National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ध्वनि भानुशाली: मुझे प्लेबैक सिंगर बनना पसंद है लेकिन मैं एक……….

ध्वनि भानुशाली धीरे-धीरे ऊंचाइयों की तरफ बढ़ रही हैं। 21 साल की पॉप सनसनी का करियर ग्राफ बहुत जिस तरह से बढ़ रहा है, बहुत कम लोग इस बारे में सोच भी पाते है| कुछ ही समय में यह यंग सिंगर ऊंचाइयों पर पहुंच गई, जिसकी खुद उन्होंने भी कल्पना नहीं की थी। एक छात्र से, वह अब काफी बड़ा नाम है और ध्वनि का करियर अभी तो शुरू ही हुआ है |
म्यूजिक की अपनी तीन साल की जर्नी में इस 21 वर्षीय गायिका ने लेजा रे, वास्ते, ना जा तू, दिलबर और साइको सैयां जैसे जबरदस्त हिट सांग्स दिए हैं, जिन्होंने हजारों प्रशंसकों के दिलों में अपनी खास जगह बनाई है |वे कहती हैं, “म्यूजिक मेरी एक हॉबी था, जिसने मेरे जीवन को पूरी तरह से बदल दिया। मैंने पश्चिमी और भारतीय शास्त्रीय संगीत में एक्स्ट्रा म्यूजिक सीखना शुरू किया। मैंने गिटार और गिटार जैसे वाद्य यंत्र प्ले करना भी सीखा। अब, मैं पियानो बजाना सीख रहा हूं। ”
सिंगिंग में ध्वनि के करियर की शुरुआत बॉलीवुड सांग्स के साथ हुई – ‘इश्तेहार’, राहत फतेह अली खान के साथ (‘वेलकम टू न्यूयॉर्क’, 2018) और तनिष्क बागची (‘सत्यमेव जयते, 2018) के साथ’ दिलबर ‘। इसके बाद वह एक इंडिपेंडेंट सिंगर के रूप में खुद की एक पहचान बनाने के लिए चली गई, जिसमे उन्होंने गुरु रंधावा के साथ ‘इशारे तेरे’ जैसा हिट सांग दिया।

ध्वनि ने कहा “मेरा सिंगल अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और उसे ऑनलाइन कई हिट मिले हैं। यह मेरे जैसे किसी व्यक्ति के लिए बहुत मायने रखता है, जो हमेशा एक पॉप सिंगर बनना चाहता था। भारत में जब कोई भी म्यूजिक की फिल्ड में आता है, तो वह आमतौर पर एक प्लेबैक सिंगर बनने का लक्ष्य रखता हैं क्योंकि हमारा म्यूजिक अक्सर फिल्म केंद्रित होता है। मुझे वह पसंद है, लेकिन मैं एक सिंगर के रूप में अपनी पहचान भी बनाना चाहती हूं। मैं एक कलाकार हूं, जिसका खुद का एक नज़रिया भी है”
टेलर स्विफ्ट और बेयोंसे की फेन ध्वनि ने अपने लिए के बड़ा सपना सजा रखा है, वह कहती हैं, “मैं एक म्यूजिक आइकन बनना चाहती हूं और भारतीय पॉप को लिए विश्व स्तर पर रिप्रेजेंट करना चाहती हूं,” वह कहती हैं, “मेरे पास इसके लिए पांच साल का प्लान नहीं है – मैं सिर्फ फ्लो के साथ जाती हूं और इंतज़ार करती हूँ लाइफ के पास मेरे लिए क्या है ।”

Print Friendly, PDF & Email