न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

कविता : गीत प्यार के गाते

गीत प्यार के गाते

रिश्ते सभी दिलों से बनाते चलें हम
आओ गीत प्यार के गाते चलें हम

स्नेह का सबके दिलों में स्थान हो
बोल मीठे सबके हों , मीठी जुबान हो
मीठी वाणी का असर दिखाते चलें हम
आओ गीत प्यार के गाते चलें हम

खुद से हम इंसानियत को आओ जोड़ दें
भावनाएं स्वार्थ की हम मिलके छोड़ दें
इंसानियत दुनिया को भी दिखाते चलें हम
आओ गीत प्यार के गाते चलें हम

बच्चों को सद्भाव को हम ज्ञान सदा दें
अपने बड़े बुजुर्गों को हम मान सदा दें
हाथ असहायों से मिलाते चलें हम
आओ गीत प्यार के गाते चलें हम

मार्ग कुप्रथाओं का अवरोध करें हम
दहेज और शराब का विरोध करें हम
अभियान एक ऐसा भी चलाते चलें हम
आओ गीत प्यार के गाते चलें हम

विक्रम कुमार
मनोरा, वैशाली

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar