National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: व्रत-त्योहार

Total 151 Posts

नवरात्रि का आठवां दिन: माता महागौरी की पूजा करने से मन होता है शुद्ध, ये है पूजन विधि, मंत्र और कथा

नवरात्रि का आठवां दिन: इस दिन माता महागौरी की पूजन का विधान है. इस दिन को दुर्गाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है. माता महागौरी अपने भक्तों के कष्टों

नवरात्रि सातवां दिन: मां कालरात्रि की होती है पूजा, ये है पूजन विधि, कथा और मंत्र

नवरात्रि का सातवां दिन बहुत खास है. इस दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है. मां कालरात्रि ने असुरों को वध करने के लिए यह रुप लिया था. इस

नवरात्रि का छठा दिन: मां कात्यायनी की होती है पूजा, ये है पूजन विधि, मंत्र और कथा

नवरात्रि का छठा दिन: नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है. मां कात्यायनी की पूजा करने से व्यक्ति अपनी इंद्रियों को वश में कर सकता है.

नवरात्रि का पांचवा दिन: स्कंदमाता की पूजा की जाती है, ये है विधि, आरती, मंत्र और कथा

स्कंदमाता : नवरात्रि का पांचवा दिन: नवरात्रि के पांचवे दिन स्कंदमाता की पूजा की जाती है. स्कंदमाता को मां दुर्गा का स्वरूप माना जाता है. इस दिन स्कंदमाता की पूजा

राजस्थान का प्रमुख लोकोत्सव गणगौर

27 मार्च गणगौर पर्व पर विशेष राजस्थान में गणगौर का पर्व लोकोत्सव के रूप में सदियों से मनाया जाता रहा है। विवाहित व अविवाहित सभी आयु वर्ग की सुहागिन महिलायें

नवरात्रि का चौथा दिन: मां कुष्मांडा की होती है पूजा, ये है विधि और बीज मंत्र

मां कुष्मांडा की पूजा करने से आयु, यश, बल और स्वास्थ्य में वृद्धि होती है. मां कुष्मांडा ने ब्राह्मण की रचना की थी. आइए जानते हैं मां कुष्मांडा को प्रसन्न

राजस्थान का लोक पर्व : गणगौर

27 मार्च 2020 पर विशेष : गोर ए गणगौर माता खोल ए किवाड़ी….   भारतीय संस्कृति में गणगौर का पर्व राजस्थान का विशिष्ट पर्व है जिसे बड़े उमंग और उत्साह

नवरात्रि का तीसरा दिन: मां चंद्रघंटा की आज होती है पूजा, ये है विधि और कथा

नवरात्रि का तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित है. इस दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है. असुरों का संहार करने के लिए मां दुर्गा ने इस रूप को

नवरात्र के दूसरे दिन इस विधि से करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा

मां ब्रह्मचारिणी इनको ज्ञान, तपस्या और वैराग्य की देवी माना जाता है. कठोर साधना और ब्रह्म में लीन रहने के कारण भी इनको ब्रह्मचारिणी कहा गया है. कलश स्थापना के

नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा, जानें कैसे करें उपासना

पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री के रूप में उत्पन्न होने के कारण मां दुर्गा जी का नाम शैलपुत्री पड़ा. मां शैलपुत्री नंदी नाम के वृषभ पर सवार होती हैं और

चैत्र नवरात्र: नौ दिन होगी मां दुर्गा के इन नौ स्वरूपों की पूजा, जानें हर एक का महत्व

विजय न्यूज़ नेटवर्क चैत्र नवरात्र यानी वासंतिक नवरात्र की शुरुआत आज यानी 25 मार्च से हो चुकी है, जो 2 अप्रैल तक रहेगी. चैत्र नवरात्रों के दौरान मां की पूजा

धार्मिक आस्था का पर्व – शीतलाष्टमी

राजस्थान में नहीं अपितु पूरे उत्तरी भारत में शीतला अष्टमी को आस्था का पर्व बडी श्रद्धा और उत्साह से मनाया जाता है। शीतलाष्टमी चैत्र मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी

मन को ईश्वरीय रंग में रंग कर मनाए दिव्य होली

होली के दिन कोई आपके ऊपर रंग डाले, तो क्‍या बुरा मानने वाली बात है? बिल्कुल नहीं। अगर कोई पिचकारी से रंगों की बौछार करे, तो क्‍या बुरा मानने वाली

होली पर धुलेंडी (धूलिवंदन) मनाने का शास्त्रीय आधार

होली ब्रह्मांड का एक तेजोत्सव है । होली के दिन ब्रह्मांड में विविध तेजोमय तरंगों का भ्रमण बढता है । इसके कारण अनेक रंग आवश्यकता के अनुसार साकार होते हैं

सामाजिक भाईचारे का त्योहार है होली

भारत में फागुन महीने के पूर्णिंमा या पूर्णमासी के दिन हर्षोउल्लास से मनाये जाने वाला रंगों से भरा हिदुओं का एक प्रमुख त्योहार है। लोग इस पर्व का इंतजार बड़ी

कविता : मुबारक हो तुम्हें ..

मुबारक हो तुम्हें .. फाल्गुन की पहली फुहार , मुबारक हो तुम्हें… ये फाल्गुन की बीती यादें , मुबारक हो तुम्हें … इश्क , फिजा ,ये नज्म की बहार ,

क्यों किया जाता है होलिका दहन? ये है पौराणिक कहानी

परंपराएं जीवन शैली को समृद्ध करती हैं और मनुष्य के जीवन को सक्षम बनाती हैं. भारत का श्रृंगार करतीं ये परंपराएं ही भारत को महान बनाती हैं. होलिका दहन में

होली पर नीरज त्यागी की दो कविताएं

होली पर नीरज त्यागी की दो कविताएं 1. अपनेपन की पिचकारी अपनेपन के रंगों से मन की पिचकारी भर दो। अबके होली में तुम सबको एक रंग में भर दो।।

व्यंग्य : रंगों की रंगदारी !

यादों में अब भी गूंजता है – रंगीला रे, तेरे रंग में, यूं रंगा है मेरा मन.. सच ! रंग रंगीले होते हैं। जहां रंगों का फीका पड़ जाना शुभ

कविता : होली के रंग

होली के रंग होली के रंग प्रेम विश्वास भाईचारे प्यार के संग लगाये एक दूजे को गुलाल रंग बढाये रिश्तो नातो की मृदंग। अंग अंग भिगायें रंग से कोई न