न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

विश्व पर्यावरण दिवस पर कोरोना ने हमें सिखाया प्रकृति और पृथ्वी का महत्व: दयानंद वत्स

नई दिल्ली। अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के तत्वावधान में आज संघ के मुख्यालय बरवाला में संघ के.राष्ट्रीय महामंत्री दयानंद वत्स की अध्यक्षता में विश्व पर्यावरण दिवस पौधों में पानी देकर मनाया। इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री वत्स ने कहा कि एक दिन सांकेतिक रुप से पर्यावरण दिवस मना लेने से काम नहीं चलने वाला। हमें मिलकर पूरे देश में पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन का संकल्प लेना होगा ताकि ग्लोबल वार्मिंग के खतरे के बावजूद पर्यावरण को हानि न हो। वत्स ने चेताया कि जनसंख्या में हो रही भारी वृद्धि के कारण संसाधनों की कमी के चलते धरती पर विकराल संकट छाया हुआ है। मानव द्वारा.प्रकृति और पृथ्वी का जिस बेरहमी से दोहन हो रहा है वह मानवता के लिए खतरे का संकेत है। जो काम सरकारें ना कर सकीं उसे कोरोना के चलते वैश्विक स्तर पर वायु और जल संरक्षण प्रकृति ने स्वयं कर लिया है। आज हवा साफ है। कोरोना पार्ट
वन में लॉकडाउन के समय नदियों का जल स्वच्छ था, आसमान नीला था। चांद और सितारे दिखने लगे थे। पशु पक्षी खुश थे। मनुष्य ने पर्यावरण की जो हानि की थी कोरोना ने प्रकृति को उतना संरक्षित कर दिया था। कोरोना ने हमें प्रकृति और पृथ्वी का महत्व समझा दिया था लेकिन कोरोना पार्ट -2 आते आते हमने फिर चसी पुराने ढर्रे पर.आ गये हैं और किसी को भी जब ना अपनी चिंता है
तो पर्यावरण की कौन सोचे। वत्स ने कहा कि इसीलिए पर्यावरण संरक्षण हेतु पौधारोपण ही एकमात्र बचाव का रास्ता रह गया है। इसी से पृथ्वी का अस्तित्व कायम रह पाएगा। वत्स ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों को बचाने के लिए अब हमें प्रकृृति और पृथ्वी का सम्मान करना ही होगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar