न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर डॉ. यश गर्ग ने गुरुग्राम के मैप्सको कासा बेला में कोविड केयर सेंटर का किया उद्घाटन

  • यह सेंटर कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन की एक पहल है
  • कोविड-19 रोगियों के सस्पेक्टेड, एसिम्प्टमैटिक, प्री-सिम्प्टमैटिक व माइल्ड केस के लिए सेंटर को निःशुल्क आइसोलेशन-कम-मैनेजमेंट फैसिलिटी के रूप में परिकल्पित किया गया है

गुरुग्राम। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण हॉस्पिटल बेड की कमी से निपटने के प्रयास में, गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर डॉ. यश गर्ग (आईएएस) ने आज सेक्टर-82 स्थित मैप्सको के कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन की पहल से बने आठ बेड वाले कोविड केयर सेंटर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर सीबीसीए (कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन) के सदस्य, कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन के प्रेसिडेंट कमांडर सत्यवीर सिंह, मैप्सको स्टाफ और रेजिडेंट्स उपस्थित थे। इस पहल का नेतृत्व कमांडर सत्यवीर सिंह कर रहे हैं और यह निःशुल्क प्रदान किया जाएगा।

मैपस्को कासा बेला के क्लब हाउस को पंखा, गद्दा, तकिया, पानी, वाई-फाई के साथ ब्रॉडबैंड, भोजन, जूस आदि जैसी सुविधाओं से पूरी तरह सुसज्जित आठ बेड वाले कोविड केयर सेंटर में बदला गया है। सेंटर में एक नर्स, एक अटेंडेंट और हाउसकीपिंग एक्जीक्यूटिव की तैनाती सहित थ्री लेयर मास्क, ऑक्सीजन, डॉक्टर कंसल्टेशन की सुविधाएं भी दी जा रही हैं। इसके अलावा, सेंटर में अलग-अलग रेड ज़ोन और ग्रीन ज़ोन, डोनिंग और डफ़िंग एरिया और 24 घंटे/ 48 घंटे वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम मौजूद है।

उद्घाटन के अवसर पर गुरुग्राम के डिप्टी कमिश्नर डॉ. यश गर्ग (आईएएस) ने कहा, “कोविड केयर सेंटर हमारे बुनियादी चिकित्सा ढांचे को बढ़ाने में मदद करेगा और जिले में प्रभावित लोगों के लिए हमारी राहत गतिविधियों को व्यापक बनाने में हमें सक्षम करेगा। हम सीबीसीए (कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन) के प्रेसिडेंट और सदस्यों की सराहना करते हैं जिन्होंने कोविड रोगियों के लिए इस तरह की पहल की है। उन्होंने पेशेवर अस्पताल की तरह कोविड केयर सेंटर बनाया बनाया है जहां सेंटर को रोगियों की स्थिति के अनुसार रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में वर्गीकृत किया है। इसके अलावा, उन्होंने डॉक्टरों और नर्सों की तैनाती के साथ-साथ कोविड-19 के सभी मापदंडों और दिशा-निर्देशों का पालन किया है।“

इस अवसर पर मैप्सको ग्रुप के डायरेक्टर श्री राहुल सिंगला ने कहा, “पूरे भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेज वृद्धि चिंता का कारण है। इसने मौजूदा स्वास्थ्य सुविधाओं पर काफी दवाब बढ़ा दिया है। यह पहल समाज को वापस देने और कोरोना वायरस रोगियों की कठिनाइयों को कम करने की हमारी प्रतिबद्धता के अनुरूप है। हम विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के सहयोग के माध्यम से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए आश्वस्त हैं।”

कोविड केयर सेंटर को कोविड-19 रोगियों के सस्पेक्टेड, एसिम्प्टमैटिक, प्री-सिम्प्टमैटिक व माइल्ड केस के लिए सेंटर को निःशुल्क आइसोलेशन-कम-मैनेजमेंट फैसिलिटी के रूप में परिकल्पित किया गया है। इस पहल से परिवार के सदस्यों और निकट पड़ोसियों के बीच वायरस के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। सेंटर की सुविधाएं कोविड-19 के उन रोगियों के लिए नहीं है जो बुजुर्ग हैं, दस वर्ष से कम उम्र के बच्चे हैं, गर्भवती/स्तनपान कराने वाली महिलाएं या अन्य किसी बीमारी से पीड़ित हैं।

कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन के प्रेसिडेंट कमांडर सत्यवीर सिंह ने कहा, “कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि के कारण बेड और ऑक्सीजन की कमी हो गई है। समय की मांग है कि हम जिम्मेदार नागरिकों के रूप में जिस तरह से भी कर सकते हैं सरकारी प्रयासों को आगे बढ़ाएं। आइसोलेशन व मैनेजमेंट फैसिलिटी के माध्यम से सेंटर कॉन्डोमिनियम में कोविड-19 के प्रसार को रोकने में मदद करेगा। हम जिला प्रशासन, मैप्सको ग्रुप और हमारे सभी भागीदारों के आभारी हैं जिन्होंने इस पहल के निर्बाध कार्यान्वयन में अपना बहुमूल्य सहयोग दिया है।”

इन सुविधाओं को आरडब्ल्यूए द्वारा आर्थिक सहयोग की मदद से स्थापित किया गया है। यह सेंटर कोविड केयर सेंटर मानक एम्स प्रोटोकॉल का पालन करता है। मैप्सको ग्रुप ने भी इस पहल में उदारतापूर्वक योगदान दिया है। जहां जिला प्रशासन ने दो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किया है वहीं, एम्स भादसा के सीनियर नर्सिंग ऑफिसर श्री लोकेश यादव ने उपकरण समेत एक ऑक्सीजन रेगुलेटर, 50 मास्क, हैंड ग्लव्स, काले चश्मे और 10,000 रुपये की जीवन रक्षक मेडिसिन किट प्रदान किया है। उन्होंने महामारी के दौरान, जहां भी आवश्यक हो अपनी सेवाएं निःशुल्क प्रदान करने पर भी सहमति व्यक्त की है। मैप्सको कासा बेला विला नंबर 38 की निवासी श्रीमती राजबाला लांबा ने भी एक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दान किया है और मैप्सको कासा बेला विला नंबर 11 निवासी मास्टर रोहित श्योकंद ने इस पहल के लिए आर्थिक योगदान दिया है। आरवी चैरिटेबल ट्रस्ट ने सेंटर में हर मरीज को पहली मेडिकल किट मुफ्त उपलब्ध कराने की सहमति दी है।

ओनर्स एसोसिएशन, जिसे कासा बेला कॉन्डोमिनियम एसोसिएशन (सीबीसीए) कहा जाता है, 07 जनवरी 2020 को पंजीकृत किया गया था और 27 अप्रैल 2021 को इसकी प्रबंध समिति का चुनाव किया गया था।

यह पहल जिला प्रशासन के निर्देश के मद्देनजर शुरू किया गया है जिसमें अपस्केल कॉन्डोमिनियम, गेटेड हाउसिंग सोसाइटी और एनजीओ को अपने संसाधनों के माध्यम से समर्पित कोविड केयर सेंटर्स स्थापित करने की अनुमति दी गई है। भारत में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रहा है, जिसमें प्रति दिन औसतन तीन लाख से अधिक मामले आ रहे हैं। अकेले गुरुग्राम में रोजाना करीब 2000 मामले सामने आ रहे हैं। मैप्सको कासा बेला हरे-भरे हरियाली में फैला एक आलीशान रेजिडेंशियल हब है जो एक शानदार जीवन शैली का वादा करता है। गुरुग्राम के सेक्टर-82 में स्थित इस रेजीडेंसी में लुभावने इंटीरियर के साथ अपार्टमेंट, विला और पेंटहाउस की एक विशेष श्रेणी शामिल है और जीवन स्तर में एक नया आयाम जोड़ता है। स्मार्ट आर्किटेक्चर और आकर्षक स्पेस मैनेजमेंट की विशेषता वाला, यह परियोजना अत्याधुनिक सुविधाओं से संपन्न है जो वास्तव में जीवन शैली के संवर्धन का समर्थन करती है।

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar