National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

मिथुन (Gemini) का मासिक राशिफल : मई 2020

मिथुन का मासिक राशिफल / Mithun Masik Rashifal in Hindi

सामान्य
मिथुन राशि के जातक होने के कारण मई के महीने के दौरान आपको मिले-जुले परिणामों की प्राप्ति होने वाली है। इस महीने कुछ नई चुनौतियाँ आपके सामने आएँगी, जिनका सामना करने के लिए आपको तैयार रहना चाहिए और यदि आप अच्छे से उनका सामना कर पाए तो, धीरे-धीरे स्थितियां काफी अनुकूल हो जाएंगी और आपको आशानुरूप परिणाम प्राप्त होंगे। आमदनी में और कैरियर में उतार-चढ़ाव की स्थिति रह सकती है, हालांकि पारिवारिक जीवन काफी अच्छा व्यतीत हो सकता है। आपके दांपत्य जीवन में कुछ तनाव का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन कुछ लोगों का विदेश जाने का सपना इस महीने पूरा हो सकता है। यात्राओं की संभावना महीने के दौरान बन सकती है, हालांकि यात्राएं थकान से भरी होंगी और कुछ परेशानीजनक रहेंगी, इसलिए संभव हो तो इस माह किसी भी यात्रा पर न जाएं। भाई बहनों के मामले में आप लकी साबित होंगे और उनसे अच्छे संबंध बनेंगे। इस महीने किसी रसूख वाले व्यक्ति से संपर्क जुड़ सकता है, जो भविष्य में आपके काफी काम आएगा।

कार्यक्षेत्र
करियर को लेकर किए गए प्रयासों में मिली जुली सफलता मिल सकती है, क्योंकि दशम भाव का स्वामी बृहस्पति अपनी नीच राशि में अष्टम भाव में बैठा हुआ है। हालांकि नीच भंग होने के कारण अच्छे परिणाम भी मिलते रहेंगे, लेकिन फिर भी यदि आपको ऐसा महसूस होता है कि आप जिस काबिल हैं, उसके लायक अभी काम आपको नहीं मिला है तो, ऐसी स्थिति से निजात पाने के लिए अभी आपको और प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है। यदि आप कोई व्यापार करते हैं तो, थोड़ा सोच समझ कर चलना होगा, क्योंकि किसी प्रकार का व्यवधान आ सकता है, जो आपके बिज़नेस को नुकसान पहुंचा सकता है। विशेष रूप से आपका बिज़नेस पार्टनर संदेह के घेरे में हो सकता है या वह कुछ ऐसी एक्टिविटी कर सकता है, जो आपको उचित ना लगे। ऐसे में मिल बैठकर बातचीत से मामले सुलझाने का प्रयास करें। महीने का पूर्वार्ध काफी अच्छा रहेगा। सूर्य की एकादश भाव में उच्च राशि में उपस्थिति आपको सरकारी क्षेत्र से अच्छा लाभ दिलवा और यदि आप किसी सरकारी नौकरी में हैं या फिर सरकारी क्षेत्र से संबंधित काम करते हैं तो, आपको जबरदस्त लाभ होगा। सरकारी नौकरी वालों को प्रमोशन मिलने की पूरी संभावना रहेगी। अपने व्यापार में एक बात पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी कि यदि आपने कोई टैक्स चोरी की है तो, इस दौरान वह पकड़ में आ सकती है और उसके लिए आपको दंडित भी किया जा सकता है। इसलिए सोच समझकर आगे बढ़ें और मेहनत करना जारी रखें, ताकि अपने करियर को किसी अच्छे मुकाम तक ले जाने की दिशा में प्रयासरत हों।

आर्थिक
आर्थिक नज़रिए से देखने पर पता चलता है कि इस महीने आपको अचानक से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं, अर्थात कुछ अप्रत्याशित धन आपको प्राप्त हो सकता है, चाहे वह किसी विरासत के रूप में हो या पैतृक संपत्ति के रूप में। हालांकि शुक्र की स्थिति द्वादश भाव में होने से आपके खर्चे भी बढ़े चढ़े रहेंगे, लेकिन इसके बावजूद भी आपकी आमदनी काफी बेहतर रहेगी, जो आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाए रखेगी। मंगल जब तक आपके अष्टम भाव में रहेगा, गुप्त रूप से धन कमाने का कोई ना कोई साधन आपको देता रहेगा और जैसे ही मंगल का गोचर आपके नवम भाव में होगा, आपकी आमदनी का कोई नया जरिया आपको मिल सकता है, जिससे आपकी आर्थिक चुनौतियाँ समाप्त हो सकती हैं। इस प्रकार देखें तो यह महीना काफी बेहतर तरीके से परिणाम देने वाला साबित होगा। 9 मई से 25 मई के दौरान आपके खर्चे अधिक रहेंगे, लेकिन उससे पहले और 25 मई के बाद की स्थिति काफी बेहतर रहेगी और खर्चों में कटौती होगी, जिससे आप काफी हद तक अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने में सफल होंगे। इस प्रकार मई का यह महीना आपको कई चुनौतियों के बावजूद अच्छी आर्थिक आमदनी देकर जाएगा।

स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मई का महीना आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं कहा जा सकता, क्योंकि जहां आपके सप्तम भाव में केतु विराजमान है, वहीं अष्टम भाव में शनि, बृहस्पति और मंगल की युति स्वास्थ्य को लेकर परेशानियां खड़ी कर सकती है। ऐसे में किसी बड़ी बीमारी की शुरुआत या वृद्धि भी हो सकती है, जिसके प्रति आपको काफी हद तक सजग और जागरूक रहना चाहिए। हालांकि जब मंगल का गोचर 4 मई को आपके अष्टम भाव से नवम भाव में होगा, तब तक आपको इन समस्याओं से काफी हद तक मुक्ति मिल सकती है, लेकिन शनि का गोचर आपके अष्टम भाव में रहेगा और आपको कंटक शनि की ढैय्या का प्रभाव देता रहेगा, जिसकी वजह से किसी बड़ी बीमारी की आशंका बनी रहेगी। इसलिए हर छोटी से छोटी स्वास्थ्य समस्या पर ध्यान देना बंद ना करें। क्योंकि जो आज एक छोटी समस्या है वह कल किसी बड़ी एवं गंभीर समस्या का रूप ले सकती है। ऐसा करके आप अपने स्वास्थ्य को अनुकूल बना सकते हैं और बीमारियों से बच कर एक अच्छा और तंदुरूस्ती से भरा जीवन व्यतीत कर सकते हैं। आपको विशेष रूप से ध्यान अथवा मेडिटेशन करना चाहिए।

प्रेम व वैवाहिक
प्रेमी युगल के लिए मई का महीना कुछ खट्टे मीठे अनुभव लेकर आएगा। पंचम भाव पर पड़ रही सूर्य की दृष्टि जहां आप के रिश्ते में कुछ तल्ख़ियां बढ़ा सकती है, वहीं दूसरी ओर बुध की दृष्टि आपके बीच के संवाद और कम्युनिकेशन को बेहतर बनाएगी, जिससे आपकी भावना एक दूसरे के प्रति प्रकट होगी और रिश्ता मजबूत बनेगा। बारहवें भाव में उपस्थित स्वराशि का शुक्र आपको अंतरंग संबंधों में मजबूती प्रदान करेगा और आपका प्रियतम भी आप के प्रति आकर्षण और लगाव महसूस करेगा, जिससे आपका प्रेम जीवन काफी बेहतर तरीके से चलेगा। हालांकि बृहस्पति, शनि और मंगल की अष्टम भाव में स्थिति आपके प्रियतम के परिवार में कुछ परेशानियों को जन्म दे सकती है, जिसकी वजह से उनकी मानसिक स्थिति कुछ कमजोर हो सकती है और उसका असर आपके प्रेम जीवन पर भी पड़ेगा, लेकिन वास्तव में प्यार एक ऐसी भावना है, जिसमें आपको अपने साथी पर पूरा ध्यान देना चाहिए और जब कि वह ऐसे समय से गुज़र रहे हों, जहां वह मानसिक रूप से कमजोर महसूस कर रहे हैं, तो आपको उनकी हरसंभव सहायता करनी चाहिए तथा उनसे बातें करके उनकी समस्याओं को दूर करने का प्रयास करना चाहिए। इससे आपकी समझ भी विकसित होगी और आपका प्रेम जीवन काफी मजबूत तरीके से आगे बढ़ेगा।
अब बात करते हैं शादीशुदा जातकों की। सप्तम भाव में उपस्थित केतु जहां अलगाव की भावनाओं को जन्म दिये बैठा है, वहीं अष्टम भाव में तीन तीन ग्रहों की युति यह दिखाती है कि आपका अपने ससुराल पक्ष के लोगों से किसी बात को लेकर झगड़ा हो सकता है और यह झगड़ा समस्याप्रद हो सकता है। इसलिए आपको बहुत ही नरमी के साथ बातचीत करनी चाहिए और अगर कोई समस्या है तो उसे सुलझाने का पूरी तरह से शांति पूर्वक प्रयास करना चाहिए। मंगल का गोचर जब 4 मई को कुंभ राशि में हो जाएगा, तो इस स्थिति से काफी हद तक आपको छुटकारा मिलेगा और धीरे-धीरे ससुराल पक्ष से आपकी स्थितियाँ मजबूत होने लगेंगी और जो समस्याएं चली आ रही हैं, उनका अंत होगा। इस प्रकार दांपत्य जीवन में कुछ तनाव ज़रुर रहेगा। हालांकि आपके बीच अंतरंग संबंधों की वृद्धि रहेगी, जिससे प्रेम की भावनाओं का पूरा ह्रास नहीं होगा और दांपत्य जीवन प्रेम पूर्वक चलता रहेगा।

पारिवारिक
पारिवारिक जीवन के नज़रिए से देखने पर पता चलता है कि मई का महीना काफी हद तक अच्छा रहेगा। हालांकि जैसे ही मंगल का गोचर आपके नवम भाव में होगा, वहां बैठ कर मंगल अपनी अष्टम दृष्टि से चतुर्थ भाव को देखेगा, जिसकी वजह से परिवार में कुछ अशांति भी देखने को मिल सकती है और विशेष रूप से आपकी माता एवं पिताजी का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। दूसरे भाव पर पड़ रही 3 ग्रहों की दृष्टि के कारण कुटुंब का वातावरण भी मिश्रित परिणाम लेकर आएगा और आपसी खींचातानी बढ़ सकती है, जिसकी वजह से मानसिक तनाव में वृद्धि होगी और पारिवारिक लोग एक दूसरे के प्रति कुछ गर्म मिज़ाज रख सकते हैं। हालांकि मंगल के गोचर के बाद इस स्थिति में थोड़ा सुधार अवश्य आएगा, लेकिन फिर भी समस्याएं बनी रह सकती हैं। छोटे भाई-बहनों से आपको अच्छा खासा सहयोग और समर्थन मिलेगा और वे आपके आर्थिक स्तर को ऊंचा ले जाने में आपकी मदद करेंगे। प्रथम सप्ताह के बाद बड़े भाई बहनों का सहयोग भी आपको मिलने लगेगा और आपके कार्यों में सफलता मिलने में उनकी अहम भूमिका देखी जा सकेगी। इस प्रकार मई का महीना उतार-चढ़ाव के साथ आगे बढ़ेगा।

उपाय
इस महीने आपको विशेष रूप से बुधवार के दिन बुध मंत्र का जाप करना चाहिए। इसके अतिरिक्त आपको प्रतिदिन भगवान श्री नारायण को समर्पित श्री विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar