न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

सामाथ्र्य टीचर्स ट्रेनिंग एकेडमी ऑफ़ रिसर्च (स्टार) ने ‘पाॅजिटिविटी और हैप्पीनेस’ पर उत्साहवर्धक सत्र का आयोजन किया

गाजियाबाद। गाज़ियाबाद के सामाथ्र्य टीचर्स ट्रेनिंग एकेडमी ऑफ़ रिसर्च (स्टार) ने जयपुरिया स्कूल ऑफ बिजनेस के सहयोग से कोविड के कठिन दौर में ‘पाॅजिटिविटी और हैप्पीनेस’ पर विशेष वर्चुअल सेशन का आयोजन किया।

30 मिनट के सेशन का संचालन स्टार के शिक्षा परिषद के अध्यक्ष श्री विनोद मल्होत्रा ने किया। श्री मल्होत्रा एक लेखक, प्रेरक और सेवानिवृत्त लोक सेवक रहे हैं। इस सेशन में योग – भ्रामरी प्राणायाम, ध्यान मंत्रों का जाप, हँसना और ताली बजाना, और प्रेरक गीत गाना शामिल था।
कुल मिला कर इस सेशन का उद्देश्य सकारात्मक ऊर्जा का संचार करना था।

सेशन में विनोद मल्होत्रा ने इस कठिन दौर को अधिक जुझारूपन के साथ पार करने के लिए सकारात्मक और प्रसन्न रहने को महत्वपूर्ण बताया।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 बढ़ने से लोगों में अनिश्चितता की चिंता है लेकिन इस महामारी से लड़ने के लिए आशावादी बना रहना अनिवार्य है। सकारात्मक और प्रसन्न रहने के कुछ तरीके बताए हुए उन्होंने जन-जन को दिलाशा देने पर जोर दिया क्योंकि आज इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है।

सेशन के अतिथि वक्ता श्री शिशिर जयपुरिया, अध्यक्ष, सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस ने व्यापक संदर्भ में प्रसन्न रहने का महत्व बताया। उन्होंने कहा कि प्रसन्नता का अर्थ केवल अच्छा महसूस करना नहीं है बल्कि हमें स्वस्थ और अधिक सफल बनाने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने बताया कि यदि स्थिति हमारे नियंत्रण में नहीं है तो भी दुखी होने का कोई फायदा नहीं है और जब स्थिति नियंत्रण में है तो खुश रहना ही चाहिए। तो आज जो है उसका आनंद लें और और हमेशा सकारात्मक और प्रसन्न रहें।’’

सेशन से हजारों ऑनलाइन दर्शक जुड़े जिनमें अधिकतर विद्यार्थी, शिक्षक और सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस के विद्यार्थियों के माता-पिता थे। यह संस्थान के-12 स्कूलों, प्रबंधन संस्थानों, प्रीस्कूलों का विशाल समूह है।
स्टार जयपुरिया स्कूल ऑफ बिजनेस समर्थित संस्थान है और दिल्ली एनसीआर का प्रमुख शिक्षक प्रशिक्षण अकादमी है।

स्टार के बारे में:
शिक्षकों को बदलते शिक्षा परिदृश्य के अनुकूल बनाने के लिए उन्हें प्रभावी रणनीतियों और कौशल का लाभ देने के लक्ष्य से स्टार की स्थापना की गई। जुलाई 2020 में स्थापना के साथ यह शिक्षकों और स्कूल प्रमुखों को कौशल और प्रवीणता प्रदान करने में संलग्न है ताकि वे विद्यार्थियों के लिए सार्थक सीखने का माहौल बनाएं। विद्वानों की तरह जिज्ञाशा, डिजाइन थिंकिंग और अनुसंधान के आधार पर शिक्षा पेशे की विशेषज्ञता बढ़ायें।

स्टार ने स्कूलों और कॉलेजों के शिक्षकों के लिए शिक्षक प्रशिक्षण के साथ-साथ विद्यार्थियों और उनके माता-पिता के लिए भी ओरियंटेशन प्रोग्राम आयोजित किए।

कुल मिला कर 36 से अधिक ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए और इनके कुछ प्रमुख विषय थे:

  • फोनेटिक्स
  • शिक्षा में आईसीटी
  • व्यक्तिगत प्रभाव
  • एनएलपी और प्रभावी शिक्षण
  • मनोविज्ञान का विकास
  • नैतिक नेतृत्व
  • शिक्षा में एसटीईएएम
  • सामाजिक-भावनात्मक सीख (एसईएल) और कई अन्य।
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar