न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के नए ई-फाइलिंग पोर्टल में खामियां! इंफोसिस और नंदन नीलेकणि पर भड़कीं FM निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने आयकर विभाग (Income Tax Department) के नए ई-फाइलिंग पोर्टल (New Income Tax e-filing Portal) को सोमवार रात 8.45 बजे यह कहते हुए लॉन्‍च किया कि इसे पहले से बेहतर बनाया गया है. इससे टैक्‍सपेयर्स (Taxpayers) को ई-फाइलिंग में आसानी होगी. हालांकि, हुआ इसका उलटा और नई वेबसाइट में खामियों की शिकायतें आने लगीं. इसे लेकर वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) इंफोसिस के सह-संस्‍थापक नंदन नीलेकणि (Nandan Nilekani) पर भड़क गईं.
‘उम्‍मीद है इंफोसिस और नीलेकणि निराश नहीं करेंगे’
वित्‍त मंत्री सीतारमण ने इंफोसिस (Infosys) और नीलेकणि को टैग करते हुए ट्वीट किया कि करदाताओं के लिए अनुपालन में आसानी हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए. उम्‍मीद है कि इंफोसिस और नंदन नीलेकणि सेवा की गुणवत्‍ता के मामले में टैक्‍सपेयर्स को निराश नहीं करेंगे. दरअसल, नए पोर्टल को डिजाइन करने और रखरखाव की जिम्मेदारी इंफोसिस को दी गई है. पहले ई-फाइलिंग वेबसाइट का एड्रेस incometaxindiaefiling.gov.in था, जो अब बदलकर incometax.gov.in हो गया है. बता दें कि नया पोर्टल 7 जून 2021 की सुबह ही लॉन्‍च होना था, लेकिन तकनीकी खामियों के कारण इसे रात 8.45 बजे लॉन्‍च किया गया. इसके बाद भी इसमें गड़बड़ियों की शिकायतें लगातार आ रही हैं.

नए पोर्टल में टैक्‍सपेयर्स को मिलेंगी ये सभी सुविधाएं

  •  नई वेबसाइट पहले की तुलना में ज्यादा यूजर फ्रेंडली होगी, जिससे आईटीआर फाइल करने में आसानी होगी और रिफंड भी जल्दी मिलेगा.
  •  नए पोर्टल पर अपलोड और पेंडिंग पड़े काम एक साथ दिखेंगे. किसी टैक्सपेयर्स का कोई काम रुक गया है तो उसकी जानकारी भी एक जगह मिल जाएगी. यानी इससे आईटीआर फाइल करना, उसे रिव्यू करना और कोई एक्शन लेना आसान हो जाएगा.
  • यह मुफ्त में मिलने वाला आईटीआर प्रीपरेशन सॉफ्टवेयर होगा जिसे ऑनलाइन और ऑफलाइन एक साथ प्राप्त किया जा सकेगा.
  • अगर कोई सवाल हो तो उसे भी यहां उठा सकते हैं. आईटीआर से जुड़ी कोई समस्या हो तो उसकी क्वेरी कर सकेंगे.
  • बिना किसी टैक्स जानकारी के कोई भी टैक्सपेयर कम से कम डेटा दर्ज कर आराम से ई-फाइलिंग कर सकेगा.
  • फाइलिंग से जुड़ी कोई दिक्कत आए, उसकी जानकारी चाहिए तो फोन पर मदद ले सकते हैं. टैक्स से जुड़े ‘एफएक्यू’, ट्यूटोरियल, वीडियो और चैटबोट की सुविधा ले सकते हैं.
  • डेस्कटॉप पोर्टल की सभी जरूरी सुविधाएं मोबाइल ऐप पर भी उपलब्ध हैं.
  • नए पोर्टल में एक नया टैक्स पेमेंट सिस्टम लाया गया है, जिसमें भुगतान के कई विकल्प होंगे. इनमें नेट बैंकिंग, यूपीआई, आरटीजीएस, एनईएफटी शामिल हैं.
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar