न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

फिर एक बार बाबाओं के चक्कर में हैं लालू : सुशील मोदी

पटना। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से रविवार को के आवास पर मिलने पहुंचे श्रद्धानंद महाराज द्वारा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के प्रधानमंत्री बनने की भविष्यवाणी करने के बाद सूबे में सियासत शुरू हो गई है. सभी बाबा द्वारा की गई भविष्यवाणी को लेकर लालू परिवार पर निशाना साध रहे हैं. इसी क्रम में राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने ट्वीट कर आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव पर निशाना साधा है.

जनता की अदालत पर नहीं है भरोसा
राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद को न जनता की अदालत पर भरोसा है, न न्यायपालिका पर इसलिए हमेशा तांत्रिकों-बाबाओं के सम्पर्क में रहते हैं. चारा घोटाला में सजायाफ्ता राजद प्रमुख ने आधी सजा भी जेल में नहीं काटी, इसलिए कोर्ट ने जमानत की अर्जी खारिज कर दी. उनकी पार्टी के अनुभवहीन वंशवादी उत्तराधिकारियों को जनता ने लगातार दो चुनावों में नकार दिया. वे तांत्रिक से पूछ कर कुर्ते का रंग तय करते हैं, लेकिन यह नहीं पूछते कि किसी गरीब को कुली-चपरासी की नौकरी देने के बदले उसकी जमीन लिखानी चाहिए या नहीं?

सबके सामने है लालू के दोहरा चरित्र
उन्होंने कहा कि 2019 के संसदीय चुनाव में राजद का खाता नहीं खुला और 2020 के विधानसभा चुनाव में पार्टी छह सीटें गँवा कर 75 सीट पर आ गई. किसी भी हथकंडे से सत्ता पाने की बेचैनी ने उन्हें जनादेश स्वीकार नहीं करने दिया. वे कभी विधायक तोड़ने तो कभी किसी दल को झूठे आफर देने का पासा फेंकने लगे. अब लालू-राबड़ी एक तरफ नास्तिक वामपंथियों के “सेक्युलर-प्रगतिशील” दोस्त हैं, तो दूसरी तरफ बाबाओं के चरणपूजक अंधभक्त. लालू प्रसाद का दोहरा चरित्र सबके सामने है.

बाबा ने राबड़ी देवी से कही थी ये बात
दरअसल, रविवार को राबड़ी देवी से मिलने के बाद स्वामी श्री श्रद्धानंद महाराज ने कहा था कि आपका बेटा तेजस्वी एक दिन देश का प्रधानमंत्री बनेगा. भले ही अभी कुछ विघ्न-बाधा आई हो लेकिन कुछ समय के बाद सारा संकट दूर होगा और आपका बेटा देश का नेतृत्व करेगा.

पहले भी कर चुके हैं भविष्यवाणी
उन्होंने कहा था कि काफी समय पहले उनके गुरू महाराज ने अखिलेश यादव के बारे में कहा था कि वो एक दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे. ऐसा ही हुआ और अखिलेश आगे चलकर यूपी का सीएम बने.

बताया जाता है कि लालू यादव इस बाबा से मिलने हमेशा उनके आश्रम जाते थे. इस बाबा का आश्रम यूपी के वाराणसी के पास है. वहीं, बिहार के बख्तियारपुर में भी बाबा ने अपना आश्रम बनाया है.

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar