National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

IIT कानपुर को मिला एशियन यूनिवर्सिटी रैंकिंग में 59वां स्थान

कानपुर। नामी क्वाकरैली साइमंड्स (क्यूएस) एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग जारी कर दी गई है। इसमें देश के आईआईटी व इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आइआइएससी) समेत अन्य बड़े विश्वविद्यालयों व संस्थानों की रैंकिंग में कुछ ही संस्थान ऐसे हैं जिनकी रैंकिंग में सुधार हुआ है। ज्यादातर संस्थानों की रैंकिंग में गिरावट आई है। एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग में आईआईटी बांबे का स्थान 34वां है।
क्यूएस एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2018 में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर 59वें स्थान पर है। पिछले साल की तुलना में इस साल संस्थान की रैंकिंग में 11 अंकों की गिरावट आई है। 2017 में आईआईटी कानपुर 48वें स्थान पर था।
यह पिछले साल की तुलना में एक पायदान ऊपर है। यही एकमात्र ऐसा भारतीय संस्थान है जो रैंकिंग में शामिल शीर्ष 100 संस्थानों में अपना प्रदर्शन सुधारने में सफल रहा है। क्यूएस रैंकिंग में आईआईटी दिल्ली को 41वां, आईआईटी मद्रास 48वां व आइआइएससी बेंगलुरु को 51वां स्थान मिला है।

विश्व रैंकिंग में 302वें स्थान पर है आईआईटी
एशियन रैंकिंग में 100 के अंदर जगह बनाने वाला आईआईटी कानपुर क्यू एस वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में 302 वें स्थान पर है। पहले की अपेक्षा इस रैंकिंग में 31वें अंक की आई है।

ये हैं दुनिया के तीन शीर्ष विश्वविद्यालय व संस्थान

  1. नयांग प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, सिंगापुर।
  2. नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर।
  3. द हांगकांग यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलाजी।

क्या है क्यूएस रैंकिंग
विश्वविद्यालय व संस्थानों की रैंकिंग का वार्षिक प्रकाशन ‘क्यूएस रैंकिंग’ के अंतर्गत किया जाता है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशेषज्ञों का समूह मानकों का परीक्षण करके कालेज व विश्वविद्यालयों की रैंकिंग जारी करता है। यह रैंकिंग एक्सपर्ट ग्रुप से स्वीकृति प्राप्त है।

छात्रों की पहली पसंद आईआईटी बांबे
इस साल जेईई एडवांस में सफल टॉप-100 छात्रों ने आईआईटी कानपुर को वरीयता नहीं दी है। देश भर की 23 आईआईटी में प्रवेश लेने की ख्वाहिश रखने वाले छात्रों की पहली पसंद इस बार भी कंप्यूटर साइंस रही है। आईआईटी बांबे में इस ब्रांच की रैंकिंग पहले पर खुली और 60 पर बंद हो गई। यह संस्थान लगातार अपनी रैंकिंग में सुधार लाता जा रहा है।

पढ़ाई का स्तर ऊंचा
एकेडमिक अफेयर्स प्रो. नीरज मिश्र का कहना है कि आईआईटी में पठन पाठन से लेकर शोध कार्य का स्तर बहुत ऊंचा है। छात्रों को अपनी मनपसंद ब्रांच में नियमानुसार कोर्स के बीच में प्रवेश लेने का सरल नियम केवल यहां पर है। देश की शीर्ष योजना इंपेक्टिंग रिसर्च इनोवेशन एंड टेक्नोलॉजी (इमप्रिंट) का नेतृत्व आईआईटी कानपुर को सौंपा गया है। रैंकिंग और बेहतर किए जाने के प्रयास जारी हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar