National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: ललित गर्ग

Total 88 Posts

अनियोजित शहरीकरण एवं गांवों की उपेक्षा के खतरे

कोरोना की उत्तरकालीन व्यवस्थाओं पर चिन्तन करते हुए बढ़ते पर्यावरण एवं प्रकृति विनाश को नियंत्रित करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए, इसके लिये बढ़ते शहरीकरण को रोकना एवं गांव आधारित जीवनशैली

अर्थव्यवस्था के फिर से पटरी पर लौटने के संकेत

कोरोना वायरस के संक्रमण से जुड़ी खबरों ने फिलहाल थोड़ी राहत भले ही दी है, लेकिन खतरा टला नहीं है, इसके संकेत भी साफ है। जहां तक समाज एवं अर्थव्यवस्था

रोजगार का सुनहरा स्वप्न कैसे साकार होगा?

बिहार के चुनाव का सबसे प्रभावी एवं चमत्कारी मुद्दा रोजगार बन रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने माहौल की नजाकत को समझते हुए अपने संकल्प पत्र में 19 लाख रोजगार

लगातार महंगे होते चुनावों की त्रासदी!

चुनाव जनतंत्र की जीवनी शक्ति है। यह राष्ट्रीय चरित्र का प्रतिबिम्ब होता है। जनतंत्र के स्वस्थ मूल्यों को बनाए रखने के लिए चुनाव की स्वस्थता, पारदर्शिता और उसकी शुद्धि अनिवार्य

डोनाल्ड ट्रंप की भारत आलोचना के निहितार्थ

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव बहुत दिलचस्प मोड़ पर पहुंच चुका है। तीन नवम्बर को अमेरिका की आम जनता नए राष्ट्रपति का चुनाव करने के लिए मतदान करेंगी।

नरेन्द्र मोदी रूपी रोशनी का भारत 

श्री नरेंद्र मोदी के 70वें जन्म दिवस- 17 सितम्बर 2020 पर विशेष एक संकल्प लाखों संकल्पों का उजाला बांट सकता है यदि दृढ़-संकल्प लेने का साहसिक प्रयत्न कोई शुरु करे।

कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार की चिन्ता

कोरोना महामारी के प्रकोप से निपटने की चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं हर दिन संक्रमण और संक्रमण से होने वाली मौतों के आंकड़े नई ऊंचाई छू रहे हैं। भारत में

महंगा कोरोना इलाज एक त्रासदी

कोरोना महामारी ने भारतीय चिकित्सा क्षेत्र की विसंगतियों एवं दुर्भाग्यपूर्ण स्थितियों की पोल खोल दी है। भले केन्द्र सरकार की जागरूकता एवं जिजीविषा ने जनजीवन में आशा का संचार किया

महंगा कोरोना इलाज एक त्रासदी

कोरोना महामारी ने भारतीय चिकित्सा क्षेत्र की विसंगतियों एवं दुर्भाग्यपूर्ण स्थितियों की पोल खोल दी है। भले केन्द्र सरकार की जागरूकता एवं जिजीविषा ने जनजीवन में आशा का संचार किया

आचार्य विनोबा भावे सर्वोदय की उड़ान: शांति का आह्वान 

आचार्य विनोबा भावे की 126वीं जन्म जयन्ती- 11 सितम्बर, 2020  दिव्य कर्तव्य, मानवतावादी सोच, सबके उदय की कामना, चिन्मयी पुरुषार्थ और तेजोमय शौर्य से मानव-मानव की चेतना को झंकृत करने

हिन्दी की प्रासंगिकता एवं महत्ता समझें

सशक्त एवं स्वतंत्र भारत के निर्माण की शुरूआत कहां से हो? इसी बुनियादी सवाल पर नई शिक्षा नीति में सबसे ज्यादा महत्व एवं बल दिया गया है। भारतीय संस्कृति एवं

हर पात में जस नाम की सम्मोहित झंकार

हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत का दुनिया में विशिष्ट स्थान है, क्योंकि यह सत्यं, शिवं और सौन्दर्य की युगपत् उपासना की सिद्ध एवं चमत्कारी अभिव्यक्ति है। हमने इतिहास में पढ़ा है कि

शुभता एवं श्रेष्ठता के सृजक हैं गणेशजी 

गणेश चतुर्थी – 22 अगस्त, 2020 पर विशेष गणेश चतुर्थी यानी सिद्धि विनायक भगवान गणेश का जन्मोत्सव। दरअसल गणेश सुख-समृद्धि, रिद्धि-सिद्धि, वैभव, आनन्द, ज्ञान एवं शुभता के अधिष्ठाता देव हैं।

कोरोनारूपी अंधेरी सुरंगों से बाहर निकलने के रास्ते

कोरोना महाव्याधि एवं कहर के दौरान हर इंसान सुख, स्वास्थ्य, जीवन-सुरक्षा और शांति की खोज में हैं और पता लगाना चाहता है कि सुखी, स्वास्थ्य, सुरक्षा और शांति है कहां?

कैसे रुकेगा हिंसक एवं धार्मिक उन्माद

बैंगलोर में फेस बुक पर एक विवादास्पद पोस्ट के बाद एक धर्म विशेष के उपद्रवी तत्वों ने जो हिंसक तांडव किया और उसी धर्म के कुछ युवकों ने वीरतापूर्वक एक

यही है आजाद भारत की वास्तविक इबारत

स्वतंत्रता दिवस-15 अगस्त, 2020 पर विशेष एक और आजादी का जश्न सामने हैं, जिसमें कुछ कर गुजरने की तमन्ना भी है तो अब तक कुछ न कर पाने की बेचैनी

क्रांति एवं शांति का समन्वय थे योगी अरविन्द

महर्षि अरविन्द जन्म जयन्ती- 15 अगस्त 2020 पर विशेष हमारा प्रेम, हमारी आजादी, हमारी संवदेनाएं, हमारी आकांक्षाएं, हमारे सपने, हमारा जीवन सबकुछ जब दांव पर लगा था तब एक हवा

श्रीकृष्ण मोहिनी मूरत के बहुआयामी नायक

श्रीकृष्ण का चरित्र अत्यन्त दिव्य, अलौकिक एवं विलक्षण है और उनका जन्मोत्सव का पर्व उससे भी अधिक दिव्य एवं विलक्षण है। श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव-जन्माष्टमी पर हमें उनसे प्रेरणा लेकर जीवन

आर्थिक अंधेरों के बीच उम्मीद के उजाले

कोरोना महामारी के कारण न केवल भारत बल्कि दुनिया की अर्थव्यवस्था डांवाडोल हुई है।   भारत में लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था की स्थिति पहले से ज्यादा बिगड़ी है। छोटे व्यापारियों

संतुलित आर्थिक सोच पर मंथन जरूरी

कोरोना के प्रकोप से जूझ रही दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा यह महामहारी नहीं होकर असंतुलित एवं भौतिकवादी आर्थिक मानसिकता है। हर किसी के मन में उछाल मार रही

लालजी टंडन जुझारू एवं जीवट वाले नेता थे

उत्तरप्रदेश की राजनीति के शीर्ष व्यक्तित्व एवं मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का 85 वर्ष की उम्र में मंगलवार सुबह 5.35 बजे निधन हो गया, उनका मेदांता लखनऊ में कई

Skip to toolbar