National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

कन्या (Virgo) का मासिक राशिफल : मई 2020

कन्या का मासिक राशिफल / Kanya Masik Rashifal in Hindi

सामान्य
मई के महीने में जब सूर्य की गर्मी अपने चरम पर होगी तो, कन्या राशि वाले जातकों को सबसे ज्यादा चिंता करनी चाहिए अपने स्वास्थ्य की, क्योंकि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता का ह्रास होने के कारण इस समय कुछ बीमारियाँ परेशान कर सकती हैं। इसलिए स्वयं को स्वस्थ रखने का प्रयास करें। इस महीने यात्रा पर जाने की स्थिति बने तो भी उससे दूर रहना ही बढ़िया रहेगा क्योंकि इससे आपकी सेहत बिगड़ सकती है। समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होगी और आपका प्रेम व स्नेह सभी लोगों के प्रति एक जैसा रहेगा, जिसकी वजह से आपको कई जगह पर अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। इस महीने कोई महिला आपके जीवन में उत्थान का मार्ग प्रशस्त कर सकती है, इसलिए सभी महिलाओं से अच्छा व्यवहार करें। आपको अभी से कुछ भावी योजनाओं के बारे में विचार करना होगा जिससे भविष्य में आपको धन संबंधी चुनौतियों का सामना ना करना पड़े।

कार्यक्षेत्र
कार्यक्षेत्र सबसे महत्वपूर्ण जगह है, क्योंकि इसी से आपकी आजीविका चलती है। दशम भाव में बैठे राहु और नवम भाव में बैठे शुक्र की कृपा आप पर बरसेगी और कार्यक्षेत्र में आप बेहतरीन प्रदर्शन कर पाने में सफल रहेंगे। आपकी चुटकियों में हर समस्या को हल करने की आदत, आपको कार्यक्षेत्र में सिरमौर बनाएगी। हालांकि बीच-बीच में आप के वरिष्ठ अधिकारी किसी बात को लेकर आप से रुष्ट हो सकते हैं, इसलिए आपको अति आत्मविश्वास से बचना चाहिए और हर जगह पर शॉर्टकट आज़माने से बचना चाहिए। अपने बढ़िया काम को जारी रखें और किसी भी स्थिति में अपने विरोधियों को स्वयं पर हावी ना होने दें। ऐसी संभावना भी है कि आप शीघ्र ही अपनी नौकरी को बदल कर दूसरी नौकरी का प्रयास करेंगे और उसमें आपको सफलता भी मिल सकती है। इसके विपरीत यदि आप एक व्यापारी हैं तो, व्यापार इस दौरान अच्छे परिणाम प्रदान करेगा और आपको बेहतरीन लाभ देकर जाएगा। व्यापार का विस्तार होने की भी अच्छी संभावनाएं दिखती हैं, इसलिए यदि इस दिशा में प्रयास कर रहे हैं तो, इस महीने व्यापार विस्तार के कार्य को गति दें, ताकि आपका व्यापार उन्नति के पथ पर आगे बढ़े।

आर्थिक
आर्थिक मोर्चे पर आपका महीना काफी बेहतरीन रहेगा, क्योंकि एकादश भाव पर तीन-तीन ग्रहों की दृष्टि होने से आपको विभिन्न प्रकार के स्रोतों से आमदनी होती रहेगी। एक से अधिक माध्यम आपको धन देने के लिए उतावले रहेंगे। नवम भाव में अपनी राशि का शुक्र जो कि द्वितीय भाव का स्वामी भी है, आपको विभिन्न योजनाओं में सफलता दिलाएगा और भाग्य की आपको पूरा सहायता मिलेगी, जिसकी वजह से आर्थिक मोर्चे पर आप काफी मजबूती से टिके रहेंगे। जीवनसाथी के माध्यम से भी आपको कुछ अच्छे समाचारों की प्राप्ति हो सकती है और उनके माध्यम से भी धन लाभ की संभावना दिखती है। इस प्रकार कहा जाए तो मई का महीना आपके लिए काफी अच्छे परिणाम लेकर आने वाला है। इस महीने ऑनलाइन संवाद के माध्यम से आपको आर्थिक मोर्चे पर काफी लाभ होगा।

स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मई का महीना थोड़ा सा नाज़ुक रह सकता है, क्योंकि महीने की शुरुआत में ही राशि स्वामी बुध आठवें भाव में उपस्थित है और सूर्य के साथ स्थित है, उस पर मंगल की दृष्टि भी है। ऐसी स्थिति में स्किन रिलेटेड समस्या हो सकती है तथा आप की इम्युनिटी कमजोर पड़ सकती है, जिससे विभिन्न प्रकार के रोगों का खतरा है। ध्यान दें कि इस समय में इम्यूनिटी कमजोर होने से आप कोरोना संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं अथवा आपको पीलिया जैसी बीमारी परेशान कर सकती है। पंचम भाव में शनि, मंगल और बृहस्पति की स्थिति आपको पेट से संबंधित विकार दे सकती है। अपच और एसिडिटी तथा जोड़ों में दर्द और पैरों में दर्द की समस्या से भी आपको परेशान हो सकती है। विशेष रूप से पीने के पानी पर ध्यान दें, क्योंकि इसका असर आपके लीवर पर पड़ सकता है। यानि कि मई का महीना आपको अपनी सेहत के बारे में ज्यादा जागरूक रहने के लिए चेतावनी दे रहा है। इस चेतावनी को नज़रअंदाज़ ना करें और हर छोटी से छोटी समस्या को तुरंत समाधान की दिशा में मोड़ने का प्रयास करें, ताकि कोई भी समस्या आपको लंबे समय तक परेशान ना कर पाए और आप एक स्वस्थ जीवन जी पाएँ।

प्रेम व वैवाहिक
प्रेमी युगल के लिए मई का महीना किसी चुनौती से कम नहीं रहने वाला है और सही मायनों में यही वह महीना है, जब आपके प्यार की पूरी तरह से परीक्षा ली जाएगी। समय आपको मौके देगा कि आप अपने प्यार की गहराई और सच्चाई को आज़माए, क्योंकि शनि, मंगल तथा बृहस्पति की पंचम भाव में उपस्थिति प्रेम संबंधों में बार-बार चुनौतियाँ प्रस्तुत करेगी और कई बार ऐसी संभावना भी उत्पन्न हो जाएगी कि आपका आपके प्रियतम से बिछोह हो जाए। हालांकि नवम भाव का शुक्र प्रेम संबंधों को सपोर्ट करता रहेगा और किसी न किसी तरह आपकी प्यार की नैया हिचकोले ले लेकर भी चलती रहेगी, लेकिन आपको विशेष रूप से अपने रिश्ते में इस बात पर ध्यान देना होगा कि आप अपने प्रियतम के प्रति सच्चाई और ईमानदारी बरतें और उनके अतिरिक्त किसी अन्य से संबंधों में ना पड़े, नहीं तो आपका रिश्ता बिखर भी सकता है। आपका प्रियतम वास्तव में आपसे प्रेम करता है, इसलिए उनकी भावनाओं और सच्चाई को समझें। जो लोग अभी तक सिंगल हैं, उनके जीवन में कोई नया व्यक्ति दस्तक दे सकता है, जिससे उनके प्रेम संबंध मधुर बनेंगे।
यदि आप शादीशुदा हैं तो, मई का यह महीना आपके लिए काफी बेहतरीन साबित होने वाला है, क्योंकि ना केवल इस महीने आपका जीवन साथी प्रेम के मामले में आपके साथ खड़ा दिखाई देगा, बल्कि आर्थिक मोर्चे पर भी आपके साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहेगा और उनके कारण आपको अनेक लाभ भी प्राप्त होंगे। आपका रिश्ता पहले के मुकाबले और मजबूती की ओर आगे बढ़ेगा तथा संतान को लेकर दोनों की चिंता एक दूसरे को और नज़दीक लेकर आएगी। इस दौरान आपको अपनी संतान के प्रति थोड़ा चिंतित होना चाहिए, क्योंकि उनका स्वास्थ्य कमजोर पड़ सकता है। हालांकि संतान के प्रति आपकी और आपके जीवन साथी की ज़िम्मेदारी एक है। इसलिए आप दोनों को उसकी चिंता होगी और यही आपको एक दूसरे के और निकट लेकर आएगी और आपके दांपत्य जीवन में जो तनाव भरी स्थिति में चल रही थी, उससे अब धीरे-धीरे छुटकारा मिलना शुरू हो जाएगा।

पारिवारिक
आईये अब बात करते हैं आपके पारिवारिक जीवन की। द्वितीय भाव का स्वामी नवम भाव में उपस्थित होने से कुटुंब का आपको पूरा सहयोग मिलेगा और आपके भाग्य को बनाने में वे लोग भी आपकी मदद करेंगे अर्थात भाग्य के कारण आपके कुटुंबी जन आपके साथ खड़े रहेंगे, जिससे आपको मजबूती भी मिलेगी और लाभ भी होंगे। इसके साथ-साथ चतुर्थ भाव में केतु की उपस्थिति परिवार में कुछ अशांति उत्पन्न कर सकती है। हालांकि आप अपनी चतुराई से इस समस्या का समाधान निकालने में भी माहिर हैं, इसलिए समय रहते इन समस्याओं को सुलझा लें और अपने माता-पिता की देखभाल करें। भाई बहन आपके विशेष मामलों में आपको सलाह देंगे और उनकी सलाह से आपके कई काम बनेंगे, जिससे उनके और आपके संबंधों में सुधार आएगा। आप इस महीने आवश्यक कार्य अवश्य कुछ यात्राओं पर भी जायेंगे, जिसकी वजह से परिवार को समय कम दे पाएंगे।

उपाय
इस महीने आपको किसी से भी ऐसा वादा ना करें, जिसे आप निभा ना सकें। यदि आपने वादा किया और ना निभा पाए तो, इसका असर आपके स्वास्थ्य पर पड़ सकता है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar