न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: साहित्य

Total 974 Posts

इति कराग्रे वसति व्हाट्सएपा

व्हाट्सएप के मालिक फेसबुक को प्रणाम करता हूं। सभी देश प्रेमी सुबह उठते ही विदेशी व्हाट्सएप पर स्वदेशी राग आत्मनिर्भर गाते हैं। सभी सरकारी ऑफिसर अपना ऑफिस इसी व्हाट्सएप पर

डॉ . माध्वी व क्रांतिकारी डॉ .विक्रम लिगेसी अवॉर्ड 2021 से अलंकृत हुए

नई दिल्ली। कहते भी तो है न मेरे आत्मीय साथियों की इंसान महान पैदा नही होता है ,बल्कि उसके विचार व कामों की शुद्धता और सरलता ही महान लोगो को

दल बदली पोर्टेबल सियासी चक्र

नेता जी विधायक गण इस दल से उस दल की ओर छलांग लगाने का संवैधानिक कार्य करते हैं। वे दलदल पार्टी की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दल-बेदल पार्टी में

इसको पीते ही मेरे ख्वाब चमक जाते हैं

इसको पीते ही मेरे ख्वाब चमक जाते हैं, तेरे हाथों से बने जाम महक जाते हैं।। . मेरे जेहन में चुपके से आते हो, मेरे ख्यालात भी बहक जाते हैं

पहेली

अचानक झटके से मेरी नींद खुली । यात्रियों के उतरने चँढ़ने का शोर होने लगा । मैंने पूछा- भैया ,ये कौनसा स्टेशन है? पास खड़े यात्री ने कहा- बाबूजी, अमोलपुर

संस्कृति की अमूल्य धरोहर : योग”

योग है प्राचीन परम्परा की अमूल्य धरोहर। इसके करने से तन-मन होता प्रफुल्लित और मनोहर॥ योग दिवस की पहल में है भारत की निर्णायक भूमिका। विश्वस्तर पर इसकी स्वीकृति में

योग भंडारा है सुखों का

योग छुटकारा है दुखों का योग भंडारा है सुखों का योग मिलाता आत्मा को परमात्मा से परिचय कराता जीवन का श्रेष्ठता से योग बढ़ोतरी का नाम है तन-मन की शुद्धता

कैसे जख्म दिखाएँ ज़माने को

कैसे जख्म दिखाएँ ज़माने को, हमेशा जहर दिया दीवाने को।। नादाँ न समझ पाया जमाने को, दिल दिया,हमदर्द समझ ज़माने को। फरेब नहीं दिखाया ज़माने को, मासूम,बूझ न पाया ज़माने

हास्य व्यंग्य : “नशा शराब में होता तो नाचती बोतल”

बात तो सही है, अगर शराब में नशा है तो वो केवल जीवित प्राणियों को ही क्यों होता है। मतलब साफ है कि नशा शराब में नहीं हम में है।नशा

व्यंग्य : महिमा जूती की

यद्यपि इंसान स्वयं सदियों से जूतियाँ पैरों में और सिर पर पगड़ी पहनता आया है और दोनों का स्थान भी दो अलग-अलग छोरों पर रहा किन्तु पगड़ी व जूती का

विक्रांत तो कभी प्रशांत पिता

सदियों से हमारा समाज पितृ सत्तात्मक समाज रहा है। क्योंकि परिवार के भरण-पोषण का पूरा दायित्व पिता यानी पुरुष की जिम्मेदारी रहा है। यूंतो स्त्री पुरुष दोनों साइकिल के दो

चनप्रीत सिंह की 21 कविताओं का संग्रह ‘एक अकेला पेड़’ का विमोचन मुंबई में हुआ

मुंबई। अभिनेता, कवि और लेखक चनप्रीत सिंह की 21 कविताओं का संग्रह ‘एक अकेला पेड़’ का विमोचन शुक्रवार 18 जून 2021 को यारी रोड, अँधेरी (वेस्ट),मुंबई में किया गया। इस

महाराणा महान

मेवाड़ी माटी की शान, शूरवीरता है पहचान । हिंदवा सूरज जिसका नाम, वह है महाराणा महान ।। कुंभलगढ़ में जन्म लिया, माँ जयवंता की कोख से । उदयसिंह का गौरव

हिंदी हमारे जीवन मूल्यों, संस्कृति एवं संस्कारो की सच्ची संवाहक: डॉ शम्भू पंवार

नई दिल्ली। भाषा के रूप में हिंदी न सिर्फ भारत की पहचान है बल्कि यह हमारे जीवन मूल्यों,संस्कृति एवं संस्कारो की सच्ची संवाहक, संप्रेषक और परिचायक भी है। इस आशय

पत्रकारिता में सराहनीय कार्य हेतु लाल बिहारी लाल सम्मानित

नई दिल्ली। पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा के लिए हिंदी और भोजपुरी के जाने-माने लेखक, ,समाजसेवी और पत्रकार लाल बिहारी लाल को सम्मानित किया है। यह सम्मान देहली उद्योग

कहीं गायब हो रही खुश्बू ए चमन

कहीं गायब हो रही खुश्बू ए चमन, क्यूं वो बहारों के साथ महकते नहीं । दफ्न हो रही है तमन्नाये मोहब्बत, क्यू फूलों की शोहबत में रहते नहीं। मर जायेगा

जैसलमेर के कवि ‘मुकेश बिस्सा’ सम्मानित

नई दिल्ली। पुनीत अनुपम साहित्यिक समूह द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर ऑनलाइन साहित्यिक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया,जिसका विषय ‘मित्रता’ रखा गया।इस प्रतियोगिता में देशभर के रचनाकारों ने भाग लिया ।

डॉ ज्योति कपूर की तीन कविताएं

1. एक और बारिश………. लो फिर शुरु हुआ दिल टूटने का सिलसिला आसमाँ रोने लगा शायद जलता हुआ जिगर कुछ ठंडा हो ले कुछ देर तेरी याद से फ़ारिक हो

Skip to toolbar