National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ग़ज़ल संग्रह “मन में उठे सवाल”का लोकार्पण हुआ

संजय कुमार गिरि
नांगलोई, नई दिल्ली। काव्य शोध संस्थान व जय भारती साहित्य संगम साहित्यिक संस्था द्दारा सुप्रसिद्ध गीतकार -गजलकार डॉक्टर जय सिंह आर्य की पुस्तक गजल संग्रह” मन में उठे सवाल” का लोकार्पण पूरे साहित्यिक वातावरण में नागलोई में संपन्न हुआ कार्यक्रम की अध्यक्षता फिरोजाबाद से पधारे आओज के जाने-माने कवि प्रोफेसर ओमपाल सिंह निडर ने की। दीप जलाकर उद्घाटन मुख्य अतिथि श्री पवन मिश्रा ने किया। मां शारदे के चित्र पर पुष्प माला श्री धर्मपाल भारद्वाज जी ने अर्पित की। लोकार्पण देश के जाने माने गीतकार डॉ राजेंद्र राजन(सहारनपुर) ने किया ।पुस्तक पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि डॉक्टर जय सिंह आर्य की यह गजलें सभी के दिलों में उतरने में सक्षम है इनके हर शेर में एक मारक क्षमता है जो सभी को झकझोर में समर्थ है। उनकी ये ग़ज़लें सहित्य के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होंगी ,ऐसी मुझे आशा नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है। इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में डॉक्टर सविता चड्ढा ,धर्मपाल भारद्वाज जी विशेष रूप से उपस्थित थे। संचालन जाने-माने गीतकार गजलकार संजय जैन जी ने किया।

इस अवसर पर आयोजित विराट कवि सम्मेलन में जिन कवियों ने सरस काव्य पाठ किया उनमें प्रमुख थे डॉ राजेंद्र राजन ,डॉक्टर जय सिंह आर्य, पवन शर्मा अनुराग धौलपुर ,राजकुमार सिसोदिया हापुड़ ,संजय जैन दिल्ली, डॉक्टर राम गाजियाबाद, सुरेश यादव दिव्य मेरठ,संजय कुमार गिरि दिल्ली , करण सिंह करण दिल्ली, हेमंत शर्मा दिल साहिबाबाद ,अंजना अंजुम मथुरा ,दुष्यंत चतुर्वेदी लखनऊ ,सत्यदेव रोहिल दिल्ली प्रमुख थे।

इस अवसर पर विशिष्ट हिंदी सेवी श्री सत्यम कौशिक, श्री भैया राम ,श्री कुंवर सिंह ,डॉक्टर गोपाल, सुश्री पूनम समोर, भरत शर्मा रिंकू ,मोहन देवनाथ, विजय कुमार, दीनदयाल यादव को विशेष रूप से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अपार सफलता पर सुश्री डा नेहा भारद्वाज व पूनम समोर ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar