार्यशील प्रतिबद्धता को सार्वजनिक किया।इस बीच हैश टेग

वारिसों की नाफरमानी के बाद भी जेपी की वैचारिकी खारिज नही हुई है

11 अक्टूबर जेपी जयंती सम्पूर्ण क्रांति का विचार जेपी के वारिसों का स्खलन है देश ने अपनी  आजादी के स्वर्णिम आंदोलन के  बाद जिस महान नेता को लोकनायक के रूप

Translate »