National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

INDvAUS: दूसरा वनडे आज, जानें क्या है दोनों टीमों की मजबूती और कमजोरी

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी पांच मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे गुरुवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर खेला जाना है। भारतीय टीम सीरीज में 1-0 से आगे है। ऑस्ट्रेलियाई टीम को भारत के कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की नई स्पिन जोड़ी को खेलने में काफी मुश्किल हुई और मेजबान भी ये सुनिश्चित करना चाहेंगे कि सीरीज के आगे बढ़ने के दौरान भी इसमें कोई ढिलाई नहीं आए।
कुलदीप की गेंद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए रहस्यमयी साबित हो रही है और उन्हें चहल की स्लाइडर को भी समझने में परेशानी हो रही है। मेहमान खिलाड़ी स्थानीय स्पिनरों की मदद लेते हुए भी दिखाई दिए ताकि भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना कर सकें। केरल के केके जियास ने चेन्नई वनडे से पहले और यहां स्थानीय क्लब के दो गेंदबाजों आशुतोष शिवराम और रूपक गुहा ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को स्पिनरों से निपटने का कुछ अभ्यास कराया। बारिश से प्रभावित पहले वनडे में 21 ओवरों में 164 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 35 रन में चार विकेट गंवा दिए थे, इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल ने शानदार शॉट लगाकर उम्मीद तो जगाई। लेकिन चहल और कुलदीप ने शानदार प्रदर्शन करते हुए डकवर्थ लुईस पद्धति से भारत को 26 रन से जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ा खतरा हार्दिक पांड्या के रूप में हैं, जिन्होंने भारत को छह विकेट पर 76 रन के स्कोर से सात विकेट पर 281 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। पांड्या ने एक बार फिर छक्कों की हैट्रिक (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार बार) लगाते हुए महेंद्र सिंह धौनी (88 गेंद में 79 रन) के साथ 118 रन की मैच बदलने वाली साझेदारी के दौरान 66 गेंद में 83 रन की पारी खेली।
आईपीएल 2015 के बाद से पांड्या का ग्राफ शानदार रहा है। वो बेपरवाह हिटर से अब खिलाड़ी के तौर पर परिपक्व बनते जा रहे हैं। इसके साथ ही वो भारत के लिए मध्यम गति की गेंदबाजी करने वाले उपयोगी ऑल-राउंडर के रूप में भी सामने आ रहे हैं जिसे भारत लंबे समय से खोज रहा था। चेन्नई में उनकी पारी ने भारत की ही मदद नहीं की बल्कि इससे ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर एडम जाम्पा के मनोबल पर भी काफी खराब असर पड़ा। ये भी देखना होगा कि ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर भारत के मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप को कैसे चुनौती देते हैं। उनके पास ग्लेन मैक्सवेल, ट्रेविस और एशटन के रूप में कामचलाऊ स्पिनर भी हैं।
जाम्पा ने कहा, ‘हमारे आक्रमण में काफी वैरिएशन है लेकिन बस ये रणनीति लागू करने की बात है। ऑस्ट्रेलिया में आप अपनी लेंथ में थोड़ा फेरबदल कर सकते हो और आप शायद मैदान के आकार से बच भी जाते हों। लेकिन लेंथ काफी अहम है।’ कप्तान स्टीव स्मिथ के लिए भी ये काफी चुनौतीपूर्ण समय है जिन्हें बेहतरीन तरीके से नेतृत्व करने की जरूरत है। डेविड वॉर्नर को भी आक्रामक खेलकर अच्छी नींव रखनी होगी।
चेन्नई में शीर्ष क्रम में हिल्टन कार्टराइट के प्रदर्शन को देखते हुए ट्रेविस हेड को सलामी बल्लेबाज का स्थान देना गलत फैसला नहीं होगा। हेड ने बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ अभ्यास मैच में 103 रन की जीत के दौरान 65 रन की पारी खेली।

भारतः विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, केएल राहुल, रविंद्र जडेजा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी।

ऑस्ट्रेलियाः स्टीव स्मिथ (कप्तान), डेविड वॉर्नर, हिल्टन कार्टराइट, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), नाथन कूल्टर नाइल, पैट कमिंस, जेम्स फॉकनर, पीटर हैंडसकोंब, ट्रेविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, एडम जाम्पा, केन रिचर्ड्सन, मार्कस स्टोयनिस और आरोन फिंच।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar