न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

महिलाएं कमजोर नही है यह भरोसा महिलाओं को खुद पर होना चाहिए: आकृति खत्री

दिनेश जाला
महिलाओं को खुद के लिए खतरनाक प्रोपेशन चुनना आज बहुत मुश्किल हो गया है क्योंकि हमारे देश मे हर दिन महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जा रहे है लेकिन कही महिलाएं ऐसे हैं जो दूसरी महिलाओं के लिए आगे बढ़ने की प्रेरणा बनती हैं उनमें से एक है हमारे देश की युवा डिटेक्टिव(जासूस) आकृति खत्री, हाल ही में उनके साथ हुई इंटरव्यू के दौरान की बातचीत में उन्होंने महिलाओं पर हो रहे अत्याचार की कुछ ऐसी बाते बताई जो दूसरी महिलाओं को हौसला दिलाती है,जिनके मुख अंश पेश:-

सवाल : आपका डिटेक्टिव फ़ील्ड में कैसे आना हुआ?
जवाब : डिटेक्टिव वाला काम करने का बचपन मे शौक था। और स्कूल में कॉलेज में,लेकिन कभी सोचा नही था कि प्रोफेशनल काम करुँगी।अचानक यू हुआ कि न्यूजपेपर पढ़ते-पढ़ते उसमे एक एड देखा जिसमे लिखा था अगर आपको डिटेक्टिव कोई काम करवाना है तो आप हमें अप्रोच कर सकते हैं तो मैंने पूछ अगर आपको लोगो को जॉइन करना है तो कैसे होगा। उन्होंने इंटरव्यू के लिए बुलाया,इंटरव्यू हुआ और उन्होंने बोला कि आप कल से जॉइन कर सकते है।

सवाल : महिला डिटेक्टिव होने के नाते आपने कैसी चुनौतियों का सामना किया है?
जवाब : महिला होने के नाते यहा महिलाओं को प्रोत्साहन किया नही जाता।जैसे बोलते हैं कि पूरा समाज एक जुट हो चुका है या तो आपको किसी के नीचे एसोसिएट बनकर काम करना पड़ता है और अगर आप खुद के वजूद से अकेले खड़े होना चाहते हो,तो हर कोई आपके रास्ते मे अड़चन पैदा करता है।आपको डीसेंट किया जाएगा,आपको कहा जायेगा आपको काम करना नही आता जब कि आप मर्दों से बेहतर काम कर सकते है।हमारी फ़ील्ड में किसी को अंडर ट्रेडिंग कर के अंडर ही रह सकते हैं।उसके अलावा घर मे भी कहा जाता है अरे ये कोई काम है,कौन करता है ये काम,अगर आपने पढ़ाई लिखाई कर ली तो कहते हैं बेकार है, नही करते तो भी बेकार है।खुद पर भरोसा नही है तो कही से भी प्रोत्साहन नही मिलेगा।

सवाल : हमारे देश मे महिलाओं पर अत्याचार बढ़ता जा रहा है,आपके हिसाब से महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए किन बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है?
जवाब : सबसे पहले महिलाओं को एलर्ट होना चाहिए,आँख,कान,नाक सब खुले,कुछ भी होने से पहले वो कहते हैं दस्तक,जैसे हैदराबाद के कांड में हमने सुना कि उस लड़की को लग गया था कि कोई उसका पीछा कर रहा है तो उसने फोन किया घर मे।तो सब बोलते हैं घर फोन क्यो किया पुलिस को क्यों नही किया,तो उसकी दस्तक एक ही दिन का काम नही होगा वो कही दिनों से उसे देख रहे होते।भारतीय महिलाओं की खास बात यह होती है कि हम उसे इग्नोर करते है,क्या कर सकते हैं हम,अपने आपको को बे चारा महसूस नही करना चाहिए।खुद को एलर्ट रहना चाहिए और दूसरा खुद को बे चारा महसूस नही करना चाहिए।

सवाल : कही लोगों का मानना है कि महिलाओं पर अत्याचार इसीलिए होते हैं क्योंकि वह कमजोर है,अगर वह कमजोर नही है तो रेप जैसी घटनाओं को कैसे रोका जा सकता है?
जवाब : पहले तो सतर्क रहना बेहद जरूरी है,अगर आप अकेली ट्रैवल कर रही हैं,तो आप अपने साथ कुछ भी रख सकती है, मिर्ची पावडर,प्रे टाइप आता है वो,और किसने कहा महिलाओं कमजोर है,न कभी थी और न कभी हो सकती हैं।तो यह भरोसा महिलाओं को खुद पर होना चाहिए।और महिलाओं को किसी भी तरह से सावधानी बरकनी चाहिए और एलर्ट रहना चाहिए।और हमारे पास भी कही क्वायरी आती है कि कुछ लोग कही दिनों से पीछा कर रहे हैं। तो हम एक टीम उसके पीछे लगा देते है।और यह देखते है कि कोई और तो पीछा नही कर रहा है अगर कर रहा है तो हम उसे पकड़ते हैं।

सवाल : डिटेक्टिव के अलावा आपकी क्या हॉबीज है?
जवाब : सबसे पहले यह मेरा शौक ही था।मैंने अपने शौक को अपना करियर बनाया।यह काम मे इसलिए नही कर रही कि मुझे करना है।यह काम मे इसलिए कर रही हु क्योंकि मुझे पसंद है,यह काम मुझे दिल से पसंद है इसके अलावा मुझे मूवीज देखना बहुत पसंद है,दोस्तों के साथ घूमने फ़िल्म देखना,डांस करना,ये सब पसंद है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar