न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

शारदे काव्य संगम में हुआ भव्य कवि सम्मेलन

मध्यप्रदेश. विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में रविवार 6 जून 21 को शारदे काव्य संगम सतना के पटल पर जूम एप पर एक भव्य कवि सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें जाने माने छंद गुरु आदरणीय रामनाथ साहू ननकी जी ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की अध्यक्षता की। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि आदरणीय महेश जैन ज्योति ने माल्यार्पण कर शुभारंभ किया। आदरणीय ननकी जी ने शारदे काव्य संगम में चल रहे कार्यक्रम की बहुत ही सराहना की और कहा कि शारदे काव्य संगम के साहित्य साधक बहुत ही परिश्रमी हैं और साहित्य साधना में अच्छा प्रयास कर रहे हैं निश्चय ही आने वाले समय में बहुत से साहित्यकार छंद की गहराइयों को स्पर्श करेंगे। मुख्य अतिथि आदरणीय महेश जैन ज्योति जो कि छंद मर्मज्ञ है उन्होंने प्रस्तुत सभी प्रस्तुतियों की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि विभिन्न छंदों की झलकियां देखकर मैं बहुत गदगद हो गया। निश्चय ही यह साहित्य साधक भारतीय साहित्य को एक नया आयाम देंगे। कार्यक्रम का संचालन शारदे काव्य संगम की राष्ट्रीय अध्यक्षा आदरणीया व्यंजना आनंद मिथ्या जी एवं माधुरी डडसेना जी ने बहुत ही शानदार तरीके से किया। अंत में कुछ तकनीकी समस्या आ जाने के कारण संचालन वरिष्ठ साहित्यकार राजकुमार छापरिया जी ने बहुत ही सुंदर ढंग से किया। आदरणीया माधुरी डडसेना मुदिता जी द्वारा बहुत ही मोहक सुरीली सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गई।

कविसम्मेलन की शुरुआत ज्ञानेश्वरी साहू के शंखनाद से हुई । आज के कार्यक्रम में देश के कोने-कोने से वरिष्ठ साहित्यकार सम्मिलित हुए जिनमें सपना सक्सेना दत्ता सुहासिनी, आ शिवकुमार श्रीवास जी, रामचन्द्रस्वामी अध्यापकबीकानेर, आ रामनाथ साहू ननकी जी,राम शरण सेठ, मिर्जापुर, नरेंद्र वैष्णव, सक्ती,डॉ.गीतापाण्डेय अपराजिता रायबरेली,पुष्पा निर्मल, व्यंजना आनंद “मिथ्या “,राजकुमार छापड़िया* मुंबई,सविता मिश्रा वाराणसी उत्तर प्रदेश ,पूनम शर्मा स्नेहिल उत्तरप्रदेश,योगिता चौरसिया मंडला म.प्र,सुधीर श्रीवास्तव, गोण्डा, उ.प्र,शोभा रानी तिवारी इन्दौर, ममता प्रीति श्रीवास्तव (शिक्षिका) गोरखपुर, उत्तर प्रदेश, विष्णु असावा
बिल्सी जिला बदायूं,साधना मिश्रा लखनऊ, नीलम डिमरी उत्तराखंड, भास्कर सिंह माणिक, वृंदावन राय सरल सागर, सुशीला जोशी विद्योत्तमा उत्तर प्रदेश, नम्रता श्रीवास्तव ,कल्पना भदौरिया स्वप्निल, अर्पिता सिंह बेतिया, बृजबाला श्रीवास्तव, रणविजय यादव,रेखा शर्मा, डॉक्टर कवि कुमार निर्मल, केसरवानी चंदन, निरामणि श्रीवास, विकास भारद्वाज, सुनील गुप्ता, योगिता चौरसिया, ओम प्रकाश श्रीवास्तव कानपुर, अजय कुमार श्रीवास्तव कानपुर, धारा बल्लभ पांडेय ‘आलोक’ अल्मोड़ा, उत्तराखंड ने एक से बढ़ कर एक सुंदर प्रस्तुतियां दीं तथा वहीं बेतिया की नवोदित कवियत्री अर्पिता सिंह ने अपनी भावपूर्ण प्रस्तुति से सबका मन जीत लिया । वास्तव में पटल पर एक से बढ़कर एक छंदों व गीतों की बारिश हुई। अंत में सभा अध्यक्ष ने सभी को इसी प्रकार साहित्य साधना में समर्पित रहने का एवं माता सरस्वती की सेवा करने का संदेश देते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।
संरक्षक- पटल के संस्थापक रोहित चौरसिया जी व शैलेन्द्र पयासी के मार्गदर्शन एवं प्रयासो से शारदे काव्य संगम प्रगति की ओर अग्रसर और नित नई साहित्यिक ऊंचाइयों को पटल छू रहा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar