न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

शास्त्रीय नृत्य संगीत संगोष्ठी का हुआ आयोजन

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली। कला, साहित्य और संस्कृति के प्रति समर्पित 7 दिसंबर 2019 को अंतरराष्ट्रीय स्तर का शास्त्रीय नृत्य संगीत एवं संगोष्ठी सह सांस्कृतिक संध्या विभिन्न संगीतकारों एवं कलाकारों के सौजन्य से फाउंडेशन ऑफ कृष्ण कला एवं एजुकेशन सोसाइटी द्वारा आयोजन किया गया।
गांधी जी की जयंती के 150 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में ‘गांधीजी का संगीत प्रेम और संगीतज्ञ का गांधीजी के प्रति प्रेम’ विषयक पर यह संगोष्ठी केन्द्रीत थी। नोएडा में हुई इस संगोष्ठी में वक्ता के रूप में उमेश शर्मा ,श्याम कुमार ,डॉक्टर देवेंद्र सिंह , श्री संभव कुमार, डॉक्टर सुशील भारती, डॉ राजन श्रीवास्तव, त्रिलोक शर्मा, सुनिल त्यागी, ,डी पी गोयल, महिपाल सिंह ,एनपी सिंह ,भारतेंदु ,अरुण दुबे ,अनुज अग्रवाल, नलिनी अस्थाना, विजय मिश्रा, शिखा खरे, पंकज गुप्ता, वीआरवी त्यागराजन, अभय सिन्हा, राम नारायण झा, विश्व प्रिया मुखर्जी ,संतोष श्रीवास्तव ,ओमकारेश्वर पांडे मनोज लाल, सुनील त्यागी, श्रीमती शिल्पी जयसवाल, सुदीप जयसवाल श्री मुरारी जी आदि उपस्थित थे।
वक्तव्य में श्री संभव कुमार ने कहा कि कला मन,हृदय, बुद्धि और आत्मा के संयोग से उपजती है। चर्चित मोटिवेशनल स्पीकर और NLP गुरु संभव कुमार ने गांधी को कलाकार बताते हुए कहा कि वह जो भी करते थे आत्मा से करते थे इसीलिए सर्जक भी थे।
इसके अतिरिक्त इस कार्यक्रम में सांस्कृतिक संध्या में विभिन्न प्रस्तुतियां हुईं। सिंगापुर से आए हुए अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पंडित चरण गिरधर एवं उनकी शिष्यओं रमणी कश्यप, अदिति कश्यप द्वारा कत्थक नृत्य ,दिल्ली से रिचा गुप्ता और रेखा मेहरा, पुणे से वेदांती तथा दिल्ली कथक केंद्र से पंडित राजेंद्र गंगानी के शिष्य नीरज परिहार एवं राजस्थान कोटा से गरिमा भार्गव द्वारा कथक नृत्य की एकल प्रस्तुति, नोएडा से संगीता कुलश्रेष्ठा भरतनाट्यम अपनी शिक्षाओं के साथ प्रस्तुति दीं। नलिनी निगम जी द्वारा भजन की प्रस्तुति डॉ निशा रानी द्वारा कुचिपुड़ी नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar