National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: बाल मुकुन्द ओझा

Total 185 Posts

जागरूकता से होगी उपभोक्ता अधिकारों की रक्षा

विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस हर साल 15 मार्च को उपभोक्ताओं के हित में आवाज उठाने और अपने अधिकारों की सुरक्षा के लिए मनाया जाता है। इस वर्ष भारत में मोदी

स्वस्थ जीवन शैली अपनाकर किडनी बचाएं

विश्व किडनी दिवस प्रत्येक वर्ष मार्च माह के दूसरे गुरूवार को मनाया जाता है। इस वर्ष 12 मार्च को यह दिवस मनाया जायेगा। इस दिवस का मुख्य उद्देश्य लोगों को

होली भी मनाएंगे और कोरोना को भी हराएंगे

देशवासी होली का पर्व इस बार कोरोना वायरस के साये में मना रहे है। लोगों का कहना है होली भी मनाएंगे और कोरोना को भी हराएंगे। होली जैसे जनता से

महिला समानता और सामाजिक योगदान

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है। भले ही सन 1910 से यह दिवस मनाया जा रहा है, अगर आंकड़ों पर गौर करें तो दिल दहल जायेगा। हकीकत

हंसी, ठिठोली, राग-रंग, हुल्लड़ और मौजमस्ती का त्योहार है होली

होली हंसी, ठिठोली, मजाक, रंग-राग, आनंद-उमंग, दिल्लगी और हुल्लड़ का त्योहार है। होली का पर्व हो और मौजमस्ती ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता। होली और हास्य-मस्ती का चोली-दामन

दिल दहला देने वाली है रेल में रेप की वारदातें

देश के हर एक कोने में आये दिन हो रही रेप की वारदातें लड़कियों की सुरक्षा पर एक बड़ा सवाल खड़ा करती दिख रही हैं। देश में महिला सुरक्षा को

भीख, भिक्षा और दान

आज कल भिक्षावृत्ति की समस्या दिनों-दिन जटिल होती जा रही है। कुछ लोग तो अशक्त होने पर भीख मांगने पर मजबूर होते हैं। तीर्थ स्थानों, धार्मिक स्थलों, मंदिरों में तो

बजरी माफिया के आगे सरकार का समर्पण

राजस्थान में बजरी खनन पर सियासी घमासान शुरू हो गया है। ऐसा लगता है जैसे बजरी माफिया के आगे सरकार ने समर्पण कर दिया है। पक्ष और विपक्ष में एक

स्कूली छात्रों पर मंडराया डायबिटीज का खतरा

अभिभावक सावधान हो जाये क्योंकि एक खतरनाक बीमारी ने छात्रों को अपने चंगुल में फंसाना शुरू कर दिया है। छात्र एक ऐसी बीमारी में फंसने जा रहे है जो देखने

बच्चे से बुजुर्ग तक वायु प्रदूषण से आहत

वायु प्रदूषण का खतरा अब घर घर मंडराने लगा है। देश और विदेशों की विभिन्न ग्लोबल एजेंसियों द्वारा वायु प्रदूषण के खतरे से बार बार आगाह करने के बावजूद न

पठन पाठन को स्टूडेंट्स फ्रेंडली बनाने की कवायद

पठन पाठन को स्टूडेंट्स फ्रेंडली बनाने के लिए सरकार तरह तरह के प्रयोग करने में जुटी है ताकि स्कूली बच्चों को बेहतर शैक्षिक, सकारात्मक और आनंददायक वातावरण मिल सके। इसी

पौष्टिक आहार स्वस्थ जीवन का आधार

पौष्टिक आहार को लेकर दुनियां में व्यापक हलचल मची है। आहार मनुष्य की सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण आधारभूत आवश्यकता है जिसके बिना कोई भी प्राणी जीवन की कल्पना नहीं कर सकता है।

तम्बाकू उत्पादों के सेवन पर कानूनी लगाम

देश में हर वर्ष तंबाकू उत्पादों के सेवन से होने वाली विभिन्न बीमारियों की वजह से करीब 10 लाख लोगों की अकाल मौतों और तम्बाकू के दुष्परिणामों को देखते हुए

बच्चों के विकास सूचकांक में गिरावट

मोदी के शासन का यह दूसरा कार्यकाल है। इन छह वर्षों में लगातार कहा गया की भारत खुशहाली के मार्ग पर निरंतर आगे बढ़ा है। मगर संयुक्त राष्ट्र से जुड़ी

सात संकल्पों का आगाज तो अच्छा है अंजाम खुदा जाने

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को राज्य विधानसभा में प्रस्तुत राज्य के वर्ष 2020-21 के सालाना बजट में राहत का पिटारा खोल दिया है। गहलोत ने बजट पेश

केजरीवाल का महानायक का नया अवतार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक बार फिर नए अवतार की भूमिका में देश विदेश में चर्चा में हैं। उन्होंने चुनावी इतिहास में प्रचंड बहुमत के साथ लगातार तीसरी बार

देश के स्वस्थ और सदृढ़ भविष्य को संवारते है खेल

हमारे देश की आबादी सवा अरब को पार कर गई है। इतनी बड़ी आबादी वाले देश में खेलों के प्रति युवाओं की रूचि दिन प्रतिदिन घटती जा रही है। युवाओं

अपराधी होंगे बेपर्दा

देश में दागी सियासत सुर्खियों में है। ऐसा लगता है आपराधिक पृष्ठभूमि वाले नेताओं के सामने राजनीतिक दल नतमष्तक हो गए है। सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर इस सम्बन्ध

बेलगाम महंगाई से बिगड़ा रसोई का बजट

देश में महंगाई का कहर जारी है। आर्थिक तंगी से जूझ रहे देशवासियों को महंगाई ने बेहाल कर रखा है। आर्थिक मोर्चे पर विफलता और बढ़ती बेरोजगारी से आहत मोदी

बजरंग बली के जयकारे से भाजपा धराशायी

दिल्ली विधान सभा चुनाव में राम पर हनुमान भारी पड़े। भाजपा को आप ने उसी के हथियार से करारी शिकस्त दी। भाजपा का एक लोकप्रिय नारा जय श्रीराम का उद्घोष

साहित्यिक पत्रकारिता की मशाल

पत्रकारिता ने भारत को आजादी दिलाने के अलावा हिंदी को भाषा का संस्कार दिया है। आजादी के आंदोलन के दौरान अखबारों में साहित्य को महत्व दिया जाता था। बड़े-बड़े साहित्यकारों