National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: बाल मुकुन्द ओझा

Total 148 Posts

कक्षा एक के 60 फीसदी बच्चे नहीं पढ़ पाते अक्षर

देश की स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर किए जा रहे तमाम प्रयासों के बावजूद इसमें कोई विशेष सुधार नजर आ रहा है। आज भी पांचवी कक्षा तक के बच्चे

मोदी करेंगे महंगाई से दो-दो हाथ

भारत की राजसत्ता दूसरी बार सँभालने के बाद भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगता है महंगाई से दो दो हाथ करने पड़ रहे है। जन साधारण को फिलहाल

मकर संक्रांति पर गरीबों और जरूरतमंदों को दान पुण्यकारी

भारत त्योहारों का देश है जिसमें देशवासी उमंग और उत्साह के साथ शामिल होकर अपनी खुशियों का इजहार करते है। लोकमंगल के त्योहार देश की सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक बुनियाद

अर्थव्यवस्था की मजबूत बुनियाद पर सरकार आशान्वित

भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर देशी और वैश्विक संस्थाओं के दावों और प्रतिदावों के बीच भारत सरकार को अभी भी आशा है की हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत है और इसे स्थिरता

अमेरिका ईरान तनातनी में राहत का सुकून

अमेरिका और ईरान में बढ़ती युद्ध की आहट लगता है एक बारगी थम गई है। इससे दुनिया विशेषकर भारत ने राहत की सांस ली है। ईरान के हमले के बाद

ऑस्ट्रेलिया के दावानल ने दी ग्लोबल वार्मिंग की चेतावनी

ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में पांच माह से लगे दावानल ने दुनिया को ग्लोबल वार्मिंग के महाखतरे से आगाह कर दिया है। वहां लगी आग बुझने का नाम नहीं ले रही

वन से मिली खुशियों की सौगात

मानव जीवन इस समय अनेक संकटों से घिरा है। आबादी विस्फोट हो या बेहताशा शहरीकरण, बाढ़ हो या सूखा, गरीबी और भुखमरी, स्वास्थ्य सम्बन्धी दिक्कतें अथवा जलवायु परिवर्तन मनुष्य को

आदिवासी युवाओं के मददगार बने आदान प्रदान कार्यक्रम

भारत में आदिवासी संस्कृति की अपनी विशिष्ट पहचान है। यह जनजाति लोगों का एक ऐसा समूह है, जिनकी भाषा, संस्कृति, जीवनशैली और सामाजिक-आर्थिक स्थिति भिन्न है। मगर देशभक्ति और राष्ट्र

संवादहीनता ने उजाड़ी परिवार की खुशियां

सियासी प्रगति की अंधी दौड़ में हमने दुनिया को अवश्य अपनी मुट्ठी में कर लिया है मगर संवादहीनता के चलते परिवार नामक संस्था से विमुख होते जा रहे है। इसी

दुनिया ने समझा तम्बाकू के दुष्परिणाम

वैश्विक संगठन खानपान, मिलावट, नशा, गरीबी, कुपोषण, पर्यावरण और स्वास्थ्य सम्बन्धी विभिन्न दुष्परिणामों से देश और दुनिया को समय समय पर चेताता और जगाता रहता है। संयुक्त राष्ट्र संघ के

घूंघट शोषण का प्रतीक है या मर्यादा का

घूंघट इज्जत और शर्म का प्रतीक है या गुलामी का इस पर देशव्यापी बहस शुरू हो गई है। भारत में शैक्षिक क्रांति के बाद महिलाएं घूंघट से बाहर निकली मगर

लोहिया के संघर्षों की गाथा है गोवा मुक्ति आंदोलन आंदोलन

भारत अंग्रेजी दासता से 1947 में आजाद हो गया था मगर गोवा को भारत की आजादी के 14 वर्षों बाद स्वतंत्रता के दर्शन हुए। पुर्तगालियों ने 451 सालों तक गोवा

गहलोत राज में केंद्र राज्य संबंधों में बिगाड़

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार 17 दिसंबर को अपने शासन की पहली वर्षगांठ मनाने जा रही है। इस अवसर पर शासन की उपलब्धियों के साथ केंद्र और राज्य के आपसी

भूजल का गिरता स्तर चिंता का सबब

तेजी से गिरता भूजल स्तर दुनियाभर के लिए चिंता का सबब बना हुआ है। भूजल का अनियंत्रित और अंधाधुंध दोहन होने से स्थिति और भी भयावह हो गई है। भारत

बचपन को सुरक्षित रखने के यूनिसेफ के प्रयास

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष को हम यूनिसेफ के नाम से भी जानते है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने यूनिसेफ को बाल अधिकारों के संरक्षण, समुचित विकास के अवसर उपलब्ध करने, बुनियादी

हैवानों के मानवाधिकारों पर गरमाई सियासत

मानव अधिकारों को पहचान देने और उसके हक की लड़ाई को ताकत देने के लिए हर साल 10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाया जाता है। दुनियाभर में मानवता के

व्यंग्य : इतना अँधेरा क्यों है भाई

आज हर कोई पूछ रहा है देश और समाज में इतना अँधेरा क्यों है भाई। अँधेरे की परिभाषा भी अलग अलग निकाल रहे है भाई लोग। सियासत में अँधेरे की

जिन्दगी पर भारी पड़ रही हादसों की रफ्तार

देश में सड़कों और हाईवे की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है। इसी के साथ हादसों की रफ्तार भी थमने का नाम नहीं ले रही। एक सर्वे रिपोर्ट की माने

मिलावट को लेकर भयभीत है आमजन

देश भर में मिलावट को लेकर आमजन अभी भी भयभीत है और उसे विश्वास नहीं है की वह जो खा रहा है वह शुद्ध है। खाद्य नियामक एफएसएसएआई की एक

विश्व एड्स दिवस : जागरूकता ही बचाव है

विश्व एड्स दिवस हर साल 1 दिसंबर को मनाया जाता है। इसे मनाए जाने का मुख्य मकसद लोगों को एचआईवी संक्रमण से होने वाली बीमारी एड्स के बारे में जागरूक

सेहत का दुश्मन है धूम्रपान

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने वाले ‘इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट (उत्पादन, विनिर्माण, आयात, निर्यात, परिवहन, विक्रय, वितरण, भंडारण एवं विज्ञापन ) प्रतिबंध विधेयक’ को लोकसभा ने पारित कर दिया। स्वास्थ्य एवं परिवार

Translate »