National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: अन्य लेख

Total 93 Posts

गणतंत्र दिवस और भारत के समक्ष चुनौतियां

“महाप्रलय की ध्वनियों में जो जनता सोती है, गणतंत्र दिवस आज उनको दे रही चुनौती है।” गणतंत्र दिवस हमारी प्राचीन संस्कृति का गरिमा का गौरव दिवस है। भारत आज लोकतंत्र

क्रांतिकारी संत – स्वामी विवेकानंद

स्वामी विवेकानंद – एक ऐसा नाम, एक ऐसा व्यक्तित्व कि जिस पर सदैव सनातन धर्म और मां भारती को गर्व रहेगा । जी हां । पूरे ब्रह्मांड में स्वामी जी

एक नई सोच…..भारत को बनाए सत्य सनातन राष्ट्र

हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, जैन, बौद्ध सब ही है भाई-भाई के उद्घोष को साकार करने के लिए आवश्यक है ऐसे राष्ट्र की परिकल्पना वर्तमान समय में भारत वर्ष में जो

जज्बा है तो मुमकिन है

मनोरा – बिहार प्रदेश के वैशाली जिले का एक छोटा सा गांव । जिला मुख्यालय से लगभग चालीस किलोमीटर स्थित गांव शुरुआती दिनों से ही शिक्षा के क्षेत्र में एक

बावलिया बाबा के चमत्कारों को आज भी लोग करते हैं नमस्कार

पुण्यतिथि पर विशेष- बावलिया बाबा के चमत्कारों को आज भी लोग करते हैं नमस्कार नीला वस्त्र धारण किए हुए एक अघोरी संत ने चिड़ावा को शिवनगरी कहा और शिव की

बेरोजगारों से रोजगार शुल्क

मौजूदा हालात के भारत में बेरोजगारी की वास्तविक स्थिति किसी से भी छिपी हुई नहीं है । शुरुआती दिनों में बेरोजगारी एक समस्या बनी , बाद में बड़ी समस्या और

व्यंग्य : “अलविदा-अलविदा 2019…. और हैपी न्यू ईयर 2020…. “

झकझोर देने वाला व्यंग्य – ऐ जाते हुए लम्हे कुछ तो सिखा जा सर्द दिनों में सर्द की रातें और सर्द का दिन बदन को तार-तार कर देता है। इस

प्रकृति के सुकुमार कविः सुमित्रानंदन पंत

28 दिसंबर : प्रथम हिंदी ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता सुमित्रानंदन पंत की पुण्यतिथि आज का दुख, कल का आह्लाद, और कल का सुख, आज विषाद; समस्या स्वप्न गूढ़ संसार, पूर्ति जिसकी

प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार पद्मभूषण यशपाल की पुण्यतिथि

26 दिसंबर – प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार पद्मभूषण यशपाल की पुण्यतिथि लोग मरते हैं, कलम नहीं मरा करती” – यशपाल यशपाल (जन्मः 3 दिसंबर 1903 – फिरोजपुर, पंजाब तथा मृत्युः 26

जारी है लड़ाई : वैचारिक स्खलन को तोड़ती कवितायेँ

इधर हिन्दी कविता में जिस ‘वैचारिक स्खलन’ की चर्चा हो रही है, क्या वास्तव में यह कालखण्ड ‘वैचारिक स्खलन’ का है, या फिर कोई मूल्य निर्मित हो रहा है जिसका

स्त्री : रहम की मोहताज नहीं, असीमित शक्तियों का भण्डार

जिस तरह भक्त शिरोमणि हनुमान जी को उनकी अपार-शक्तियों के बारे में बताना पड़ता था और जब लोग समय-समय पर उनका यशोगान करते थे, तब-तब बजरंगबली को कोई भी कार्य

कैब और एनआरसी की उलझनें

नागरिकता संशोधन बिल (कैब) के राज्यसभा से पास होने के बाद जब असम और पूर्वोत्तर के राज्यों में विरोध की आग सुलग उठी तो गृह मंत्री अमित शाह ने मीडिया

बेटियों को डरा रहा विकृत मानसिकता का बढ़ता आवरण

वो किसी की बेटी थी और किसी की बहन थी। वो अपने पापा की लाडली थी और साथ ही एक जिम्मेदार बहन भी। हवस के दरिंदों ने इन सभी बातों

हर साल क्यों बढ़ती है प्याज के आंंसुओं की कीमत

पिछले कई साल से देखने मे आरहा है कि देश मे चुनाव नही हों तो भी प्याज रूलाता है।ये कभी उपभोक्ताओं को रूलाता है तो कभी इसको उगाने वाले किसानों

करतार कॉरिडोर की मर्यादाओं का पालन जरूरी

भारत के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने 9 नवम्बर को अपने संबंधित पक्षों के साथ करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया। करतारपुर कॉरिडोर, पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब, सिख धर्म

पराली का सदुपयोग कर पाए प्रदूषण से छुटकारा : श्री आशुतोष महाराज जी

भारत के लहलहाते खेत… हरियल भूमि। इस कृषि प्रधान देश की उपजाऊ धरती अन्न रूपी धान उगलती है। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश… आदि राज्यों की मिट्टी गेहूँ,

क्या कांग्रेस का पुनरोदय हो पाएगा

पिछले कुछ वर्षों से चुनाव दर चुनाव कांग्रेस को झटके लगते जा रहे हैं। 2014 मंे मोदी की जबरदस्त जीत के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव मंे मोदी को उससे

अब फिर बदलेगी जम्मू कश्मीर की तकदीर

देश की जन्नत जम्मू कश्मीर लिए 31 अक्टूबर का दिन आजाद भारत के 70 साला इतिहास का सबसे अघिक ऐतिहासिक दिन रहा।जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग राज्य बनने के साथ

Translate »