न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

IT ने AAP को भेजा 30 करोड़ का नोटिस

नई दिल्ली। एक दिन पहले गठन के पांच साल पूरा होने पर जश्न मनाने वाली आम आदमी पार्टी (आप) अब नई मुसीबत में फंसती दिखाई दे रही है। पार्टी के चंदे में अनियमितता को लेकर ‘आप’ को आयकर विभाग ने 30.67 करोड़ रुपए बकाये का नोटिस भेजा है। सोमवार को आम आदमी पार्टी ने आयकर विभाग ने नोटिस जारी करके पूछा है कि क्यों ने उससे ये रकम वसूली जाए। इस बाबत आयकर विभाग ने आप से 7 दिसंबर तक जवाब मांगा है। आयकर विभाग के नोटिस में आप पर चंदा नियमों के अनुकूल ना होने का आरोप लगाया है।

यह है पूरा मामला –
आयकर विभाग ने पार्टी पर आकलन वर्ष 2014-15 के लिए मिले चंदे पर सही और वास्तविक योगदान रिपोर्ट नहीं देने का आरोप लगाया है। साल भर की जांच के बाद इस अवधि में 30.08 करोड़ रुपए का चंदा मिलने का पता लगा है।
नोटिस में कहा गया है कि इन आरोपों के मद्देनजर विभाग आयकर कानूनों के अंतर्गत धारा 277 ए (सत्यापन में फर्जी तथ्य) और 276 सी (जानबूझकर कर देने से बचने) के तहत अदालत में अभियोजन शिकायत (आरोपपत्र) दाखिल करना चाहता है।

आप की ओर से दिया गया यह जवाब –

वहीं, आयकर विभाग के इस नोटिस पर आप नेताओं का कहना है कि हमारा चंदा पवित्र है और ये शत्रुतापूर्ण कार्रवाई है। आप नेताओं के मुताबिक, आयकर का ये नोटिस बोगस और आधारहीन है। पार्टी का तर्क है कि हमें मिला चंदा पूरी तरह पारदर्शी।
इससे पहले आयकर विभाग ने इस साल मई महीने भी आप को नोटिस भेजकर पूछा था कि बही खाते में कथित जालसाजी और उसको मिले चंदे पर जानबूझकर कर चुकाने से बचने की कोशिश के लिए उस पर क्यों नहीं मुकदमा चलाना चाहिए।
आयकर विभाग ने पार्टी के संयोजक, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और तीन अन्य को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।
यहां पर याद दिला दें कि रविवार (26 नवंबर) को आम आदमी पार्टी ने गठन के पांच साल पूरे किए हैं। इस अवसर पर पार्टी ने रामलीला मैदान में इसका जश्न भी मनाया था। एक दिन बाद ही आयकर विभाग के नोटिस से पार्टी को बड़ा झटका लगा है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar