National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Mobikwik के वॉलेट से 6 हजार अकाउंट्स में 19 Cr ट्रांसफर, धोखाधड़ी की FIR दर्ज

गुड़गांव पुलिस के स्पोक्सपर्सन ने कहा है कि हम कंपनी की खामियों की भी जांच कर रहे हैं।

गुड़गांव. ई-कॉमर्स कंपनी mobikwik के साथ 19 करोड़ रुपए से ज्यादा की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। कंपनी ने गुड़गांव में शिकायत दर्ज कराई है। जिसमें बताया है कि मोबिक्विक के ई-वॉलेट से हरियाणा, पंजाब, पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों के 6 हजार बैंक अकाउंट्स में संदिग्ध तौर पर पैसे ट्रांसफर हुए। शक है कि इसे किसी हैकर ने अंजाम दिया। गुड़गांव पुलिस की साइबर सेल धोखाधड़ी की जांच कर रही है। पुलिस 100 से ज्यादा अकाउंट्स सीज कर चुकी है। कुरुक्षेत्र के अकाउंट में 2 करोड़ क्रेडिट हुए…
– गुड़गांव पुलिस के स्पोक्सपर्सन मनीष सहगल ने बताया कि मोबिक्विक की शिकायत पर गुड़गांव पुलिस ने साइबर क्राइम की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है। शुक्रवार को साइबर सेल ने इस मामले की जांच शुरू की।
– पता लगा रहे हैं कि ये ऑनलाइन फ्रॉड है या फिर कंपनी के सिस्टम की कमजोरी। पुलिस ने अब तक 100 से ज्यादा अकाउंट्स को सीज किया है। जांच में ये भी सामने आया है कि कंपनी के वॉलेट से अलग-अलग राज्यों के 6 हजार बैंक खातों में फंड ट्रांसफर हुआ। कुरुक्षेत्र के एक अकाउंट में 2 करोड़ रुपए क्रेडिट हुए।

मोबिक्विक ने अपनी शिकायत में हैकिंग का शक जताया है।

मोबिक्विक ने कहा- ये यूजर्स का नहीं, कंपनी का नुकसान
– कंपनी की ओर से 26 सितंबर को शिकायत में बताया है कि मोबिक्विक के डिजिटल वॉलेट से 19.60 करोड़ रुपए संदिग्ध तौर पर अलग-अलग बैंक अकाउंट्स में ट्रांसफर किए गए हैं। आशंका है कि किसी हैकर ने इस वारदात को अंजाम दिया।
– हालांकि, कंपनी ने कहा है कि उसके यूजर्स का पैसा और तमाम डाटा सेफ है। जो भी नुकसान हुआ है, वह कंपनी को हुआ।

क्या है मोबिक्विक?
– ये कंपनी मोबाइल के जरिए कैश ट्रांजैक्शन करती है। इसे 2009 में बिपिन प्रीत सिंह ने शुरू किया था। हालांकि, बाद में आरबीआई ने कंपनी की सर्विस पर रोक लगा दी थी।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar