National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मिथुन (Gemini) : अगस्त 2020, मासिक राशिफल

सामान्य
मिथुन राशि के जातकों को अगस्त महीने के दौरान अपनी वाकपटुता के अनुसार काफी अच्छे परिणाम मिल सकते हैं और डूबते हुए जहाज को जैसे तिनके का सहारा होता है, ऐसे ही बिल्कुल कठिन चुनौतियों में से भी आप स्वयं को और अपने आसपास के लोगों को बाहर निकाल पाने में सक्षम रहेंगे। इस दौरान आपके अंदर हास्य विनोद की भावना काफी अधिकता से पाई जाएगी और उसकी वजह से ही आपके आसपास के लोग आपसे प्रसन्न रहेंगे और आपकी पॉजिटिविटी को पसंद करेंगे। आप हाज़िर जवाब बनेंगे और कई मामलों में आपकी चालाकी देखते ही बनेगी। इसका आपको काफी हद तक लाभ भी मिलेगा। कार्यक्षेत्र में परिणाम अनुकूल रहेंगे। दांपत्य जीवन मिले जुले परिणामों के साथ आगे बढ़ेगा। यात्राओं की संभावना वैसे तो कम है, लेकिन जो भी यात्रा इस दौरान होगी, आपके लिए काम का सौदा साबित होगी।

कार्यक्षेत्र
अब बात करते हैं आपके करियर की। यह मान कर चलिए कि दशम भाव में बैठा हुआ मंगल पूरी ताकत से आपको कार्यक्षेत्र में सिरमौर बनाएगा और इससे आपके कार्यक्षेत्र में आपके अच्छे दिनों की शुरुआत होगी। हालांकि अष्टम भाव में बैठे शनि की दृष्टि दशम भाव पर होने से कुछ ऐसी चीजें अवश्य होंगी, जो आपके मन को दुखी करेंगी, जैसे कि आप जिस पद की उम्मीद कर रहे होंगे संभवतः आपको वह पद ना मिले। हालांकि आपकी पदोन्नति हो सकती है। इसके अलावा आपका मनचाहा काम इस दौरान आपको ना मिले, ऐसी संभावना भी है, लेकिन आप हिम्मत ना हारें। काम आपका बेहतर चलेगा और आपके काम की प्रशंसा भी होगी। कार्य क्षेत्र में वरिष्ठ अधिकारी आपके पक्ष में रहेंगे, विशेष कर महीने का उत्तरार्ध काफी महत्वपूर्ण रहेगा और आप सभी चुनौतियों को चुटकी बजाते हल कर लेंगे, जिससे आपकी सभी लोग प्रशंसा करेंगे। विरोधी भी दबाव में रहेंगे। यदि आप व्यापार करते हैं, तो आपको अच्छे परिणाम मिल सकते हैं, लेकिन आपको अपने पार्टनर के साथ मिलकर आपसी विवादों को सुलझा लेना चाहिए, क्योंकि अगर आप अभी नहीं सुलझा पाए, तो आगे काफी विलंब होगा और इसका असर आपके व्यापार पर पड़ सकता है। अगर आप बिना साझेदारी के व्यापार करते हैं तो परिणाम आपके अनुरूप हो सकते हैं।

आर्थिक
आर्थिक मामलों पर नजर डालें तो आर्थिक तौर पर आपको कुछ चुनौतियों का अवश्य ही सामना करना पड़ सकता है क्योंकि शनि देव आपके अष्टम भाव में चल रहे हैं, जो आर्थिक पक्ष को थोड़ा कमजोर दिखा रहे हैं। हालांकि शुक्र देव की स्थिति आपकी राशि में होने से आपको विभिन्न प्रकार के सुखों की प्राप्ति होगी और आर्थिक तौर पर आपको कुछ लाभ भी होंगे, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर बनेगी। इसके अतिरिक्त राशि स्वामी का दूसरे और तीसरे भाव में गोचर करना भी आपके लिए आमदनी का जरिया बनेगा और आप अपनी वाणी तथा कम्युनिकेशन स्किल के बल पर अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने में सफल होंगे। व्यापारियों को भी अच्छा खासा लाभ मिल सकता है और उनकी योजनाएं उनके लिए फायदे का सौदा साबित हो सकती हैं। बड़ा निवेश करने से बचना चाहिए क्योंकि इस दौरान इस मामले में अधिक सुयोग नहीं हैं। ग्रहों की स्थिति आप का मार्ग प्रशस्त करेगी और आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने में सक्षम रहेगी।

स्वास्थ्य
यदि आपके स्वास्थ्य की बात करें तो महीने के दौरान स्वास्थ्य में कुछ उतार-चढ़ाव ज़रुर देखने को मिल सकते हैं, उसकी वजह है आपकी राशि में ही राशि स्वामी के साथ राहु का स्थित होना और उस पर बृहस्पति की दृष्टि और मंगल की दृष्टि होना। हालांकि आपका राशि स्वामी इस महीने दो बार राशि परिवर्तन करेगा, जिसकी वजह से स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनेगी। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य का गोचर तीसरे भाव में होने से आपके आत्मबल में वृद्धि होगी और आप सभी प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं का डटकर सामना करेंगे और चुनौतियों से लड़ेंगे, जिससे आपके स्वास्थ्य में तेजी आएगी और समस्याओं से मुक्ति मिलेगी। हालांकि आठवें भाव में बैठे हुए शनि देव किसी गंभीर रोग को उत्पन्न कर सकते है। इसलिये किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या के प्रति उदासीन ना हों, विशेष रूप से उदर रोग तथा किसी भी प्रकार के ऐसे रोग, जो गुप्त प्रवृत्ति के हों, आप को इस दौरान परेशान कर सकते हैं, जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए।

प्रेम व वैवाहिक
यदि आपके प्रेम जीवन की बात की जाए तो पंचम भाव पर पड़ रही मंगल की दृष्टि और उसके बाद मंगल के गोचर के बाद भी पूरे महीने पंचम भाव पर इनकी दृष्टि बनी रहेगी, जिसकी वजह से रिश्तों में जल्दबाजी या किसी बात को लेकर जिद की स्थिति बनेगी, जो आपके रिश्ते के लिए अच्छी नहीं होगी। ऐसे में प्यार की कोमल भावनाओं को समझते हुए अपने प्रियतम को तरजीह दें। शुक्र का गोचर आपकी राशि में होगा, जिससे राशि स्वामी के साथ शुक्र की युति होने से आपके मन में प्यार का संचार होगा और आपका प्रियतम भी आपको बदले में भरपूर प्यार देगा, जिससे आपका प्रेम जीवन काफी बेहतर तरीके से चलेगा। इस दौरान साथ में घूमने फिरने के योग बनेंगे। साथ ही अच्छा भोजन करने अथवा कुछ गिफ्ट भी एक दूसरे को दे सकते हैं। कुल मिलाकर आपकी लव लाइफ बेहतर तरीके से चलेगी। बस किसी भी बात को लेकर जिद ना करें।
यदि आप शादीशुदा हैं तो परिणाम ना ही अधिक अनुकूल होंगे और ना ही अधिक प्रतिकूल क्योंकि सप्तम भाव में बृहस्पति की उपस्थिति दांपत्य जीवन के लिए बेहतरीन होगी, लेकिन राहु केतु का प्रभाव होने के कारण और साथ में बुध की प्रथम भाव से सप्तम भाव पर दृष्टि होने के कारण बुध और बृहस्पति तथा शुक्र तीनों ही ग्रह मंगल और राहु के प्रभाव में होंगे। इस वजह से आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि मुंह से निकली हुई बातें कई बार झगड़े का कारण बन सकती हैं। ऐसे में सोच समझकर बातचीत करें। अगर इस बात का ध्यान रखेंगे तो आपका दांपत्य जीवन बेहतर बनेगा क्योंकि आपका जीवन साथी आप के प्रति प्रेम भाव भी रखेगा। आपके रिश्ते में आकर्षण और अंतरंग संबंध भी बेहतर बनेंगे और आपका दांपत्य जीवन भी खुशनुमा रहेगा। अपने ससुराल पक्ष के लोगों का आदर करना आपके लिए और भी अधिक एक अच्छा विकल्प साबित होगा। संतान के प्रति थोड़ा सा गंभीर होना आपके लिए आवश्यक होगा क्योंकि इस दौरान उन्हें आप की आवश्यकता होगी।

पारिवारिक
यदि आपके पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो मंगल की चतुर्थ भाव पर पड़ रही दृष्टि परिवार में माहौल को थोड़ा गर्म ही रखेगी और वहीं दूसरे भाव में बैठे सूर्य देव भी अधिक अनुकूल परिणाम नहीं देंगे और कुटुंब में भी थोड़ी तनातनी चल सकती है। हालांकि जैसे ही सूर्य का गोचर महीने के उत्तरार्ध में आपके तीसरे भाव में होगा और उस दौरान बुध ग्रह भी दूसरे भाव से निकल कर तीसरे भाव में आ चुके होंगे, तब परिवार और कुटुंब के लोग एक दूसरे के प्रति काफी आदर का भाव रखेंगे और प्रेम पूर्वक बातें करेंगे, जिससे माहौल हल्का होगा और पारिवारिक जीवन में सुख आएगा। छोटे भाई बहनों से आपके संबंध काफी महत्वपूर्ण और घनिष्ट बनेंगे, जिसका आपको आगे जाकर भी लाभ होगा, क्योंकि वे हर काम में आपके साथ खड़े हुए नजर आएँगे।

उपाय
इस महीने आपको उपाय के तौर पर विशेष रूप से आपको गौ माता को हरा चारा अथवा हरी सब्जियाँ अपने हाथ से खिलानी चाहिएं। आप चाहें तो साबुत मूंग की दाल भी गौ माता को खिला सकते हैं। इसके अतिरिक्त छोटी कन्याओं को हरे रंग की चूड़ियां और हरे रंग के कपड़े भेंट करना उत्तम रहेगा। आपको पन्ना रत्न धारण करने की सलाह भी दी जाती है, जिससे आपके आत्मबल में और आपके स्वास्थ्य में वृद्धि हो तथा आपके सुखों की वृद्धि भी हो सकेगी। इसके अतिरिक्त शनिवार के दिन शनि चालीसा का पाठ करना आपके लिए अनुकूल रहेगा और इससे आपको भाग्य का साथ मिलेगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar