National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

सावधानी से ही कोरोना की हार

कोरोना चीन की सरजमीं से चलकर आज संपूर्ण देश भर में हाहाकार मचाया हुआ है। और पूरी दुनिया इस बीमारी की चपेट में है। और दिन प्रतिदिन कई लोगों की इस बीमारी से जानें भी जा रही है। और कुछ लोग इस बीमारी से संक्रमित हैं। परंतु आज हमारी दुनिया चंद्रमा के दक्षिणी और उत्तरी धुव्र पर पहुँच चुकी है। और तो अन्य ग्रहों तक भी पहुँचकर अपनी जीत का परचम लहरा चुकी है। लेकिन आज इस महामारी की न तो कोई दवा बन पा रही है। और न ही इसका कोई इलाज अभी तक संभव है। लेकिन डॉक्टर के मुताबिक कोरोना से उन लोगों की जान जा रही है। जिनकी उम्र 18 साल से नीचे और 60 साल से ऊपर है। और विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि इस बीमारी की वैक्सीन बनाने में तकरीबन 16 माह लग सकता है। और इस महामारी को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी संपूर्ण भारत देश में जो लॉकडाउन लगाया है। वो लॉकडाउन हमसब की भलाई के लिए लगाया है। क्योंकि लॉकडाउन के अलावा कोई चारा ही नहीं था। परंतु इसको लेकर कुछ लोग गलत बयानबाजी कर रहे हैं। और लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे हैं। और कोरोना को लेकर समाज में धर्मों के नाम लड़ाई भी हो रही है। लेकिन ये कोरोना किसी भी धर्म का मुद्दा नहीं है। बल्कि ये कुदरत का कहर हैं। अगर हमसब यूँ ही कोरोना को लेकर इसी तरह लड़ते रहेंगे। तो यह निश्चित है कि हमारी ही हार होगी। इसलिए हमसब धर्मों के नाम नहीं बल्कि एकजुट होकर इस महामारी को मात देंगे। और ऐसी यातना की घड़ी के समय हमसब को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ देना चाहिए। और लॉकडाउन को सफल बनाना चाहिए। और अगर कहीं कोरोना तीसरी स्टेज तक पहुँच चुका तो इटली, स्पेन, अमेरिका की तरह हम सब की भी हालत हो जायेगी। इसलिए अभी सावधानी ही बरतें। और भीड़ वाली जगह से दूर ही रहें। तभी कोरोना की छुट्टी होगी। और हमारी जीत होगी।

मो. जमील
अंधराठाढ़ी, मधुबनी (बिहार)
संपर्क: 9065328412

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar