न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

अंतरराष्ट्रीय काव्य मंच ने बनाया तीसरा अनूठा कीर्तिमान

डॉ शम्भू पंवार/विजय न्यूज़ नेटवर्क।
नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच” तंजानिया ने पूर्व में आयोजित दो कार्यक्रमों “पहली महिला” और “भारती के लाल” को “गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स” में दर्ज करा कर विश्व कीर्तिमान बनाया था।अब तीसरा वर्ल्ड रिकार्ड बनाने जा रही है।इस कड़ी में ऑनलाइन “अखण्ड काव्यायन” का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री संतोष जी आर,निदेशक, स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र तंजानिया थे।कार्यक्रम में विश्व के १६ से अधिक देशों के लगभग १५० प्रतिभागी कवियों और कवयित्रियों ने अपनी स्वरचित कविताओं का उत्कृष्ट काव्य पाठ किया।
मंच के इस अनूठे और अप्रितम आयोजन में 24 घण्टे से अधिक चले काव्य अनुष्ठान में भारत के नामचीन कवि सोम ठाकुर,हास्य कवि सुरेंद्र शर्मा,अशोक चक्रधर,कवयित्री डॉ कीर्ति काले,कवि पंडित सुरेश नीरव, कवयित्री सरिता शर्मा, नमिता राकेश,डॉ रमा सिंह,कवि मंगल नसीम,डॉ सीता सागर, डॉ रामसनेही लाल, कवि आचार्य भागवत दुबे जैसे हिंदी काव्य जगत के पुरोधाओं की विशेष उपस्थिति रही।भारत सहित तंजानिया,केन्या,कतर,अमेरिका, बहरीन,इंडोनेशिया,इंग्लैंड,कनाडा,सिंगापुर,यूएई,नाइजेरिया,रूस,मॉरीशस,कुवैत आदि देशों के रचनाकारों ने प्रतिभागिता की।
उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता अंतरराष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच की संस्थापिका एवं कार्यक्रम की संयोजिका कवयित्री डॉ ममता सैनी (तंजानिया) ने की और मंच के मार्गदर्शक एवं मुख्य सलाहकार कवि सीए. अजय गोयल ने कार्यक्रम की रूपरेखा, अतिथियों और संचालकों का परिचय कराया
इस काव्य कार्यक्रम का कुशल एवं प्रभावी संचालन कवयित्री डॉ ममता सैनी सहित सारिका फ़लोर (केन्या), ललिता माथुर चौहान,
कवि जीतू जलेसरी, कवि सीए. अजय गोयल (तंजानिया),मनीषा कंठालिया (केन्या), कवयित्री डॉ मीनू पाराशर (क़तर), डॉ श्वेता सिंह ‘उमा’ (रूस), विनीता श्रीवास्तव (भारत), प्राची चतुर्वेदी (यूएसए) और मनीषा शर्मा (यूएसए) ने किया।
इस अप्रतिम आयोजन की संयोजिका डॉ ममता सैनी ने उनके पति सीए. राकेश सैनी जी (तंजानिया) के सहयोग एवम् उत्साह वर्धन का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि शीघ्र ही इन सभी रचनाओं का संग्रह प्रकाशित किया जाएग कार्यक्रम के समापन के समय कवि सीए. अजय गोयल ने सभी अतिथियों, संचालकों एवं प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar