न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

हास्य-व्यंग्य : नेहरू पैदा कर गये आक्सीजन की समस्या

अगर नेहरू जी आक्सीजन का प्लान्ट लगा गये होते, तो आज आक्सीजन के लिए जनता देश भर में त्राहि-त्राहि न कर रही होती। दरअसल आक्सीजन प्लान्ट लगाना तो गोडसे भी चाह रहे थे, पर इन्हीं कांग्रेसियों ने खूब जोर लगा कर उन्हें रोक दिया था। हमारे मोदी जी नाली की गैस से, खाना बनाने वाली, चाय बनाने वाली गैस तो बना सकते हैं, पर आक्सीजन नहीं बना सकते, क्योंकि आक्सीजन की उन्हें कभी जरूरत ही पड़ी, न ही बनाने के लिए उनसे किसी ने कभी कहा, पर इतना बड़का राम मंदिर बना रहे हैं, जिसके सहारे हमारे मोदी जी सत्ता में आए और बड़का-बड़का सब लोगन के लिए काम कर रहे हैं, दुनिया में सबसे बड़ी पटेल की करोड़ो लगाकर, मूर्ति लगवाई। अपने नाम से करोड़ो का स्टेडिएम बनवाया है। नई संसद बनाने का, करोड़ों का बजट पास कर दिया हैं, अपने पार्टी के कार्यालय करोड़ों की लागत से बनवा दिये हैं। ये सब क्या कम महान काम हैं, अब लोग कोरोना मारामरी में, आक्सीजन की कमी से, डॉक्टरों की कमी से, दवाओं की कमी से, अस्पतालों की कमी से, मर रहे हैं तो इसमें हमारे मोदी जी का क्या दोष हैं, इसमें जरूर पाकिस्तान की साजिश है, यह कोरोना बम जमातियों के बाद पाकिस्तानियों ने ही फोड़ा है, हमारे मोदी जी के तो कुंभ में नहाने वाले भक्त, उनकी रैली में आने वाले हजारों समर्थक कोरोना घटाने का लगातार काम किए हैं। वैसे भी अस्पताल हमारे मोदी जी से किसी ने मांगा नहीं था। उनकी पार्टी का एजेन्डा भी नहीं था। फिर काहे मोदी जी बनवा देते। मोदी जी क्या हमारे फेंकू है, जो कहते मंदिर और बनवाते अस्पताल। अब पाकिस्तान परस्त लोग कह रहे हैं, इमरान ने एक साल में अपने अस्पतालों, डाक्टरों की संख्या बढ़ा कर माहामारी पर बिना सम्पूर्ण लाकडाउन लगाए ही काफी हद तक कोरोना काबू कर लिया, पर हमारे मोदी जी नाकाम रहे, ये सब पाकिस्तानी खालिस्तानी मानसिकता वाले लोग बकवास करतें हैं, ये नहीं देखते पाकिस्तान ने अपनी आर्थिक तंगी के चलते गधे तक बेच डाले, हमारे मोदी जी ने कुछ बेचा? अरे! विनिवेश किये हैं, देश की दशा सुधारने के लिए। उस पर भी देशद्रोही लोग कह रहें हैं मोदी जी ने देश बेच दिया। बेकारी बढ़ा दी। अब जनता ने आक्सीजन मांगी है अस्पताल मांगे हैं, तो वो भी मिलेगा, पहले चुनाव निपट जाने दो तभी कुछ हमारे मोदी जी कर पाएंगे। तब तक राम चरित मानस पढ़े, कोरोना भगाए, यह राजनाथ सिंह के मन की यह बात मानें। वेदों का श्रवण करके हमारे ऋषि मुनि हजारों बरस तक बिना हवा-पानी के जीतें थे। यह तीरथवा की नेक सलाह मानें। और जो लोग पीएम केयर फंड का हिसाब मांग रहे हैं, वो ये क्यों भूल जाते हैं देश हित में क्या रैली फ्री में हो जाती है। हमारे मोदी जी जब रैली में पैसा लगा कर चुनाव जीतेंगे, तभी तो वह सबकी केयर और सबका साथ सबका सबका विकास कर सकेंगे, फिर भी यह पीएम केयर फंड का हिसाब मांगने वाले पता नहीं क्यों हमारे मोदी जी को फालतू में चोर कहने की नाजायज कोशिश कर रहे हैं।

 

सुरेश सौरभ

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar