National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: बाल मुकुन्द ओझा

Total 170 Posts

केजरीवाल का महानायक का नया अवतार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक बार फिर नए अवतार की भूमिका में देश विदेश में चर्चा में हैं। उन्होंने चुनावी इतिहास में प्रचंड बहुमत के साथ लगातार तीसरी बार

देश के स्वस्थ और सदृढ़ भविष्य को संवारते है खेल

हमारे देश की आबादी सवा अरब को पार कर गई है। इतनी बड़ी आबादी वाले देश में खेलों के प्रति युवाओं की रूचि दिन प्रतिदिन घटती जा रही है। युवाओं

अपराधी होंगे बेपर्दा

देश में दागी सियासत सुर्खियों में है। ऐसा लगता है आपराधिक पृष्ठभूमि वाले नेताओं के सामने राजनीतिक दल नतमष्तक हो गए है। सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर इस सम्बन्ध

बेलगाम महंगाई से बिगड़ा रसोई का बजट

देश में महंगाई का कहर जारी है। आर्थिक तंगी से जूझ रहे देशवासियों को महंगाई ने बेहाल कर रखा है। आर्थिक मोर्चे पर विफलता और बढ़ती बेरोजगारी से आहत मोदी

बजरंग बली के जयकारे से भाजपा धराशायी

दिल्ली विधान सभा चुनाव में राम पर हनुमान भारी पड़े। भाजपा को आप ने उसी के हथियार से करारी शिकस्त दी। भाजपा का एक लोकप्रिय नारा जय श्रीराम का उद्घोष

साहित्यिक पत्रकारिता की मशाल

पत्रकारिता ने भारत को आजादी दिलाने के अलावा हिंदी को भाषा का संस्कार दिया है। आजादी के आंदोलन के दौरान अखबारों में साहित्य को महत्व दिया जाता था। बड़े-बड़े साहित्यकारों

जुड़वाँ भाई है शराब और अपराध

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने शराब को सभी पापों की जननी कहा है। गांधीजी कहते हैं शराब शारीरिक, मानसिक, नैतिक और आर्थिक दृष्टि से मनुष्य को बर्बाद कर देती है। शराब

सरकारी बंगलों पर अवैध कब्जे मुफ्त का चन्दन घिस मेरे नंदन

दिल्ली हाईकोर्ट ने राजधानी में 576 सरकारी बंगलों पर रिटायर्ड अधिकारियों और पूर्व सांसदों के अवैध कब्जे को लेकर नाराजगी जाहिर करते हुए केंद्र सरकार को कड़ी फटकार लगाई है

जान हथेली पर रख कर चलते है लोग

हमारे देश में भाग्य भरोसे सड़क सुरक्षा हो गई है। सड़क पर निकलने वाले किसी भी व्यक्ति को यह मालूम नहीं है की वह सुरक्षित अपने घर पहुँच ही जायेगा।

पॉर्न से महिलाओं अपराधों में इजाफा

इंटरनेट के इस युग में जहां एक तरफ देश ज्ञान विज्ञान की नई ऊंचाइयां छू रहा है, वहीं इसका दुरूपयोग बेहद डरावना है। एक रिपोर्ट के मुताबिक देश का युवा

वाहनों के धुएं से जन जीवन पर मंडराया खतरा

हमारे देश में जब वाहनों की संख्या सीमित थी तब आबोहवा भी साफ और सुरक्षित थी। घर घर और गली गली में पेड़ लगे थे जो किसी भी धुएं के

बजट ने फिर दिखाया अच्छे दिनों का सपना

अर्थव्यवस्था की चुनौतियों के बीच मोदी सरकार ने शनिवार को अपने पांच साला कार्यकाल के पहले बजट का आगाज कर दिया है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी

अर्श से फर्श में विलीन होता वामपंथी आंदोलन

जेएनयू आंदोलन और खबरिया चैनलों पर कम्युनिष्टों की दहाड़ देखकर यह भ्रम होना स्वाभाविक है की वामपंथी ताकतें अभी वजूद में है। हालाँकि यह एक सपना सा लगता है क्योंकि

बदनीयती से नहीं प्यार से आगे बढे

देश में इस समय जैसा सियासी वातावरण बन रहा है वह निश्चय ही हमारी एकता, अखंडता और सहिष्णुता पर गहरी चोट पहुँचाने वाला है। इसके लिए कौन दोषी है और

खुशियों का खजाना है परिवार

परिवार एक बार फिर वैश्विक चर्चा का विषय बन गया है। मीडिया में आरही खबरों के अनुसार जनसँख्या विस्फोट, शहरीकरण और सोशल मीडिया को एक हद तक परिवार के विखंडन

राजनीति का अपराधीकरण : सैयां भये कोतवाल तो डर काहे का

राजनीति के अपराधीकरण पर गाहे बगाहे मीडिया में एक बार सुर्खिया बनती है और फिर यह प्रकरण ठंडे बस्ते में समा जाता है। ताजा मामला देश के सुप्रीम कोर्ट द्वारा

गणतंत्र की चुनौतियां और हमारे संवैधानिक दायित्व

हमारा देश 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मानाने जा रहा है। इस दिन भारत को गणतांत्रिक राष्ट्र घोषित किया गया था। इसी दिन स्वतंत्र भारत का नया संविधान लागू हुआ

बालिकाओं की सुरक्षा सबसे बड़ा सवाल

राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय दिवस मनाना आजकल फैशन हो गया है। कुछ दिवस सिर्फ एक दिन तक सीमित रहता है और कुछ पूरे साल हमारे इर्द गिर्द घूमता रहता है। ऐसा

बढ़ती बेरोजगारी दुनिया के लिए खतरे की घंटी

रोजगार के लिहाज से विश्व के लिए यह साल निराशाजनक साबित हो सकता है। एक वैश्विक रिपोर्ट में विश्व में अर्थव्यवस्था की सुस्ती के फलस्वरूप बेरोजगारी के आंकड़ों में चैंकाने

गालियों की गंगा में डुबकी लगाने की प्रतियोगिता

देश में नागरिकता अधिनियम और जनसंख्या रजिस्टर को लेकर बयानबाजी बेकाबू होती जा रही है और नेताओं के बोल जहरीले होते जा रहे हैं। राजनीति की इस फिजां में कहीं

इंटरनेट के ज्यादा इस्तेमाल से पढ़ाई हुई चौपट

इंटरनेट क्रांति ने सूचना तकनीक के क्षेत्र में जहाँ नए आयाम स्थापित किये है वहां इसके दुष्परिणामों से भी दो दो हाथ करने पड़ रहे है। विशेषकर पढ़ने वाले बच्चे

Translate »