National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: नृपेन्द्र अभिषेक नृप

Total 6 Posts

शिकागों में स्वामी विवेकानंद

“उठो, जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाये।” विवेकानंद की यह पंक्तियां आज भी युवाओं को ऊर्जावान करने में काफी उपयोगी है। उस समय

कोरोना से घायल होता वैश्विक अर्थव्यवस्था

मानव के साथ वैश्विक अर्थव्यवस्था को बीमार करने में कोरोना का महत्वपूर्ण योगदान है। कोरोना वायरस महामारी इस सदी का सबसे बड़ा वैश्विक संकट है। इसका विस्तार और गहराई बहुत

विश्व के लिए बड़ी चुनौती है कोरोना

कोरोना ने कितने लोगों के जीवन रस को चूस कर नारंगी के छिलके की तरह दरकिनार कर दिया है और मानव प्रजाति के समक्ष संकटो को अम्बार दिख रहा है

रंगों का महान त्योहार होली का बदलता स्वरूप

होली एक उत्सव या त्यौहार है जो वास्तव में भारत ही नहीं बल्कि पूर उपमहाद्वीप को अपने रंग में सराबोर करता है। हिन्दुस्तान में जो त्यौहार सही मायनों में गंगा-जमुनी

संसार के लिए पूजनीय है महिलाएं

“नारी तुम प्रेम हो, आस्था हो, विश्वास हो, टूटी हुई उम्मीदों की एकमात्र आस हो।” अपनी ममता और आंसुओ से देश का बचपन सँवारने वाली औरत , मां , बेटी

जातिवाद और परिवारवाद से घायल भारतीय राजनीती

जातिवाद और परिवारवाद की बीमारी ने भारतीय राजनीति को चूस चूस कर नारंगी के छिलके की तरह दरकिनार कर दिया है और बर्तमान में भारतीयो के विकास रूपी सपनो का

Skip to toolbar