National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Category: करवाचौथ

Total 4 Posts

अखंड सुहाग का प्रतीक- ‘करवा चौथ’

करवाचौथ व्रतेन दीक्षामाप्नोति दीक्षयाऽऽप्नोति दक्षिणाम् । दक्षिणा श्रद्धामाप्नोति श्रद्धया सत्यमाप्यते ।। अर्थ : व्रत धारण करने से मनुष्य दीक्षित होता है । दीक्षा से उसे दक्षता, निपुणता प्राप्त होता है

सजना है मुझे….

सजना है मुझे सजना के लिए.. सही कहा न।सचमुच करवाचौथ के दिन पुरा दिन व्रत करने के बाद भी थकान नहीं लगती।उत्साह रहती है अलग ही क्योंकि आज का दिन

प्यार,आस्था व विस्वास का पर्व ‘करवा चौथ’

भारतीय संस्कृति में व्रत,पर्व व त्यौहारो का बड़ा विशेष महत्व होता है।प्रत्येक पर्व व त्यौहार एक सन्देश लेकर आते है।अखंड सौभाग्य का प्रतीक करवा चौथ का व्रत भी सुहागिन महिलाओं

करवा चौथ – महिलाओं के अखंड सौभाग्य, प्यार और विश्वास का प्रतीक

रखा है करवाचौथ का व्रत मैंने, बस एक ख्वाहिश के साथ, एक जन्म नहीं सातों जन्म मिले हमें एक दूजे का साथ । पति-पत्नी के मजबूत रिश्ते, अखंड सौभाग्य, प्यार

Translate »