National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ICICI Lombard द्वारा कराये गये अब तक के पहले Wellness Index में भारत को 100 में से 58 अंक मिले 

– आईसीआईसीआई लोम्बार्ड वेलनेस इंडेक्स भारतीयों के स्वास्थ्य की वर्तमान स्थिति को मापता है 
– दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरू, हैदराबाद सहित 11 शहरों के 2,350 उपभोक्ताओं का साक्षात्कार किया गया 
विजय न्यूज ब्यूरो
मुंबई। भारत के अग्रणी सामान्य बीमाकर्ताओं में से एक, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस ने वेलनेस इंडेक्स लॉन्च किया है। वेलनेस इंडेक्स, भारत का अब तक का पहला और विशिष्ट बैरोमीटर है, जो देश के स्वास्थ्य कोशियंट को मापता है। सामान्य बीमाकर्ता द्वारा कराये गये अखिल-भारत अध्ययन में, भारत का वेलनेस इंडेक्स 100 में से 58.3 है, जोकि दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी जनसंख्या वाले देश के लिए औसत अंक है।
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, भार्गव दासगुप्ता ने मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान इस इंडेक्स को लॉन्च किया। अमेरिका के डेनियल क्राफ्ट, जो विश्वविख्यात चिकित्सा विशेषज्ञ, औषधि के क्षेत्र में अन्वेषक एवं नवोन्मेषक हैं, इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे।
वेलनेस इंडेक्स स्वास्थ्य को मापता है और व्यक्तियों या समूहों के स्वास्थ्य की वर्तमान स्थिति का आकलन करता है। हालांकि उपभोक्ता की प्रवृत्ति एवं स्वास्थ्य के क्रियान्वयन को समझने के लिए कई अध्ययन कराये जाते हैं, लेकिन ऐसा कोई भी अध्ययन नहीं है जो विशिष्ट क्षेत्रों में और वैज्ञानिक तरीके से स्वास्थ्य के पहलू को मापे। जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों में वृद्धि और उपभोक्ताओं द्वारा स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने की स्पष्ट प्रवृत्तियों के मद्देनजर, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड वेलनेस इंडेक्स एक बेंचमार्क प्लेटफॉर्म के रूप में काम करेगा, जो स्वास्थ्य के इस सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र की प्रवृत्तियों एवं बदलती ग्राहक आवश्यकताओं को बताता है।
वेलनेस इंडेक्स की दृष्टि से, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरू, हैदराबाद एवं गैर-महानगरीय शहरों जैसे-अहमदाबाद, इंदौर, चंडीगढ़, लखनऊ एवं भुवनेश्वर सहित 11 शहरों में अध्ययन कराया। कुल मिलाकर, लगभग 2,350 उपभोक्ताओं का साक्षात्कार किया गया, जिनमें से 1,175 प्रतिक्रियादाता उन लोगों में शामिल थे जो किसी न किसी रूप में स्वास्थ्य पहलों से जुड़े थे। यह व्यापक शोध 115 दिनों से अधिक समय तक चला।
वेलनेस इंडेक्स को आगे चार भागों में बांटा जाता हैः 
1. स्वास्थ्य पहलू के साथ-साथ उपभोक्ताओं में इसके लाभों को समझना
2. इंफ्लुएंसर्स, जो वेलनेस को अपनाने एवं इसके मेंटनेंस को प्रभावित करते हैं
3. एक्शन में उपभोक्ताओं द्वारा वर्तमान एवं भविष्य की स्वास्थ्य आदतें एवं इसके परिणामी लाभ शामिल होते हैं
4. वेलनेस आदतों के शारीरिक सक्षमकर्ताओं एवं बाधकों सहित बुनियादी ढांचा
उपर्युक्त सूचकांकों में से प्रत्येक के लिए संभव अधिकतम अंक 25 है।
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी, भार्गव दासगुप्ता ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में, हम अपने ग्राहकों के लिए सर्वोत्तम कोटि के जोखिम प्रबंधन एवं न्यूनीकरण पद्धतियों पर अपने द्वारा दिये जा रहे जोर के मद्देनजर, हम पिछले कुछ वर्षों से स्वास्थ्य के पहलू पर ध्यान दे रहे हैं। परिणामस्वरूप, हमने वेलनेस एवं स्वास्थ्य सहायता के क्षेत्र में कई नई-नई पेशकशों को लाया है। आगे, वेलनेस इंडेक्स के लॉन्च किये जाने से स्वास्थ्य के इस महत्वपूर्ण पहलू पर ग्राहकों की वरीयताओं को वैज्ञानिक तरीके से जानने में मदद मिलेगी और इस प्रकार, उपयोगी एवं नये-नये वेलनेस-केंद्रित समाधान उपलब्ध करा सकेंगे।
हाल के बीते समय में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड द्वारा वेलनेस से जुड़े उठाये गये कुछ प्रमुख कदमों में निम्नलिखित शामिल हैंः
– कॉर्पोरेट्स के लिए कार्यस्थल स्वास्थ्य का आकलन
– कार्य पर वेलनेस – अर्गोनॉमिक्स का मूल्यांकन
– मातृत्व देखभाल कार्यक्रम
– जीवनशैली परिवर्तन योजनाएं
– तुरंत स्वास्थ्य जांच
– टीकाकरण अभियान
– स्वास्थ्य जोखिम आकलन – कॉर्पोरेट्स एवं व्यक्तिगत कर्मचारियों के स्वास्थ्य स्कोर को परिभाषित करने हेतु विकसित ऑनलाइन पोर्टल
– रोजगार सहायक कार्यक्रम – मनोवैज्ञानिक परामर्श
– साउंड हीलिंग एवं लाफ्टर योग – तनाव से राहत दिलाने की तकनीकें
– रोजगार-पूर्व/फैक्ट्री स्वास्थ्य जांच/फूड हैंड्लर्स के लिए अनुपालन-आधारित स्वास्थ्य जांच
– टेली-कंसल्टेशन से आपातकालीन मेडिकल एंबुलेंस सेवा
– स्वास्थ्य सहायता सेवा
लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए, डॉ. क्राफ्ट ने कहा, ‘‘वैश्विक रूप से, उपभोक्ता के जीवन में तेजी से वेलनेस का महत्व बढ़ता जा रहा है। मैं यूरोप, अमेरिका जैसी विकसित अर्थव्यवस्थाओं में स्पष्ट रूप से एक प्रवृत्ति देखता हूं कि वहां बीमाकर्ताओं सहित स्वास्थ्य सेवा कंपनियां जोखिम न्यूनीकरण पद्धतियों के जरिए अपने ग्राहकों को स्वस्थ बनाये रखने में अधिकाधिक रूप से मुख्य भूमिका निभा रही हैं। मैं भारत में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जैसी कंपनियों को यहां आगे आकर वेलनेस इंडेक्स जैसी पहलों के जरिए इस तरह की सर्वोत्तम आदतों को शामिल करते हुए देखकर बेहद उत्साहित हूं।’’
अध्ययन के प्रमुख निष्कर्षः
इंडेक्सः 19.8 को समझना
– दीर्घकालिक प्रभाव एवं सक्रिय जीवन शैली को सबसे महत्वपूर्ण कारक पाया गया
– जीवनशैली समस्याओं में बढ़ते असंतुलन के साथ, मानसिक सुकून की सबसे अधिक इच्छा होती है और ऐसा माना जाता है कि वेलनेस के जरिए इसे हासिल किया जा सकता है
– प्रतिक्रियादाताओं ने ‘निवारक बीमारी’ और ‘संतुलित पोषण’ को सबसे कम महत्व दिया (यहां …. में से व्यक्तिगत स्कोर दें)
इनफ्लुएंस इंडेक्सः 13.6 
– स्वस्थ बनने की व्यक्तिगत इच्छा (… में से व्यक्तिगत स्कोर दें), वेलनेस गतिविधियों को अपनाने का प्रमुख कारक है
– वेलनेस का अभ्यास करने के लिए सामाजिक छवि एवं सामाजिक कारक महत्वपूर्ण प्रभावी कारक हैं (… में से व्यक्तिगत अंक)
– वेलनेस के प्रति व्यवहार को प्रभावित करने की दृष्टि से मोटापे को सबसे कम महत्वपूर्ण कारक माना गया (व्यक्तिगत …)
एक्शन इंडेक्सः 17.4 
– उच्च स्कोर (कितना) और बेहतर मानसिक स्वास्थ्य हासिल करने हेतु मूलभूत आवश्यकता के रूप में शारीरिक स्वास्थ्य से जुड़ा महत्व
– नियमित रूप से टहलना और जिम जाने के साथ भरपूर नींद जैसी गतिविधियां वेलनेस हासिल करने के लिए सर्वाधिक पसंदीदा गतिविधियां हैं (मूल्य प्रदान करें)
– इस सर्वेक्षण में इस बात का भी खुलासा किया गया है कि हमारी वर्तमान जीवनशैली में मानसिक तनाव को दूर करने की आवश्यकता महत्वपूर्ण है, इस प्रकार प्रतिक्रियादाताओं ने पसंदीदा शारीरिक गतिविधियों के रूप में योग व ध्यान को शामिल किया (मूल्य)
– इस अध्ययन ने उन गतिविधियों की प्राथमिकता की दृष्टि से उछाल भी प्रदर्शित किया, जिन्हें व्यक्तिगत सुविधा एवं जीवनशैली के अनुसार घर, कार्यालय या अन्य स्थानों पर किया जा सकता है
इंफ्रास्ट्रक्चर इंडेक्सः 7.5 (जहां भी संभव हो, मूल्य/मान प्रदान करें)
– महानगरीय और गैर-महानगरीय विभाजन को उजागर करते हुए, इस अध्ययन में खुलासा हुआ कि वेलनेस संबंधित ढांचा गैर-महानगरों में अपेक्षतया अधिक आसानीपूर्वक उपलब्ध है
– इसके विपरीत, महानगरों में, जिम के उपकरणों की गुणवत्ता को पर्याप्त नहीं माना जाता है
– आवासीय क्षेत्रों से ढांचे की निकटता (फिटनेस सेंटर, जिम या जॉगर्स पार्क) उनका उपयोग करने के लिए लोगों का प्रमुख प्रेरक तत्व है और इससे उनके स्वास्थ्य एवं वेलनेस का नियमित क्रियान्वयन सुनिश्चित होता है।
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के विषय में 
वित्त वर्ष 2017 में सकल डाइरेक्ट प्रीमियम आय के आधार पर, हम भारत के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के गैर-जीवन बीमाकर्ता थे। इस पोजिशन को हमने वित्त वर्ष 2004 से बनाये रखा है, जब हम निजी क्षेत्र की ऐसी चंद कंपनियों में शामिल थे जिसने वित्त वर्ष 2002 में इस क्षेत्र में परिचालन शुरू किया। हम अपने ग्राहकों को व्यापक एवं विविधीकृत रेंज के उत्पाद उपलब्ध कराते हैं, जैसे-मोटर, स्वास्थ्य, फसल, आग, व्यक्तिगत दुर्घटना, मरीन, इंजीनियरिंग एवं देनदारी बीमा, जिन्हें विभिन्न वितरण चैनलों के जरिए उपलब्ध कराया जाता है।
Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar